Home Featured एसएसपी से मिलने पहुंचे मृतक दीपक के पिता, फफक फफक कर लगाते रहे इंसाफ की गुहार।
January 13, 2021

एसएसपी से मिलने पहुंचे मृतक दीपक के पिता, फफक फफक कर लगाते रहे इंसाफ की गुहार।

देखिए वीडियो भी।

देखिए वीडियो भी 👆

दरभंगा: पतंजलि स्वाभिमान भारत ट्रस्ट के दरभंगा जिला मीडिया प्रभारी दीपक कुमार चौरसिया के अपरहण और हत्या में अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं। दावे तो बहुत किये जा रहे हैं, पर परिणाम फिलहाल दिख नही रहा।

सत्ताधारी जदयू विधायक मदन सहनी द्वारा भी सार्वजनिक रूप से पुलिस की कार्यशैली पर गम्भीर सवाल उठाते हुए एसएसपी को हटाने की मांग की जा चुकी है। फिर भी अभीतक पुलिस खाली हाथ है।

बुधवार को मृतक दीपक के पिता कई ग्रामीणों के साथ दरभंगा के वरीय पुलिस अधीक्षक से मिलने पहुंचे। मिलने के इंतजार में बैठे दीपक के पिता प्रमोद भगत हर किसी को देखकर कर फफक फफक कर रो पड़ते थे। सबसे इंसाफ दिलाने की मिन्नत करते रहे। इसी क्रम में भाजपा के केवटी विधायक डॉ0 मुरारी मोहन झा एसएसपी कार्यालय पहुँचे। उनके सामने भी दीपक के पिता फफक फफक कर रोने लगे और अपना दुखड़ा सुनाने लगे। विधायक श्री झा भी भावुक हो गए। उन्होंने उन्हें ढाढ़स बंधाते हुए न्याय दिलाने में पूर्ण सहयोग का वादा किया। उन्होंने घटना को निंदनीय एवं दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि एसएसपी से इस मुद्दे पर बात हुई है। एसएसपी से अपराधियों को चिन्हित कर उनकी शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की है। अबतक अपराधियों के नही पकड़े जाने को भी उन्होंने दुःखद बताया।

इस बीच सीपीआई के जिलासचिव नारायणजी झा एवं माले नेता हरि पासवान आदि भी एसएसपी कार्यालय पहुंचे। मृतक के पिता उनके साथ एसएसपी से मिलने उनके कार्यालय कक्ष में गये।

एसएसपी से वार्ता के बाद नारायण जी झा ने बताया कि एसएसपी से मिलकर सारी वस्तुस्थिति बतायी गयी है। शीघ्र अपराधियो की गिरफ्तारी नही होने पर उन्होंने आंदोलन की चेतावनी भी दी।

माले नेता हरि पासवान ने कहा कि यदि 24 घण्टे के भीतर अपराधियो की गिरफ्तारी नही हुई तो 15 जनवरी को एसएसपी के समक्ष विशाल धरना किया जाएगा।

इस पूरे मामले पर हमारे संवाददाता नेके सिटी एसपी अशोक कुमार प्रसाद से बात की।

उन्होंने बताया कि 7 जनवरी को जब दीपक गायब हुए थे और प्राथमिकी दर्ज हुआ था, तभी हम उनके घर पर गए थे। उस समय तक उनके अपहृत होने की बात सामने आ रही थी। हमलोगों की कोशिश थी कि उनकी सकुशल बरामदगी हो जाय। अनुसंधान के क्रम में ही उनका डेड बॉडी मंगलवार को मिला।

उन्होंने कहा कि जिस स्थल से डेड बॉडी मिला है, उसे देखने से ऐसा लग रहा है कि हत्या कहीं और की गई है और उसे छुपाने की नीयत से पानी में बहा दिया गया।

सिटी एसपी ने कहा जो भी लोग इस घटना में शामिल है, उनकी पहचान कर ली गई है। जल्द ही इन लोगों की गिरफ्तारी होगी। जो लोग चिन्हित किए गए हैं, उनकी गिरफ्तारी केलिए टीम गई हुई है।

घटना में शामिल अपराधियों की संख्या के सम्बंध में उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से जहां घटना घटी है और जिस तरह लाश को छुपाने का काम किया गया है, उससे लगता है कि चार-पांच लोग इसमें जरूर शामिल होंगे।

मृतक के पिता के साथ एसएसपी कार्यालय पहुंचने वालों में दयानन्द पासवान, राम नरेश भगत, नागेंद्र माँझी, रामसेवक भगत, राम प्रकाश भगत, उमेश शर्मा आदि प्रमुख थे।

Share

Check Also

सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली विषय पर परिचर्चा कार्यक्रम आयोजित।

दरभंगा: जल-जीवन-हरियाली अभियान के अंतर्गत मार्च महीने के प्रथम मंगलवार को कृषि विभाग, बिहा…