Home Featured रैन बसेरा में ठहरने वाले यात्रियों से की जाती है अवैध उगाही!
January 22, 2021

रैन बसेरा में ठहरने वाले यात्रियों से की जाती है अवैध उगाही!

दरभंगा: लहेरियासराय बस स्टैंड परिसर में आश्रयविहीन लोगों की सुविधा के लिए वर्ष 2014 में रैन बसेरा बनाया गया था। पूर्व में इसका संचालन नगर निगम के कर्मी करते थे। लेकिन, वर्ष 2017 में इसके संचालन का जिम्मा शिवगंगा महिला सहकारी समिति लिमिटेड को दे दिया गया। इस रैन बसेरा में 20 लोगों के ठहरने की व्यवस्था है। यहां सभी मूलभूत सुविधाएं जैसे शौचालय, पेयजल, सोने के लिए बेड, बिछावन और ठंड से बचाव के लिए कम्बल की व्यवस्था है। बाहर से दरभंगा आये लोग जो किसी कारणवश शाम को घर नहीं लौट पाते हैं और उनके पास इतने पैसे भी नहीं होते कि वे किसी होटल या लॉज में ठहर सकें, वैसे लोगों के लिए इस रैन बसेरा में रात गुजारने की अच्छी व्यवस्था है। यहां ठहरने के लिए महज 15 रुपये का भुगतान करना होता है। लेकिन, जो नि:सहाय हैं वे यहां नि:शुल्क रात गुजार सकते हैं। रैन बसेरा के बेहतर संचालन के लिए शिवगंगा महिला सहकारी समिति लिमिटेड ने यहां एक प्रबंधक और तीन सहयोगियों की नियुक्ति की है। यहां ठहरने वाले कई लोगों का कहना है कि हमसे यहां निर्धारित 15 रुपये की जगह 30 रुपये वसूला जाता है। साथ ही सभी ठहरने वालों का नाम भी रजिस्टर में अंकित नहीं किया जाता है। उनका यह भी कहना है कि बस स्टैंड परिसर में अवस्थित होने के कारण दिनभर में सैकड़ों लोग यहां शौचालय का इस्तेमाल करने आते हैं। वैसे लोगों से शौचालय के लिए पांच रुपये प्रति व्यक्ति वसूला जाता है। शौचालय के लिए मुसाफिरों से पैसे वसूलने के लिए रैन बसेरा के मुख्य द्वार पर एक कर्मी टेबल पर गल्ला लिए मौजूद रहते हैं ताकि एक भी मुसाफिर पैसा दिये बिना नहीं जा सके।
रैन बसेरा के प्रबंधक ममता देवी ने बताया कि नगर निगम के द्वारा रैन बसेरा तो बना दिया गया, लेकिन इसके रख रखाव पर ध्यान नही दिया जाता है शौचालय की सफाई, झाड़ू- पोछा, सर्फ, साबुन और धोबी का खर्च हम लोगो को ही करना पड़ता है। उन्होंने साफ तौर पर कहा की अगर आश्रितों से अधिक पैसा नही लेंगे तो रैन बसेरा को चलाना संभव नही है।
वही रैन बसेरा में ठहरे एक यात्री दिनेश गौड़ ने बताया की मैं बनारस का रहने वाला हूँ कोर्ट के काम से दरभंगा आया हूँ मेरे पास उतने पैसे नही है की किसी होटल या लॉज में ठहर सकू गर्मी का मौसम होता तो मैं रेलवे प्लेटफार्म पर भी सो जाता लेकिन ठंड का मौसम है इस लिये रात्रि विश्राम के लिये लहेरियासराय रैन बसेरा आ गया यंहा सोने के लिये बेड ओढ़ने के लिये कम्बल और शौचालय की भी समुचित व्यवस्था है इन सुविधाओं के उपगोग के लिये यंहा के कर्मियों के द्वारा मुझसे 30 रुपया लिया गया।
वहीं नगर आयुक्त मनेश कुमार मीणा ने रैन बसेरा में हो रहे अवैध उगाही के बारे में बताया की मीडिया के माध्यम से मुझे पता चला है इस बिंदु पर जांच किया जाएगा और अगर कर्मी दोषी पाये जाएंगे तो उन कारवाई की जाएगी।

Share

Check Also

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष पहुंचे दरभंगा, एनडीए की जीत का कार्यकर्ताओं को दिया श्रेय।

दरभंगा: जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सांसद आरसीपी सिंह के दरभंगा पहुंचने पर जदयू कार्यकर्ताओं…