Home Featured वेबिनार द्वारा डीएमसीएच को बचाने का लिया गया संकल्प।
4 weeks ago

वेबिनार द्वारा डीएमसीएच को बचाने का लिया गया संकल्प।

दरभंगा: डीएमसीएच बचाओ वेबिनार का आयोजन शुक्रवार को गूगल मीट के जरिये किया गया। इसमें दरभंगा के प्रसिद्ध डॉक्टर, प्रोफेसर, सामाजिक कार्यकर्ता, छात्रों व युवाओं ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन आइसा एक्टिविस्ट संदीप कुमार चौधरी ने किया। विषय प्रवेश करते हुए डीएमसीएच के रिटायर्ड पैथोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. अजित कुमार चौधरी ने कहा कि इस महामारी के दौर में हेल्थ एजुकेशन देने की जरूरत है ताकि बीमारियों के प्रति आम लोगों को जागरूक किया जा सके। बिहार में मजबूत मेडिकल टीम का गठन करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सीनियर डॉक्टर को देखकर मरीजों का हौसला बुलंद होता है। इसलिए सीनियर डॉक्टर को इस महामारी में विशेष मेहनत करने की जरूरत है। रिटायर्ड सिविल सर्जन डॉ. शब्बीर अहमद ने कहा कि डीएमसीएच के डॉक्टर, नर्स, सफाई कर्मी अमानवीय व्यवस्था में काम को मजबूर हैं। उनके पास कोई सुरक्षा किट नहीं है। इसे ठीक करने की जरूरत है। डीएमसीएच में एक स्थाई पुलिस चौकी की भी जरूरत है। मिथिला इतिहास संस्थान के सचिव प्रो. धर्मेंद्र कुमर ने कहा कि डीएमसीएच का इतिहास, साख, छवि व प्रतिष्ठा खत्म हो रही है। इसे बचाने के लिए और डीएमसीएच की बेहतरी के लिए हम सभी को एकजुट होकर एक कमेटी बनाकर जनजागरण चलाना होगा। भाकपा (माले) पोलित ब्यूरो सदस्य धीरेन्द्र झा ने कहा कि डीएमसीएच के पास संसाधनों की कमी नहीं है, लेकिन उसका सही प्रबंधन नहीं रहने के कारण यह परेशानी बढ़ी है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि स्वास्थ्य तंत्र पर सरकारी तंत्र हावी है। लनामि विवि के पीजी राजनीति विज्ञान विभाग के शिक्षक प्रो. मुनेश्वर यादव ने कहा कि दरभंगा में एम्स बने कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन इससे पहले बदहाली की मार झेल रहे डीएमसीएच को व्यवस्थित करने की जरूरत है। जसम के राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य प्रो. सुरेंद्र प्रसाद सुमन ने स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरुस्त करने पर बल दिया। पीजी राजनीति विज्ञान विभागाध्यक्ष प्रो. जितेंद्र नारायण ने डीएमसीएच को बचाने के सवाल पर दलगत भावना से ऊपर उठकर सभी लोगों से साथ आने की अपील की। वेबिनार का संचालन डॉ. अजित कुमार चौधरी ने किया। इसमें प्रो. विजय कुमार, प्रो. बदरे आलम, मो. नुरुल्लाह, डॉ. रामा शंकर, डॉ. सूरज, डॉ. बच्चा रजक, इंसाफ मंच के राज्य उपाध्यक्ष नेयाज अहमद, डॉ. संतोष कुमार यादव, रजनीति विज्ञान की सहायक प्रोफेसर शबनम कुमारी, आलोक रंजन तिवारी, भाकपा (माले) राज्य कमेटी सदस्य अभिषेक कुमार, अशोक पासवान, आइसा जिला अध्यक्ष प्रिंस राज, जिला सचिव विशाल कुमार माझी, जिला कार्यकारी सचिव मयंक कुमार यादव, संदीप कुमार, राजू कर्ण, निखिल कुमार, सामाजिक कार्यकर्ता अजित मिश्रा, इनौस जिला सचिव गजेंद्र नारायण शर्मा, युवा पत्रकार पुष्परंजन, शिक्षक नेता फतह आलम, विनोद भारती, छात्र जाप के दीपक कुमार झा, सहित कई लोग शामिल थे। तकनीकी संचालन आइसा नेता सिदार्थ राज में किया।

Share

Check Also

ट्रैफिक पुलिस के एक सिपाही की लापरवाही से वीआईपी रोड में लगा जाम!

दरभंगा: ट्रैफिक के एक सिपाही की लापरवाही से बुधवार की दोपहर करीब तीन बजे वीआईपी रोड पर दोन…