Home Featured अपराधी बन खुद को पकड़ने का पुलिसकर्मियों को एसएसपी ने दिया टास्क, नाकाम होने वाले निलंबित।
June 21, 2021

अपराधी बन खुद को पकड़ने का पुलिसकर्मियों को एसएसपी ने दिया टास्क, नाकाम होने वाले निलंबित।

देखिये वीडियो भी।

देखिये वीडियो भी👆

दरभंगा: शहर को अपराध मुक्त बनाने के लिए सोमवार को दरभंगा के वरीय पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) बाबूराम ने फिल्मी अंदाज में सिविल ड्रेस में बाइक से निकलकर शहर में कई जगहों का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने शहर की नाकेबंदी एवं अपराधियों को पकड़ने को लेकर पुलिस की तैयारी की परीक्षा ली। उन्होंने वायरलेस के माध्यम से शहर के सभी थानों को दो बाइक एवं उस पर सवार लोगों का हुलिया बताकर उन्हें पकड़ने का निर्देश दिया। इसके कुछ ही देर बाद वे स्वयं सादे कपड़ों में बाइक पर सवार होकर शहर में निकले। इस दौरान उन्होंने देखा कि कुछ टीमों के द्वारा अच्छा काम किया जा रहा है। उन्होंने उनकी बाइक को पकड़ लिया। वहीं, कुछ थाने की टीम सुस्त नजर आई। उन्होंने बताया कि सबसे ज्यादा लापरवाही एकमीघाट में तैनात बहादुरपुर थाने की पुलिस टीम द्वारा बरती गई। वहां एक पदाधिकारी, तीन महिला जवान व एक पुरुष जवान तैनात थे। वे लोग लापरवाह तरीके से चाय-नाश्ता करते हुए मिले। एकमीघाट पहुंचकर पांच मिनट खड़े रहने पर भी इन लोगों ने कोई ध्यान नहीं दिया। उसके बाद एसएसपी ने बुलाकर उनसे पूछताछ की। लापरवाही बरतने के आरोप में पूरी टीम को निलंबित कर दिया गया। निलंबित होने वालों में बहादुरपुर के सहायक दारोगा जीपी सिंह, सिपाही सुमन कुमारी, छाया कुमारी, आरती और विजय कुमार शामिल हैं।
उन्होंने बताया कि लहेरियासराय, कोतवाली, नगर व यूनिवर्सिटी की टीमों ने सफलतापूर्वक उन्हें रोका। परंतु मब्बी, सदर व बेंता ओपी की पुलिस सुस्त नजर आई। सबसे अच्छा काम सीआईएटी की टीमों का रहा। कई जगहों पर सीआईएटी की टीम द्वारा उन्हें रोका गया। उसके बाद एसएसपी ने ड्यूटी पर तैनात सभी पुलिस अधिकारी व थानाध्यक्ष को अपने कार्यालय के प्रांगण में बुलाया। वहां पर उन्होंने हरेक टीम की जानकारी ली। उन्होंने सीआईडी टीम में शामिल छापेमारी एवं पोस्ट पर तैनात पुलिस कर्मियों का अलग-अलग जायजा लिया। इस दौरान उन्हें जानकारी मिली कि सीआईएटी टीम द्वारा भी वाहन चेकिंग की जा रही है। इसमें कागजात वगैरह की जांच भी की जा रही है। इस पर एसएसपी ने नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि सीआईएटी का मुख्य उद्देश्य अपराध नियंत्रण करना है। उन्हें अपराध नियंत्रण के दृष्टिकोण से वाहन चेकिंग करनी है। एसएसपी ने अपराध नियंत्रण के दृष्टिकोण से चेकिंग को लेकर पुलिसकर्मियों को कई टिप्स दिए। उन्होंने कहा कि सबसे पहले वैसे वाहनों को चेकिंग के लिए रोकना है, जिस पर ट्रिपल लोडिंग युवक जा रहे हैं। उसके बाद वैसे वाहनों को रोकना है जिस पर संदिग्ध टाइप का नवयुवक जा रहा है। अगर किसी गाड़ी पर महिला और बुजुर्ग सवार हैं तो उसे अनावश्यक नहीं रोकें। एसएसपी ने शहर में लग रहे जाम का भी पुलिस अधिकारियों से जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि जिन जगहों पर अवैध पार्किंग की जा रही है वहां सख्त से सख्त कार्रवाई करें। अक्सर देखा जाता है कि केवल पांंच सौ रुपये का चालान काटकर वाहन चालक को छोड़ दिया जाता है। वैसे वाहनों के सभी कागजात को चेक कर फाइन काटना है।

Share

Check Also

19 से 25 मनेगा संस्कृत सप्ताह, पांच विशिष्ट विद्वान होंगे सम्मानित, छात्र भी होंगे पुरस्कृत।

दरभंगा: संस्कृत विश्वविद्यालय में 19 से 25 अगस्त तक संस्कृत सप्ताह का आयोजन होगा। इस दौरान…