Home Featured तेरह दिनों से लापता किशोरी की तालाब में तैरती मिली लाश, पुलिस पर फूटा लोगों का आक्रोश।
December 28, 2019

तेरह दिनों से लापता किशोरी की तालाब में तैरती मिली लाश, पुलिस पर फूटा लोगों का आक्रोश।

दरभंगा: जिले के केवटी थाना क्षेत्र के एक गांव में 13 वर्षीय एक किशोरी को अगवा करने के बाद उसकी हत्या कर दी गयी। गांव के पोखर में शनिवार को उसका लाश उपलाती हुई मिली। लाश एक सप्ताह पुरानी बतायी जा रही है। ग्रामीणों की चर्चा के अनुसार हत्या से पहले किशोरी के साथ दुष्कर्म की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता। किशोरी सातवीं कक्षा की छात्रा थी। मामले में उसकी मां ने गलत नीयत से उसके अपहरण की एफआईआर दर्ज करायी थी।
बताया जाता है कि सुबह में शौच जाने के दौरान लोगों ने शव को तालाब में उपलाते देखा। उन्होंने इसकी सूचना ग्रामीणों को दी। ग्रामीणों ने इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष जितेंद्र चौधरी पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने शव को तालाब से निकालने का प्रयास शुरू किया, लेकिन ग्रामीण इसका विरोध करने लगे। वे वरीय अधिकारी को बुलाने के बाद शव को निकालने की मांग पर अड़ गये। ग्रामीण कह रहे थे कि जब तक यहां वरीय अधिकारी नहीं पहुंचेंगे तब तक पुलिसकर्मियों को कहीं जाने नहीं देंगे। लोगों का गुस्सा अपहरण के आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर था। इस दौरान लोगों ने पुलिसकर्मियों व मुखियापति के साथ बदसलूकी भी की।
घटना की सूचना मिलने पर एसएसपी बाबू राम, सदर एसडीपीओ अनोज कुमार तथा यातायात डीएसपी बिरजू पासवान समेत कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। उन्होंने आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर शव को तालाब से बाहर निकलवाया। शव के साथ एक मफलर भी मिला है, जिससे गला घोंटकर किशोरी की हत्या किये जाने की आशंका जतायी जा रही है।
बताया जाता है कि मृतका की मां ने गत 16 दिसम्बर को स्थानीय थाने में एफआईआर दर्ज करायी थी। इसमें उसने सुरजीत पासवान, दिलीप पासवान तथा बुस्टर पासवान पर अपनी पुत्री के अपहरण का आरोप लगाया था। आवेदन में उसने कहा है कि उसकी पुत्री को गलत नीयत से अगवा कर लिया गया है। आशंका जाहिर की थी कि आरोपित उसकी पुत्री की या तो हत्या कर देंगे अथवा उसे कहीं बेच देंगे। मृतका की मां ने आरोपितों पर पूर्व में भी घर में घुसकर धमकाने का आरोप लगाया है।
इसके बाद मृतका किशोरी के पिता ने इस मामले में एक और युवक को आरोपित किया था। किशोरी के पिता बाहर मजदूरी करते हैं। उन्होंने गांव आने के बाद 22 दिसंबर को स्थानीय पुलिस को एक और आवेदन दिया था। इसमें उन्होंने अपनी पुत्री के अपहरण के मामले में परसा विशनपुर के मुकेश शर्मा का भी नाम जोड़ने का आग्रह किया था। आवेदन में कहा गया है कि मुकेश ने मेरे घर पर लकड़ी का काम किया था। इस दौरान उसने मेरी बड़ी पुत्री को पैसे का लालच देकर गलत काम करने को कहा था। मना करने पर उसने धमकी दी थी कि या तो मैं तुम्हें जान से मार दूंगा या तुम्हारी छोटी बहन का अपहरण कर लूंगा।
मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए वरीय पुलिस अधीक्षक बाबूराम ने बताया है शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही घटना के कारणों का खुलासा होगा। दुष्कर्म की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है। मामले का अनुसंधान जारी है। दोषियों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। इस मामले में कुछ लोगों को केवटी थाने में बुलाकर उनसे पूछताछ की जा रही है।

Share

लॉकडाउन में अब नए रोल में दिखी पुलिस, भूखों को भोजन करवाने की उठा रही जिम्मेवारी।

जिला विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा जरूरतमंदों केलिए प्रतिदिन उपलब्ध करवाया जा रहा है भोजन।

विदेश से लौटे लोगों की हो रही ट्रैकिंग, सूचनाओं के सम्प्रेषण केलिए नियंत्रण कक्ष स्थापित।

बाहर से आने वाले लोगों के ठहरने, खाने-पीने व मेडिकल चेकअप की व्यवस्था पर डीएम खुद रख रहे हैं नजर।

लॉकडाउन में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ होगी फसल कटाई, खुलेगी कृषि यंत्रों की भी दुकान।

पांच दिनों में 655 वाहनो से वसूला गया पाँच लाख का जुर्माना, कई पर प्राथमिकी भी दर्ज।

2 Comments

Check Also

लॉकडाउन में अब नए रोल में दिखी पुलिस, भूखों को भोजन करवाने की उठा रही जिम्मेवारी।

देखिये वीडियो भी👆 दरभंगा: देश में कोरोना वायरस की वजह से 21 दिनों के लिए सबकुछ बंद…