Home Featured दरभंगा-समस्तीपुर रेल खंड पर परिचालन शीघ्र : डीएम
4 weeks ago

दरभंगा-समस्तीपुर रेल खंड पर परिचालन शीघ्र : डीएम

दरभंगा : जिलाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एसएम ने कहा कि बाढ़ का पानी धीरे-धीरे निकलने लगा है। दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड पर रेल का परिचालन दो से तीन दिनों में पुनः प्रारंभ हो जाने की संभावना है। उन्होंने बताया कि मंडल रेल प्रबंधक, समस्तीपुर से उनकी वार्त्ता हुई है।

गौरतलब है कि बाढ़ का पानी रेल पटरियों के किनारे तक पहुँच जाने के चलते इस रेल खंड पर रेलो का परिचालन विगत तीन दिनों से बंद है। वे कार्यालय प्रकोष्ठ में बाढ़ राहत एवं बचाव के संदर्भ में मीडिया प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने बताया कि जिला के कुल 211 पंचायत बाढ़ से प्रभावित है, जिसमें 179 पूर्ण एवं 32 में आंशिक प्रभाव है। बाढ़ से जिला के 4,41,127 परिवार प्रभावित हुए है। उन्होंने बताया कि तारडीह, अलीनगर, गौड़ाबौराम, घनश्यामपुर, कुशेश्वरस्थान, कुशेश्वरस्थान पूर्वी प्रखण्ड पूर्ण रूपेण बाढ़ से प्रभावित है। बाढ़ प्रभावित परिवारों को जिला प्रशासन द्वारा हर संभव सहायता पहुँचाया जा रहा है। बाढ़ से घिरे गाँव/टोलों में 500 से अधिक स्थलों पर सामुदायिक रसोई चलाकर बाढ़ प्रभावित लोगों को पका हुआ खाना खिलाया गया। यह काम अभी भी जारी है। आज की तिथि में 333 स्थलों पर सामुदायिक रसोई चलाया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में स्थिति सामान्य हो गयी है वहाँ पूर्व सूचना देकर सामुदायिक रसोई बंद किया गया है। बंद करने से पूर्व जन प्रतिनिधियों से भी विचार-विमर्श किया गया है। उन्होंने कहा कि दरभंगा जिला में अन्य जिलो की अपेक्षा ज्यादा संख्या में सामुदायिक रसोई चलाया गया है। इसमें स्कूल भवन, बाँध, आँगनवाड़ी केन्द्र आदि पर सामुदायिक रसोई का संचालन शामिल है।
वहीं जहाँ सामुदायिक रसोई का संचान करना संभव नही हो सका वहाँ के लोगों के बीच सूखा राशन पैकेट वितरित किया गया। इसके साथ ही वायुसेना के हेलीकॉप्टर से भी बाढ़ प्रभावित गाँव/टोलों में फूड पैकेट्स गिराया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि बाढ़ के पानी में डूबने से अबतक 14 लोगों की मृत्यु हुई है जिनके निकटतम परिजनों को 04-04 लाख रूपया अनुग्रह अनुदान का भुगतान करने की कार्रवाई की गई है।
जिलाधिकारी ने कहा कि बाढ़ प्रभावित सभी परिवारों का सर्वेक्षण कार्य तेजी से किया जा रहा है। अबतक 2,33,000 परिवारों को 06-06 हजार रूपया नगद सहायता राशि सीधे उनके बैंक खाते में भेज दी गई है। यह राशि 139 करोड़ 80 लाख है। उन्होंने कहा कि बाकी बचे बाढ़ प्रभावित परिवारों के खाते में भी 15-20 दिनों के अंदर 06-06 हजार रूपया भेज दिया जायेगा। छूटे हुए बाढ़ पीड़ित परिवारों का फिल्ड सर्वेक्षण तेजी से किया जा रहा है। किसी भी योग्य लाभार्थी का नाम सूची में छोड़ा नही जायेगा और गलत लोगों का नाम सूची में नही जुडे़गा। अगर एक ही परिवार के एक से अधिक व्यक्तियों ने सूची में अपना नाम जुड़वाकर राशि प्राप्त कर लिये है तो उनके विरूद्ध धोखाधाड़ी का मुकदमा भी दर्ज होगा और उनसे अधिकाई राशि वसूलने की कर्रवाई की जायेगी। उन्होंने बताया कि शहरी सुरक्षा बाँध पर कोई खतरा नहीं है। जल संसाधन विभाग के अधिकारी इस बाँध पर पूरी निगरानी रखे हुए है।
उन्होंने बताया कि बाढ़ सहायता अनुदान का वितरण आपदा प्रबंधन विभाग के प्रावधानों के अनुसार ही किया जायेगा। बाढ़ से क्षतिग्रस्त भवनों का सर्वेक्षण कार्य प्रारंभ हो गया है, कृषि क्षति का सर्वेक्षण भी किया जा रहा है। नगर निगम क्षेत्र में बाढ़ सर्वेक्षण कार्य नगर निगम, दरभंगा द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बाढ़ से क्षतिग्रस्त ग्रामीण पथो एवं पी.डब्लू.डी. के पथों की तुरंत मरम्मति करने का निदेश संबंधित अभियंताओं को दिया गया है।
जिलाधिकारी ने कहा कि बाढ़ अपदा राहत कार्य में किसी भी स्तर पर शिथिलता या लापरवाही बरतने पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। सामुदायिक रसोई का संचालन नही करने के चलते अबतक 05 स्कूलों के प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया गया है। एक प्रखण्ड साधन सेवी को पदमुक्त करने की कार्रवाई की गई है। एक अंचलाधिकारी से प्रभार ले लिया गया है। 03 पी.डी.एस. डीलरों के अनुज्ञप्ति रद्द करने की कार्रवाई की गई है।
जिलाधिकारी ने कहा कि बाढ़ आपदा के समय राहत एवं बचाव कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दिया जा रहा है इसमें थोड़ी भी लापरवाही बर्दाश्त नही की जायेगी।
बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में फूड सिक्यूरिटी एवं सोशल सिक्यूरिटी दोनों का ख्याल रखा जा रहा है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लाभार्थियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन का भुगतान तेजी से किया जा रहा है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मेडिकल टीम द्वारा लगातार कैंप लगाकर बीमार लोगों की चिकित्सा की जा रही है। वहीं बाढ़ से विस्थापित पशुओं के लिए चारा एवं बीमार पशुओं की चिकित्सा एवं टीकाकरण कार्य किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने बताया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के पशुपालकों के बीच अबतक 719 क्विंटल भूसा वितरित किया गया है।

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

मॉर्निंग वॉक पर निकले राजद नेता को अपराधियों ने मारी गोली, हालत गम्भीर।

दरभंगा: जिला अंतर्गत केवटी थाना क्षेत्र के बिरखौली गांव निवासी राजद नेता एवं जीवन बीमा के …