Home Featured राजद ने प्रेसवार्ता कर की पूर्व केंद्रीय मंत्री फातमी के बयानों की निंदा।
4 weeks ago

राजद ने प्रेसवार्ता कर की पूर्व केंद्रीय मंत्री फातमी के बयानों की निंदा।

दरभंगा: लालबाग पानी टंकी मोमिन हॉल में राजद जिला अध्यक्ष राम नरेश यादव, अल्पसंख्यक जिला अध्यक्ष गुलाम हुसैन चीना, प्रदेश महासचिव बदरे आलम बदर, महानगर युवा अध्यक्ष राकेश नायक एवं जिला प्रवक्ता अमित कुमार साहनी ने संयुक्त प्रेस वार्ता कर कहा कि जदयू नेता मो० अली अशरफ फातमी एव उनके पुत्र फराज फातमी के द्वारा अपने आवास पर आयोजित कार्यकर्ताओं की बैठक में राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष  लालू प्रसाद एवं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के खिलाफ दिए गए बयान की हम लालू यादव एवं तेजस्वी यादव को इस चुनाव में रीढ़ की हड्डी तोड़ देंगे। इस तरह की भाषा को अमर्यादित , असंसदीय एव हास्यपद बताया। राजद की रीढ़ की हड्डी का ताना बाना करोड़ो गरीब गुरबा शोषित वंचित के द्वारा चट्टान की मजबूती से भुना गया है। जिस पर भाजपा आरएसएस एवं सामन्तवादियों का प्रहार आज तक बेअसर रहा है। फिर जदयू नेता पिता-पुत्र की क्या विसात है । शायद जदयू नेता भूल गए कि उनकी रीढ़ की हड्डी ,रम्त ,मज़्ज़ा बनाने ने लालू यादव एवं राजद का ही योगदान है। अगर उनकी बाजू में इतनी शक्ति है।

तो भाजपा एवं उनका सहयोगी दल जो इस देश मे किसी खास समुदाय को टारगेट कर राजनीति कर रही है। जिससे इनमें अविश्वास पैदा हो रहा हैं। संविधान एवं संवैधानिक संस्थाओं को अपने मुताबिक बहुमत के अहंकार में चला रही है। ऐसी नफरत एवं भेदभाव पैदा करने वाले शक्तियों एवं दल की रीढ़ की हड्डी तोड़कर दिखावें। भाजपा एवं उनकी सहयोगी जदयू के गोद मे बैठकर अल्पसंख्यक समाज को गुमराह करना बंद करें। इनकी स्वार्थी एव लोभी चरित्र को अल्पसंख्यक समाज पहचान गई है। जब सीएए व एनआरसी के मुद्दे पर पूरे देश के अल्पसंख्यक एवं धर्मनिरपेक्ष समाज अपनी बहु बेटियों के साथ कई महीनों तक सड़क पर आंदोलन कर रहे थे। तो उस समय ये पिता-पुत्र अपने घर मे आराम फरमा कर इस आंदोलन की खिल्ली उड़ा रहे थे। लालू यादव एवं राजद ने ही इन्हें फर्श से अर्श पर तक पहुंचाकर पहचान दिलाने का कार्य किया। आज ये झूठा मनगढ़ंत प्रलाप कर निराधार आरोप लगा रहे है। हमारी बिल्ली हम ही पर म्याऊं। जिला पार्षद सदस्य मो जमाल अतहर रूमी के सन्देहास्पद स्थिति में मौत, परिजनों के साथ मारपीट , परिजनों पर मुकदमा मामले में फ़ातमी चुप थे। आज अल्पसंख्यक समाज के हितैषी बनकर घड़ियाली आंसू बहाकर इस समाज को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे है। लेकिन यह समाज इनके बहकावे में आने वाली नहीं है। अल्पसंख्यक समाज अपनी राजनीति दशा व दिशा तय करना स्वयं जानने का कार्य करती है। इस प्रेस वार्ता में जिला राजद उपाध्यक्ष रहमतुल्ला खां, फैयाज अहमद ,अवधेश सहनी, जुबैर अहमद, यास्मीन खातून, कफील अहमद, किशोर प्रजापति, मो अलक्कम्मा, मो वासिद, मो अरशद अली, महताब सिद्दीकी, राजा खान, कमरे आलम, आफताब, मिथुन सहनी,मौजूद रहे।

Share

Check Also

एनएच पर पिकअप के कहर से एक की मौत, बच्ची सहित चार घायल।

दरभंगा: दरभंगा-मुजफ्फरपुर एनएच-57 पर विश्वविद्यालय थाना अन्तर्गत महिंद्रा शोरूम के निकट सड…