Home Featured एकबार फिर रणक्षेत्र बना डीएमसीएच, पारा मेडिकल छात्रों एवं सुरक्षा गार्ड के बीच जमकर हुई झड़प। 
3 weeks ago

एकबार फिर रणक्षेत्र बना डीएमसीएच, पारा मेडिकल छात्रों एवं सुरक्षा गार्ड के बीच जमकर हुई झड़प। 

दरभंगा: डीएमसीएच के जूनियर डॉक्टरों एवं पारा मेडिकल छात्रों की दादागिरी कोई नयी बात नहीं है। बस कभार दादागिरी का रूप परिवर्तित हो जाता है। अक्सर बाहरी लोगों पर अपनी धौंस झाड़ने वाले और मारपीट तक कर लेने वाले इन छात्रों की शुक्रवार को डीएमसीएच के सुरक्षा गार्डों से ही जमकर झड़प हो गयी। स्थानीय स्टाफ भी सुरक्षा गार्ड को सही बताते हुए उन्ही के समर्थन में खड़े दिखे। अंततः डीएमसीएच अधीक्षक डॉ हरिशंकर मिश्रा ने पहुंच कर दोनों पक्षों से वार्ता कर मामले को शांत करवाया।

घटना के सम्बंध में बताया जाता है कि शुक्रवार को ओपीडी एवं इमरजेंसी में मरीजों की काफी भीड़ थी। एक ओपीडी में मरीजों को देख रहे डॉक्टर ने भीड़ ज्यादा हो जाने के कारण तत्काल किसी को अंदर न आने देने का निर्देश वहां खड़े सुरक्षा गार्ड को।दिया। गार्ड सभी मरीजों को रुकने एवं लाइन में लगे रहने का अनुरोध कर रहे थे। तभी एक पारा मेडिकल छात्र अपने किसी परिजन को डॉक्टर से दिखाने लाइन की परवाह किये बिना जाने लगा। गार्ड ने उन्हें रोकते हुए डॉक्टर के निर्देश के विषय मे बताया। उक्त पारा मेडिकल छात्र ने न ही एप्रोन पहना था और न ही आई कार्ड उनके पास था। गार्ड के रोकने पर पारा मेडिकल छात्र का गुस्सा सातवें आसमान पर चला गया। उसने तुरंत हॉस्टल फोन करके अपने साथियों को बुला लिया और हंगामा करने लगे। साथ ही ओपीडी सेवा को भी ठप्प करने का प्रयास करने लगे।

घटना की सूचना ओडी इंचार्ज प्रमोद पाठक ने तुरंत डीएमसीएच अधीक्षक को दी। अधीक्षक हरिशंकर मिश्रा ने पहुंचकर दोनों पक्षों से बात करके मामले को खत्म करवाया। हालांकि उन्होंने गलती पारा मेडिकल छात्र की ही बताया।

Advertisement

डॉ मिश्रा ने कहा कि सुरक्षा गार्ड डॉक्टर द्वारा निर्देश का पालन करते हुए अपनी ड्यूटी कर रहे थे। यदि उसने छात्र को रोका तो कोई गलत कार्य नहीं किया। कभी कभी दलाल टाइप के लोग भी पारा मेडिकल बनकर अंदर चले जाते हैं। इसलिए पारा मेडिकल छात्र या नर्स आदि को एप्रोन पहनकर एवं आईकार्ड लगाकर रखना चाहिए। फिर भी यदि कोई दिक्कत हुई तो छात्रों को उनसे संपर्क करना चाहिए। किसी भी हाल में कानून अपने हाथ मे लेने का अधिकार किसी को नही है।

Share

Check Also

पार्षदों के आंदोलन के बाद कचरा उठाव टैक्स में हुआ बदलाव।

दरभंगा: वार्ड पार्षदों के आंदोलन के बाद दरभंगा नगर निगम द्वारा कचरा उठाव टैक्स में बदलाव क…