Home Featured इग्नू द्वारा नशामुक्ति पर राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन।
2 weeks ago

इग्नू द्वारा नशामुक्ति पर राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन।

दरभंगा: अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर इग्नू द्वारा संपूर्ण भारत में मनाए जा रहे योग महोत्सव के तहत इग्नू क्षेत्रीय केन्द्र, दरभंगा तथा इसके अंतर्गत 10 जिलों के इग्नू विद्यार्थी सहायता केन्द्रों के संयुक्त तत्वावधान में युवा वर्ग नशा से कैसे बचें, विषयक ऑनलाइन राष्ट्रीय सेमिनार आयोजित किया गया।

इग्नू, दरभंगा के क्षेत्रीय निदेशक डा शंभू शरण सिंह की अध्यक्षता में आयोजित संगोष्ठी में मुख्य अतिथि के रूप में योगगुरु आर बी ठाकुर, विशिष्ट अतिथि योगाचार्य रोशन उपाध्याय, प्रो कमलेश कुमार, सहायक निर्देशक डा राजीव कुमार, डा आर एन चौरसिया, सहायक कुलसचिव राजेश कुमार शर्मा, डा अनिल कुमार, डा हेमामालिनी, डा रागिनी, तथागत बनर्जी, डा शिशिर कुमार झा, संजीव कुमार, प्रो सैयद अपशाह, प्रभा शंकर सिंह, शैलेंद्रनाथ तिवारी, अमरजीत, उज्ज्वल, सुरेंद्र, शशि शेखर, कस्तूरी, जगमोहन, ललन, मोहित लाल, मृगेंद्र, राजीव, पल्लवी, मुकेश, मदन मोहन, ई रत्नेश सिंह व मोहन लाल सहित 70 से अधिक व्यक्तियों ने भाग लिया।

Advertisement

अपने संबोधन में डॉ. शंभू शरण सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 में युवाओं पर विशेष ध्यान दिया गया है, ताकि उनमें आदर्श चरित्र, राष्ट्रीय तथा समाजसेवा आदि की भावना का समुचित विकास हो सके। नशापान युवा पीढ़ी को बर्बाद कर रहा है, जिससे वे दिग्भ्रमित भी हो रहे हैं। युवा दूसरे से प्रभावित हो अपना कर्तव्यबोध भूलकर किसी दबाव या डिप्रेशन में नशापान करते हैं, जिससे उन्हें सही- गलत का ध्यान नहीं रह पाता। उन्होंने अभिभावकों से अपने बच्चों को बचपन से ही अच्छे- बुरे की व्यावहारिक सीख देने की अपील करते हुए कहा कि सही परवरिश, काउंसलिंग, योगाभ्यास, धार्मिक, सामाजिक व शैक्षणिक रूप से युवा को सक्रिय रखकर उन्हें नशापान से रोका जा सकता है। आज समाज को नशापान से बचाने के लिए सामूहिक प्रयास की जरूरत है।

योगगुरु आर बी ठाकुर ने कहा कि निरंतर योगाभ्यास, दृढ़ इच्छाशक्ति तथा सुसंगति से नशापान से मुक्ति संभव है।

योग हमें सकारात्मक बनाता है, परंतु नशापान अपराधी प्रवृत्ति को बढ़ाता है। नशापान सामाजिक व्यवस्था, स्वास्थ्य के साथ ही आर्थिक स्थिति को भी खराब करता है। नशाखोरी एक सामाजिक अभिशाप है जो युवाओं के साथ ही पूरे समाज को खोखला कर रहा है।

Share

Check Also

पार्षदों के आंदोलन के बाद कचरा उठाव टैक्स में हुआ बदलाव।

दरभंगा: वार्ड पार्षदों के आंदोलन के बाद दरभंगा नगर निगम द्वारा कचरा उठाव टैक्स में बदलाव क…