Home Featured ईसाई शिक्षक की मौत के बाद दफनाने को लेकर हुआ विवाद, डीएम के कड़े रुख के बाद सुलझा विवाद।
6 days ago

ईसाई शिक्षक की मौत के बाद दफनाने को लेकर हुआ विवाद, डीएम के कड़े रुख के बाद सुलझा विवाद।

देखिये वीडियो भी।

देखिये वीडियो भी👆

दरभंगा: कोरोना जहां एक ओर मानव जीवन को लील रहा है, वहीं मृतकों के प्रति अपनों का व्यवहार मानवता को तार तार कर रहा है। ऐसा ही एक मामला सामने आया जब एक दक्षिण भारतीय 30 वर्षीय ईसाई शिक्षक की मौत गुरुवार की देर रात कोरोना से हो गयी। परिवार में केवल पत्नी और एक रिश्ते में बहन थी। नर्सिंग होम वालों ने रात में ही शव को बाहर निकाल दिया और ले जाने को कहा। महिला ने जान पहचान के कुछ लोगो को सूचना दी। पर किसी ने मदद नही की, पर उनलोगों ने इसकी खबर जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम तक पहुंचाई। जिलाधिकारी ने एम्बुलेंस भिजवाया और कबीर सेवा संस्थान की मदद से शव को अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखवा दिया। शुक्रवार को ईसाई समुदाय के लोगों से उसकी अंत्येष्टि केलिए कहा गया, जिसके उपरांत एक ईसाई कब्रिस्तान में कब्र खोदा गया। लेकिन इसी बीच ईसाई समुदाय के दूसरे गुट ने शव को उस कब्रिस्तान में दफनाने का विरोध कर दिया। इसकारण शुक्रवार को शव दफन नही हो सका। कबीर सेवा संस्थान के आधा दर्जन लोग तथा उपस्थित ईसाई समुदाय के दो तीन लोग वापस लौट गये। तत्पश्चात इसकी सूचना जिलाधिकारी को दी गयी। जिलाधिकारी ने कड़ा रुख अख्तियार करते हुए नगर थाना को विरोध करने वाले लोगों एफआईआर कर कारवाई का आदेश दिया। अंततः शनिवार को शव की अंत्येष्टि का समय निर्धारित हुआ। पर शनिवार को दर्जन भर मौत हो जाने के कारण एम्बुलेंस रात्रि 10 बजे तक शव को अस्पताल से लेकर कब्रिस्तान नही पहुँच सका। फलस्वरूप ईसाई समुदाय के जो दो तीन लोग थे, वे भी चले गए। रात्रि करीब 12 बजे मुक्तिधाम से शवों की अंत्येष्टि करके लौटे कबीर सेवा संस्थान के लोगों ने ईसाई समुदाय के लोगों से दफनाने के विधि की जानकारी फोन पर ली। फिर अंजुमन कारवां के जिलाध्यक्ष रियाज कादरी को साथ लिया, जिन्हें दफनाने का अनुभव है। फिर बिना ईसाई समुदाय के लोगों की उपस्थिति के ही सात लोगों ने शव को बॉक्स में रखकर मिट्टी के सुपुर्द किया। इस प्रकार 50 घण्टे बाद शव की अंत्येष्टि हो सकी।

Share

Check Also

कीमतों पर नियंत्रण के लिए बना नियंत्रण कक्ष

दरभंगा: जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम के द्वारा जिले के व्यवसायी संघ एवं थोक विक्रेताओं के …