Home Featured डमी मतदान केन्द्र का जिलाधिकारी एवं एसएसपी ने किया संयुक्त रूप से उद्घाटन।
3 weeks ago

डमी मतदान केन्द्र का जिलाधिकारी एवं एसएसपी ने किया संयुक्त रूप से उद्घाटन।

दरभंगा: विधानसभा चुनाव के दौरान मतदान केन्द्रों पर की जाने वाली व्यवस्था को प्रदर्शित करते हुए स्थानीय एमएलए एकेडमी में डमी आदर्श मतदान केन्द्र का निर्माण किया गया। जिसका शुक्रवार को डॉ० त्यागराजन एसएम एवं वरीय पुलिस अधीक्षक बाबूराम द्वारा संयुक्त रूप से फीता काटकर किया गया। डमी मतदान केंद्र के प्रवेश द्वार पर एक कर्मचारी थर्मल स्कैनर एवं मतदाताओं को दिए जाने वाले ग्लव्स एवं सैनिटाइजर को लेकर नियुक्त किया गया था। जिस से आने वाले  मतदाताओं के हाथ सैनिटाइज करके एवं थर्मल स्क्रीनिंग करके मतदान केंद्र के अंदर प्रवेश दिया जाएगा। मतदाताओं की कतार में लगने के लिए 6 फीट की दूरी पर घेरा बनाया गया है। मतदान केंद्र के अंदर सभी मतदान कर्मी एवं पीठासीन पदाधिकारी पीपीई किट्स में मौजूद थे। यह दृश्य अंतिम घंटे के मतदान का दृश्य था। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने द्वितीय मतदान अधिकारी से मतदान के दौरान किए जाने वाले कार्य के संबंध में जानकारी ली। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि इस बार कोविड गाईडलाइन के अनुसार कोविड-19 का अंतिम समय में मतदान होगा और उस दौरान सभी मतदान कर्मी पीपीई किट्स में रहेंगे। इसके उपरांत पदाधिकारी द्वय ने एमएल एकेडमी के विभिन्न कमरों का भ्रमण कर पीठासीन पदाधिकारी को दिए जा रहे प्रशिक्षण का अवलोकन किया। कमरा संख्या आठ में प्रवेश कर उन्होंने कोविड-19 के गाईडलाइन के अंतर्गत इस बार मतदान केंद्र पर की जाने वाली व्यवस्था के संबंध में पूछा, प्रशिक्षणार्थी दिलीप कुमार मिश्रा एवं राजेश कुमार झा ने विस्तार से बताया कि इस बार प्रवेश द्वार पर मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिंग होगी। जिस का तापमान सामान्य से अधिक होगा उन्हें 5 मिनट तक ठंडे स्थान पर बैठाया जाएगा, इसके उपरांत पुनः उनकी स्क्रीनिंग की जाएगी। इस बार भी तापमान अधिक पाया गया तो उन्हें टोकन देकर अंतिम समय में मतदान के लिए आने को कहा जाएगा। थर्मल स्क्रीनिंग में जिनका तापमान सामान्य पाया जाएगा। उन सबों को सामाजिक दूरी का अनुपालन कराते हुए कतार में लगाया जाएगा, तृतीय मतदान अधिकारी द्वारा मतदाता के हाथ को सैनिटाइज किया जाएगा। तथा ग्लव्स उपलब्ध कराया जाएगा। द्वितीय मतदान पदाधिकारी निर्वाचक सूची में टिक लगाते हुए मतदाता से हस्ताक्षर करवाएंगे, जो मतदाता हस्ताक्षर नहीं कर सकते हैं। उसे अंगूठे में स्याही लगाने के लिए ईयरबड दिया जाएगा जिसकी मदद से मतदाता रजिस्टर पर निशान लगाते हुए पहचान बनाएगा। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने पूछा कि मॉक पॉल के बाद तथा मतदान समाप्ति के बाद पीठासीन पदाधिकारी क्या करते हैं? उत्तर में दिलीप कुमार मिश्रा ने बताया कि मॉक पोल के बाद कंट्रोल यूनिट का सीआरसी बटन तथा मतदान समाप्ति के बाद क्लोज बटन दबाते हैं। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने उन सबों को धन्यवाद दिया और कहा कि आप सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारी और निर्वाची पदाधिकारी के प्रतिनिधि है। मतदान केंद्र पूरी तरह से आपके नियंत्रण में रहेगा। इस समय पूरे देश व दुनिया की नजर बिहार के चुनाव पर है कि कोविड-19 के माहौल में चुनाव किस तरह कराया जा रहा है। इसलिए आपकी एक गलती सारे मेहनत को बेकार कर देगा। ध्यान रहे की मॉक पॉल के बाद सीआरसी बटन और मतदान समाप्ति के बाद क्लोज बटन दबाना ना भूले, नहीं तो उस मतदान केंद्र के मतों की गिनती नहीं की जा सकेगी और आपका दिन भर का मेहनत बेकार चला जाएगा। उन्होंने कमरा संख्या 11 में भी पीठासीन पदाधिकारियों को संबोधित किया।

इस अवसर पर नगर आयुक्त  मनेश कुमार मीणा, सहायक समाहर्ता  प्रियंका रानी, अपर समाहर्ता (विभागीय जाँच)  अखिलेश प्रसाद सिंह, उप निदेशक जनसंपर्क  नागेंद्र कुमार गुप्ता, डीपीओ आईसीडीएस  अलका आम्रपाली एवं अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Share

Check Also

ओमेगा के 5 बच्चों ने नीट 2020 के रिजल्ट में लहराया परचम।

दरभंगा: नीट 2020 के रिजल्ट में ओमेगा स्टडी सेंटर दरभंगा के बच्चों ने दिखाया अपना जलवा साथ …