Home Featured भाजपा के बाद अब जदयू विधायक ने भी दरभंगा पुलिस की कार्यशैली पर उठाये गम्भीर सवाल।
January 12, 2021

भाजपा के बाद अब जदयू विधायक ने भी दरभंगा पुलिस की कार्यशैली पर उठाये गम्भीर सवाल।

देखिये वीडियो भी।

देखिये वीडियो भी👆

दरभंगा: लगता है मिथिला की हृदयस्थली दरभंगा अपराधियों का सॉफ्ट टारगेट बन गया है। आये दिन लूट पाट एवं हत्या का दौर जारी है। विपक्षी दलों के साथ साथ अब तो सत्ताधारी भाजपा एवं जदयू के वर्तमान विधायक भी पुलिस की कार्यशैली पर गम्भीर सवाल उठाने लगे हैं। दिनदहाड़े हुए स्वर्ण व्यवसायी लूटकांड के बाद भाजपा के नगर विधायक संजय सरावगी ने जहां पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाये थे, वहीं लापता युवक की लाश मंगलवार को मिलने पर बहादुरपुर के जदयू विधायक मदन सहनी ने पुलिस पर गम्भीर आरोप लगाया और एसएसपी को अक्षम बताते हुए उन्हें हटाने की मांग की है।
बताते चलें कि बहादुरपुर प्रखंड के कोकट गांव निवासी पतंजलि भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के जिला मीडिया प्रभारी दीपक कुमार चौरसिया की लाश मंगलवार को मिली। वे गत 7 जनवरी की शाम तारालाही से घर लौटते समय गायब हो गये थे। आखरी बार वे अंदामा के निकट देखे गए थे। परिजनों ने अपहरण की आशंका जताते हुए एसएसपी से मिलकर बरामदगी की गुहार भी लगायी थी। पर मंगलवार को दीपक की लाश हायाघाट थानाक्षेत्र के हथौड़ी घाट पुल के निकट पानी मे तैरती मिली। लाश को पोस्टमार्टम केलिए डीएमसीएच भेज दिया गया। लाश को देखकर निर्मम तरीके से हत्या की गयी लग रही थी।
पोस्टमार्टम के दौरान पहुंचे पूर्व मंत्री सह बहादुरपुर के वर्तमान जदयू विधायक मदन सहनी का गुस्सा पुलिस पर फूटा। उन्होंने कहा कि दीपक के परिजनों का एफआईआर भी दर्ज नही किया जा रहा था। उनके द्वारा एसएसपी बाबूराम को फोन करने के बाद प्राथमिकी दर्ज हो सकी। स्थानीय लोगों ने दीपक के गायब होने की जगह के एक आपराधिक चरित्र के व्यक्ति का नाम भी संदिग्ध के रूप में बताया था। उन्होंने उस व्यक्ति का नाम भी एसएसपी को बताया था। उक्त व्यक्ति का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है। पुलिस को ऐसे गम्भीर आपराधिक चरित्र वाले संदिग्ध से पूछताछ में परेशानी नही होनी चहिये थी। पर पुलिस ने कुछ नही किया और घटना घटने का इंतजार किया।
विधायक श्री सहनी ने कुछ अन्य मामलों का उदाहरण देते हुए कहा कि पुलिस जनता की नही सुनती। वह तो किसी और ही कार्य मे लगी रहती है। उन्होंने दरभंगा के एसएसपी बाबूराम को अपराध रोकने में अक्षम बताते हुए उन्हें दरभंगा से हटाने की मांग की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री से मिलकर भी वे एसएसपी को हटाने की मांग करेंगे। साथ ही अन्य लापरवाही बरतने वाले पुलिस पदाधिकारी पर भी कारवाई होनी चाहिए।

Share

Check Also

सांसद ने किया दस दिवसीय संस्कृत संभाषण शिविर का उद्घाटन।

दरभंगा: गुरुवार को दरभंगा के सांसद डॉ0 गोपालजी ठाकुर ने चंद्रधारी मिथिला महाविद्यालय के सं…