Home Featured प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों द्वारा पीएचसी एवं कोविड केयर सेन्टर के जाँच की डीएम ने की समीक्षा।
1 week ago

प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों द्वारा पीएचसी एवं कोविड केयर सेन्टर के जाँच की डीएम ने की समीक्षा।

दरभंगा: बुधवार को जिलाधिकारी डॉ0 त्यागराजन एसएम की अध्यक्षता में अम्बेदकर सभागार में पीएचसी व कोविड केयर सेन्टर जाँच के लिए प्रखण्डों में भेजे गये जाँच पदाधिकारियों के जांच प्रतिवेदन की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। सभी पदाधिकारियों को मंगलवार को उनके क्षेत्र में जांच केलिए भेजा गया था।
बैठक में जाँच पदाधिकारियों द्वारा अपने-अपने प्रखण्ड के पीएचसी व कोविड केयर सेन्टर की स्थिति से अवगत कराया गया। कई जाँच पदाधिकारियों ने बताया कि कोविड केयर सेन्टर में प्रतिनियुक्त किये गये चिकित्सक, पारा मेडिकल स्टाफ एवं एएनएम ने अभी तक योगदान नहीं किया है। बताया गया कि बेनीपुर में 06 में से 05 आयुष चिकित्सक की प्रतिनियुक्ति की गयी है, इसको लेकर जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन के प्रति नाराजगी जतायी तथा उन्हें पुनः विवेकपूर्ण ढ़ंग से चिकित्सकों की प्रतिनियुक्ति करने के निर्देश दिये।
बताया गया कि बेनीपुर में 04 चिकित्सक, 03 एएनएम एवं 03 पारा मेडिकल स्टाफ अभी तक योगदान नहीं किये हैं। उन्होंने चारों चिकित्सकों का वेतन स्थगित करते हुए स्पष्टीकरण की माँग करने का निर्देश दिया तथा तीनों पारा मेडिकल स्टाफ एवं तीनों एएनएम को निलंबित करने के निर्देश दिये।
कई जाँच पदाधिकारियों द्वारा बताया गया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में विटामिन एवं एजीथ्रोमाइसिंन उपलब्ध नहीं है। डीपीएम ने बताया कि यदि किसी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में कोई दवा उपलब्ध नहीं है, तो जिला भंडार गृह से दवा मंगवा लें। यदि जिला भंडार गृह में भी उपलब्ध नहीं है, तो स्थानीय बाजार से क्रय कर लें इसके लिए सभी पीएचसी में राशि उपलब्ध है।
जिलाधिकारी ने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को आरएसभी की गाड़ी को भी एम्बुलेंस के रूप में प्रयोग करने के निर्देश दिये। साथ ही कहा कि सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में कम से कम 04 एम्बुलेंस रहनी चाहिए।
हनुमाननगर पीएचसी के संबंध में बताया गया कि डॉ रंजना साहु मार्च माह से एवं किरतपुर के डॉ शशि रंजन अप्रैल माह से ही नहीं आ रही हैं। जिलाधिकारी द्वारा दोनों चिकित्सकों को डिसमिस करने के लिए सिविल सर्जन को प्रस्ताव बढ़ाने का निर्देश दिया तथा अभी तक योगदान न करने वाले एएनएम एवं पारा मेडिकल स्टाफ को निलंबित करने के निर्देश दिये।
उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि यदि 29 अप्रैल तक प्रतिनियुक्त चिकित्सक, पारा मेडिकल स्टाफ एवं एएनएम कोविड केअर सेंटर में योगदान नहीं करते हैं, तो उन्हें निलंबित करने की कार्रवाई की जाए।
तारडीह प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की जाँच में साफ-सफाई की कमी पायी गयी, जिसके लिए आउटसोर्स एजेंसी के अप्रैल माह की भुगतान में से 30 प्रतिशत् की कटौती कर लेने के निर्देश दिये गए।
जिलाधिकारी ने समीक्षा के दौरान सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को कहा कि हर हाल में सभी कोविड केयर सेन्टर का चालू रखना है, वहाँ की साफ-सफाई एवं भोजन की व्यवस्था दुरूस्थ होनी चाहिए। प्रोटीन युक्त भोजन, जिसमें अंडा, दाल, सोयाबीन शामिल हो, को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने ने कहा कि साफ-सफाई और भोजन की गुणवत्ता से किसी कीमत पर समझौता नहीं किया जाएगा है।
उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को कहा कि कोविड केयर सेन्टर में मरीज लेना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि जिन पंचायतों में लोग बाहर से आये हैं, वहाँ आरटीपीसीआर टेस्टिंग तथा कंटेनमेन्ट जोन में एवं कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए एन्टीजन टेस्ट किया जाए तथा प्रतिदिन पीएचसी में 01 या 02 घंटा समय ऑन डिमांड टेस्टिंग के लिए निर्धारित किया जाए। यदि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में ऑन डिमांड टेस्टिंग शून्य है, तो समझा जाएगा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में कार्य नहीं हो रहा है। यदि कहीं एम्बुलेंस का लॉगबुक जीरो दर्शा रहा है, तो समझा जाएगा कि एम्बुलेंस भेजा नहीं जा रहा है। उन्होंने होम आइसोलेशन वाले मरीजों के यहाँ प्रतिदिन मेडिकल टीम भिजिट करवाने के निर्देश दिये।
बैठक में सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को सभी ग्रामीण परिवार को 06-06 मास्क उपलब्ध कराने के निर्देश दिये तथा 20 पंचायत से ऊपर वाले प्रखण्ड को 04 वाहनों से तथा 20 पंचायत से नीचे वाले प्रखण्ड को 03 वाहन से जागरूकता हेतु प्रचार कराने के निर्देश दिये।
बैठक में अपर समाहर्त्ता (विभागीय जाँच) अखिलेश प्रसाद सिंह, सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, उप निदेशक, जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी अजय कुमार, सभी प्रखण्ड के वरीय प्रभारी पदाधिकारी, डी.पी.एम. (हेल्थ) विशाल कुमार एवं संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे। वहीं ऑनलाईन सभा प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी जुड़े हुए थे।

Share

Check Also

कीमतों पर नियंत्रण के लिए बना नियंत्रण कक्ष

दरभंगा: जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम के द्वारा जिले के व्यवसायी संघ एवं थोक विक्रेताओं के …