Home Featured फोन पर हुए प्यार केलिए पति को छोड़ा, प्रेमी ने रुपये ऐंठ कर मारपीट कर भगाया।
August 3, 2019

फोन पर हुए प्यार केलिए पति को छोड़ा, प्रेमी ने रुपये ऐंठ कर मारपीट कर भगाया।

दरभंगा: प्यार अंधा होता है और आजकल सोशल मीडिया के जमाने मे यह अंधापन बहरेपन में भी शायद बदल गया है। आभासी दुनिया मे बने क्षणिक सम्बन्ध के कारण लोग अपने जन्मों के सम्बंध को भी तार तार कर देते हैं। परिणाम में पछतावा के सिवाय कुछ नही मिलता, फिर भी लोग नही संभलते हैं।
इसी तरह कुछ ताजा मामला सामने आया है जिले के कमतौल थानाक्षेत्र का। एक पुत्र की मां व मोतिहारी जिले के एक गांव की निवासी व वर्तमान में टेकटार रेल स्टेशन सहित अन्य स्थानों पर आश्रय लिए हुए एक महिला ने क्षेत्र के कनौर गांव निवासी मो. इम्तियाज सहित आठ नामजदों के विरुद्ध प्यार में धोखा देकर सबकुछ लूट लेने व मारपीट कर अधमरा कर दिये जाने की एक प्राथमिकी शुक्रवार को कमतौल थाने में दर्ज करायी है।
आरोप लगाया है कि मो. इम्तियाज वर्ष 2016 की जनवरी माह में अचानक फोन कॉल कर प्यार भरी बातें करने लगा। शादी-शुदा व एक बच्चे की मां होने का हवाला देने के बाद भी उसने मुझपर अपना सर्वस्व कुर्बान करने का हवाला देते हुये इस कदर फोन पर मिजाज को भ्रमित कर दिया कि पहले से अपने पति से त्रस्त उसकी सहानुभूति भरी बातों से मैं उसके झांसे में आ गयी। फिर नए सिरे से घर बसाने के लिये पूर्व पति से तलाक लेकर दो लाख रुपये बतौर मैहर पूर्व पति से प्राप्त कर ली। उसके बाद इम्तियाज से निकाह कर लेने का प्रस्ताव भेजा। तब उसने घर बनाने के बाद निकाह कर लेने का वास्ता देकर दो बार बार मुझे अपने गांव कनौर बुलाया। इसी दौरान इम्तियाज ने घर बनाने के लिये वर्ष 2018 ई. में मैहर से प्राप्त दो लाख रुपये भी झटक लिये। साथ ही दोनों बार पति-पत्नी का वास्ता देकर उससे शारीरिक संबंध भी स्थापित किया। सब कुछ नियति का संयोग समझ सहती रही और उसपर निकाह कर लेने के लिये दबाब बनाया। तब उसने शीघ्र घर तैयार हो जाने के बाद निकाह कर लिए जाने का वास्ता देकर वापस उसे गांव भेज दिया।
जून 2019 में फोन पर उसे सूचना मिली कि इम्तियाज का निकाह अन्यत्र होने की तैयारी चल रही है। तब बीते 27 जून को भागी-भागी वह कनौर गांव पहुंची। सूचना सत्य पाये जाने पर उसका विरोध किया। इसपर सभी नामजदों ने उसके साथ बेरहमी से मारपीट कर कान से सोने का फूल, मोबाइल फोन, पर्स सहित नकद पचास हजार रुपये भी लूट लिये। फिर घसीट कर बिजली के खंबे से बांधकर फरार हो गये। ग्रामीणों ने बिजली के खंभे से उसे बंधन मुक्त कर वहां से भगाया। तब भागी भागी वह टेकटार स्टेशन पहुंची जहां लोगों ने उसका उपचार करा आश्रय दिया है। कमतौल पुलिस ने मामलेे की तहकीकात शुरू कर दी है।

Share

1 Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

तालाबों के अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध शुरू हुआ अभियान, हराही पोखर को कराया गया अतिक्रमणमुक्त।

दरभंगा: जिलाधिकारी डाॅ0 त्यागराजन एसएम के निर्देश पर नगर आयुक्त घनश्याम मीणा एवं नगर पुलिस…