Home Featured नेहरू युवा केन्द्र के नवचयनित स्वयंसेवकों ने चयन निरस्त करने के विरुद्ध डीएम से लगाई गुहार।
August 6, 2019

नेहरू युवा केन्द्र के नवचयनित स्वयंसेवकों ने चयन निरस्त करने के विरुद्ध डीएम से लगाई गुहार।

देखिये वीडियो भी।

देखिये वीडियो भी👆

दरभंगा: मंगलवार को नेहरू युवा केंद्र के नवचयनित स्वयंसेवको ने जिलाधिकारी के पास नवचयनित स्वयंसेवक के चयन क्रियान्वयन पर लगे रोक को निरस्त कराने तथा नामित पदाधिकारी अपर समाहर्ता की संदिग्ध भूमिका की जांच कराने संबंधी ज्ञापन सौंपा। आवेदन में नवचयनित स्वंयसेवकों ने बताया है कि एक प्रतिष्ठित दैनिक अखबार में दिनांक 06.08.2019 को प्रकाशित समाचार से हम 38 नवचयनित स्वयंसेवक अपमानित महसूस कर रहे हैं। क्योंकि उक्त योजना के तहत राष्ट्र निर्माण और समाज सेवा कर अच्छा नागरिक बनना चाहते हैं। पर शुरुआत से ही हमें जलील किया जा रहा है। हमारा चयन विधिवत हुआ है तथा कार्यकाल 31.03 .2020 तक है। गलत सूचना देकर जिलाधिकारी को भ्रमित किया गया है जिसकी सूचना हम लोग जिलाधिकारी को देना चाहते हैं और न्याय की प्रार्थना करते हैं। आवेदन में मुख्य रूप से बिंदुओं को उधृत करते हुए बताया है कि जिलाधिकारी द्वारा नामित पदाधिकारी अपर समाहर्ता ने साक्षात्कार की तिथि और स्थान तय किया और 15.07. 2019 समाहरणालय में साक्षात्कार कराया। 24.07.2019 को सम्मानित सभी प्रतिभागी को चयन समिति द्वारा तैयार एवं हस्तांतरित मेधा सूची सार्वजनिक किया। इसके बाद 31.07. 2019 तक आपत्ति की जांच कर अनुमोदन करना था। पर बगैर जांच किए खबर फैला दिया गया कि जांच किया गया, लेकिन अवधि के दौरान कोई भी जांच नहीं हुआ।
साथ ही आवेदकों ने बताया कि नामित पदाधिकारी अपर समाहर्ता द्वारा चयन गाइडलाइन एवं अन्य पत्राचार का अवलोकन नहीं किया गया। चयन के दिन ही रिजल्ट देना था। इन्होंने युवा कार्य एवं लघु खेल मंत्रालय भारत सरकार की स्वयंसेवक चयन कार्य का महत्व नहीं दिया।
साथ ही शिकायत करने वालो के विषय मे बताते हुए आवेदकों ने बताया कि शिकायतकर्ता के पीछे वही लोग हैं जो गत सत्र में नेहरू युवा केंद्र में स्वयंसेवक रहा है। चयन में इनके आदमी का इस नहीं होने के कारण गलत भ्रामक दुष्प्रचार किया गया है। एक शिकायतकर्ता मोहन कुमार यादव की पत्नी रंजू कुमारी गत वर्ष कार्य की थी। बल्ली कुमारी की बड़ी बहन घुंघरू कुमारी गत वर्ष स्वयंसेवक थी। इस वर्ष भी छोटी बहन को स्वंयसेवक बनाने की दवाब बनाया। पशुपति पासवान गत वर्ष स्वयंसेवक था इस वर्ष अपने पांच लोगों को बनाना चाह रहा था। नहीं होने पर झूठा शिकायत करवाया।
उक्त बिंदुओं पर ध्यान आकृष्ट करवाते हुए आवेदकों ने जिलाधिकारी से गुहार लगायी है कि उपरोक्त चयन के संदर्भ में 18 प्रखंड में दो-दो कुल 38 चयन राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक को कार्य करने की अनुमति दिया जाए, तथा जिन लोगों के कारण नवचयनित स्वयंसेवकों को बदनाम किया गया, उनकी भूमिका की जांच करायी जाय।
आवेदन देने पहुँचे नवचयनित स्वयंसेवकों में वीरेंद्र कुमार, प्रदीप कुमार राय, संतोष कुमार यादव, विवेक कुमार ,शंकर कुमार, करण कुमार, राहुल कुमार आदि शामिल थे।

Share

2 Comments

  1. Voice of Darbhanga is one of most helpful channel that always show really event and also listen to public voice honestly so finally I would like to say that this channel is voice of the public of Darbhanga specially.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

नगर विधायक से स्वजातीय भाईचारा निभाने या मेयर की कुर्सी बचाने केलिए चुप हैं खेड़िया?: विमलेश।

दरभंगा: दरभंगा में इन दिनों घटना पर घटना ही रही है और पुलिसिंग ध्वस्त सी दिख रही है। साथ ह…