Home Featured डीएम ने दरभंगा में कोरोना की स्थिति एवं रोकथाम के कार्यों से मुख्यमंत्री को कराया अवगत।
2 weeks ago

डीएम ने दरभंगा में कोरोना की स्थिति एवं रोकथाम के कार्यों से मुख्यमंत्री को कराया अवगत।

दरभंगा: कोरोना के बढ़ते संक्रमण और रोकथाम के लिए किए जा रहे उपायों की समीक्षा मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने की। इस दौरान जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने उन्हें बताया कि जिले में कुल 1094 एक्टिव केस है। शहरी क्षेत्र में पॉजिटिविटी रेट 3.2 एवं ग्रामीण क्षेत्र में 2.2 फीसद है। वैसे पंचायत जहां लोग बाहर से आए हैं, वहां टेस्टिग कराई जा रही है। डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल डीएमसीएच में 120 बेड ऑक्सीजन युक्त तथा 08 वेंडीलेटर युक्त बेड उपलब्ध है। डीएमसीएच से 16 प्रमुख निजी हॉस्पिटलों को संबद्ध किया गया है। जिनमें 162 बेड तथा 35 वेंडीलेटर युक्त बेड उपलब्ध है। जिले में एक ऑक्सीजन प्लांट है और लिक्विड ऑक्सीजन लाने के लिए कॉमफेड से एक क्रयोजनिक टैंकर उपलब्ध हो गया है। इसलिए यहां ऑक्सीजन आपूर्ति की कोई समस्या नहीं होगी। बिल एंड मैरिडा गेट्स फांउडेशन तथा केयर इंडिया के माध्यम से कोविड केयर सेंटर के तथा ग्रामीण चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिलाया गया है। जिले में 2 लाख 61 हजार लोगों का टीकाकरण किया गया है। तीन हजार टीका अभी उपलब्ध है। अनुमंडल स्तर पर क्वांटाइन सेंटर कार्यरत हैं, जहां छह लोग इलाजरत है।

लोगों में मास्क एवं शारीरिक दूरी के लिए जागरूकता लाने हेतु 86 वाहनों के माध्यम से लगातार प्रचार-प्रसार कराया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा जारी प्रचार सामग्री का भी प्रयोग किया जा रहा है। कोविड-19 की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन में जो प्रतिबंध लगाए गए हैं, उन्हें प्रभावशाली ढ़ंग से लागू कराया जा रहा है। चैंबर ऑफ कॉमर्स तथा अन्य व्यवसायिक संघ के साथ बैठक कर सप्ताह में तीन दिन गैर आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को बंद कराया गया है। मृतकों का अंतिम संस्कार भीगो घाट पर कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बहेड़ा बाजार में अनावश्यक भीड़ को देखते हुए कुछ दिनों के लिए बंद कराया गया है। डीएमसीएच में चार डीप-फ्रीजर उपलब्ध है, जबकि यहां पांच जिलों के मरीज आते है। इसलिए कुछ और डीप-फ्रीजर की आवश्यकता है।

डीएमसीएच के फाइनल ईयर की परीक्षा यदि हो जाती, तो डीएमसीएच को नए हाऊस सर्जन मिल जाते। नए ऑक्सीजन प्लांट के लिए कई लोगों के द्वारा विभिन्न विभागों से विभिन्न आदेश की मांग की जा रही है। यदि उद्योग विभाग द्वारा सिगल विडो सिस्टम स्थापित कर दिया जाता, तो उन लोगों को सुविधा मिल जाती तथा कई ऑक्सीजन प्लांट संस्थापित हो जाते। मौके पर पुलिस महानिरीक्षक अजिताभ कुमार, प्रभारी पुलिस अधीक्षक अशोक प्रसाद, सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, डीपीएम (हेल्थ) विशाल कुमार आदि मौजूद थे।

Share

Check Also

कीमतों पर नियंत्रण के लिए बना नियंत्रण कक्ष

दरभंगा: जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम के द्वारा जिले के व्यवसायी संघ एवं थोक विक्रेताओं के …