Home Featured रसायनशास्त्र विभाग और प्रभात दास फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में सेमिनार आयोजित।
1 week ago

रसायनशास्त्र विभाग और प्रभात दास फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में सेमिनार आयोजित।

दरभंगा: लनामि विवि के पीजी रसायनशास्त्र विभागाध्यक्ष प्रो. प्रेम मोहन मिश्रा ने कहा कि प्रकृति के पास इतना संसाधन है कि लोग उसका उपयोग कर खुशीपूर्वक रह सकते हैं। परंतु आदमी के लालच ने प्रकृति का अनावश्यक दोहन कर उसके अस्तित्व पर खतरा पैदा कर दिया है जो भविष्य के लिए खतरनाक होता जा रहा है।

ये बातें उन्होंने गुरुवार को रसायनशास्त्र विभाग और प्रभात दास फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सेमिनार में कहीं। उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में जो कुछ भी है जंतु, पेड़-पौधे, वनस्पति आदि सभी प्रकृति की देन है। मानव निर्मित जो वस्तुएं हैं जैसे स्टील, प्लास्टिक आदि भी प्राकृतिक संसाधनों से ही बनती हैं। वर्तमान में प्रकृति के अस्तित्व पर खतरा पैदा हो गया है इसीलिए इस वर्ष का मुख्य विषय रखा गया है ‘जीवन व ग्रहों को बनाए रखने के लिए वन एवं आजीविका’। उन्होंने कहा कि रसायन विज्ञान सिर्फ प्रयोगशालाओं एवं उद्योग तक सीमित नहीं है। प्रकृति की सारी गतिविधियां रासायनिक प्रतिक्रिया ही हैं। पेड़-पौधे में प्रकाश संश्लेषण, जंतुओं के भोजन का पाचन, लोहे पर जंग लगना, दूध से दही बनना आदि सभी रासायनिक क्रियाएं हैं।

Advertisement

मुख्य वक्ता विभाग के वरीय शिक्षक डॉ. समद अंसारी ने विभिन्न प्राकृतिक घटनाओं के भीतर होने वाला रासायनिक गतिविधियों की विस्तार से चर्चा की । प्राकृतिक वस्तुओं में मिलने वाले रसायनों एवं उसके उपयोग से होने वाले लाभ तथा अति उपयोग से होने वाली हानियों को भी रेखांकित किया। विभागीय छात्र-छात्राएं सृष्टि मिश्रा, आदिति कुमारी, सुप्रीता झा, रजनी झा, माधव कुमार व रिषि कुमार ने मौखिक तथा आकांक्षा कुमारी ने पोस्टर से प्रकृति में होने वाली रासायनिक क्रियाओं को रोचक ढंग से प्रस्तुत किया। समारोह की अध्यक्षता विभागाध्यक्ष प्रो. प्रेम मोहन मिश्रा ने की। मुख्य अतिथि पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. कुमोद कुमार झा ने प्रकृति की महत्ता पर प्रकाश डाला। प्रारंभ में डॉ. विकास कुमार सोनू ने अतिथियों का स्वागत किया। प्रो. कुशेश्वर यादव ने कहा कि प्रो. मिश्रा के आने से विभाग की शैक्षणिक गतिविधियां काफी बढ़ गई हैं जो अन्य विभागों के लिए अनुकरणीय है। उन्होंने अतिथियों एवं सहभागियों को धन्यवाद ज्ञापित किया। समारोह का संचालन डॉ. अभिषेक राय ने किया। मौके पर शोध छात्र पवन कुमार सादा, नवनीत कुमार, महारानी कल्याणी कॉलेज के रसायन विभागाध्यक्ष डॉ. अंजनी कुमार चौधरी, शशि शेखर झा, नीलांबर चौधरी कॉलेज, बेनीपट्टी के एसके लाभ आदि भी उपस्थित थे

Share

Check Also

डीएसपी ने विश्वविद्यालय थानाध्यक्ष से मांगी दो भूमाफियाओं की जानकारी।

दरभंगा: दरभंगा शहर भूमाफियाओं के चंगुल में पूरी तरह जकड़ा हुआ है। जगह जगह तालाब भरकर बेच दि…