Home Featured राजनीति का मतलब सिर्फ़ व्यक्तिगत हित, स्वार्थ और सत्ता को लूटना है: गोपालजी ठाकुर।
August 9, 2022

राजनीति का मतलब सिर्फ़ व्यक्तिगत हित, स्वार्थ और सत्ता को लूटना है: गोपालजी ठाकुर।

दरभंगा: बिहार में जनता के जनादेश का गला घोंटा गया है। बिहार में पुनः राजनीतिक तमाशा शुरू होने जा रहा है। दुर्भाग्य है कि इसकी पटकथा में रोज़गार, उद्योग, शिक्षा, शिक्षक, छात्र, स्वास्थ्य नहीं होगा। इसमें बिहार के विकास और उसके गौरव, मान-अभिमान को लेकर कोई बात नही होगी। यहाँ राजनीति का मतलब सिर्फ़ व्यक्तिगत हित, स्वार्थ, सत्ता को लूटना है।

उपरोक्त बातें दरभंगा के सांसद गोपालजी ठाकुर ने मंगलवार को प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कही हैं। सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार की जनता द्वारा 2020 में दिए गए जनादेश के साथ विश्वासघात किया है। 2020 में बिहार में एनडीए गठबंधन को बिहार की जनता ने जनादेश दिया था, जिस गठबंधन में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी थी। इसके बावजूद बीजेपी ने गठबंधन धर्म का पालन करते हुए नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया था। सांसद ने कहा की आरजेडी और कांग्रेस के साथ इस तरह का बेमेल गठबंधन पूर्व में हो चुका है जिसका हश्र बिहार की जनता पूर्व में देख चुकी है। पुनः यह गठबंधन होना बिहार की जनता और विकास के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है, जो आने वाले दिनों में जल्द प्रदर्शित हो जाएगी। उन्होंने कहा की यह गठबंधन ज्यादा दिन तक चलने वाला नही है और बिहार की जनता इन ठगों को सबक सिखाएगी। बिहार की जनता कभी इन्हे माफ नहीं करेगी।

Advertisement

सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि बिहार में एक बार फिर जंगल राज की स्थापना होने की आहट से बिहार की जनता में डर और भय का माहौल व्याप्त होना शुरू हो चुका है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को जो इज्जत सम्मान एनडीए ने दिया, वह मान सम्मान महागठबंधन में कभी नही मिल सकता है।

सांसद डॉ ठाकुर ने कहा कि नीतीश कुमार ने अपनी विश्वसनीयता खो दी है। उन्होंने कहा कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया जाए और नए जनादेश के लिए विधानसभा चुनाव कराया जाना चाहिए।

Share

Check Also

विभिन्न मामलों में फरार चल रहे 6 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

दरभंगा: बहेड़ा थाना की पुलिस ने बीती रात विभिन्न कांड में फरार चल रहे आरोपियों को अलग-अलग …