Home Featured मेट्रो अस्पताल में युवक के मिले शव मामले में दर्ज हो हत्या की प्राथमिकी: इंसाफ मंच।
August 10, 2019

मेट्रो अस्पताल में युवक के मिले शव मामले में दर्ज हो हत्या की प्राथमिकी: इंसाफ मंच।

देखिये वीडियो भी।

देखिये वीडियो भी👆
दरभंगा: लहेरियासराय थाने क्षेत्र के दारुभट्टी चौक स्थित मेट्रो अस्पताल में 27 जुलाई 2019 को फंदा से झूलते हुए शव बरामद मामले में इंसाफ मंच ने शनिवार को पोलो ग्राउंड में धरना दिया और एसएसपी को ज्ञापन सौंपा। धरना का नेतृत्व करते हुए मंच के प्रदेश उपाध्यक्ष नेयाज अहमद ने कहा कि इस मामले में हत्या की प्राथमिकी दर्ज होनी चाहिए। डीआइजी के आदेश के बाद भी प्राथमिकी दर्ज नहीं होना दुखद है। लेकिन, स्थानीय पुलिस पदाधिकारी और अस्पताल प्रबंधन मिलकर इस मामले को आत्महत्या करार देने में लगे हैं। जबकि, यह हत्या का मामला है। वीडियो फुटेज से यह स्पष्ट है। अब इस मामले में मृतक कमतौल थाने क्षेत्र के बरिऔल गांव निवासी कलीमुल्लाह अंसारी के पुत्र रफीउल्लाह अंसारी उर्फ राजू (22) के परिवार वालों से धमकी देकर आत्महत्या लिखवा लेना चाहते हैं। पूरे मामले की जांच कराने और मृतक परिवार को इंसाफ देने की मांग की है। कहा कि शव ऊपर की जगह नीचे फर्श पर लटका हुआ मिला। शव के पास एक प्लास्टिक की लाल रंग की कुर्सी और कागजातों से भरा कम ऊंचाई वाली एक टेबल यथावत पाई गई है। मृतक के बाएं पांव में जूता पाया गया है जबकि, दायां पांव का जूता बगल स्थित कुर्सी के नीचे पाया गया। मृतक का बायां पांव टेढ़ा अवस्था में लाल कुर्सी पर लटका पाया गया है। यह हत्या की प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पर्याप्त साक्ष्य है। सभा की अध्यक्षता लक्ष्मण पासवान ने की। सभा को जिला सचिव डॉ. लक्ष्मण पासवान, प्रो. युसुफ कमाल, मो. कुर्बान, रसीदा खातून, माले नेता अशोक पासवान, शिवन यादव व जयराम यादव ने संबोधित किया। कहा कि बढ़ते अपराध, मेट्रो हॉस्पिटल में हुई हत्या पर पुलिसिया निष्क्रियता व अपराधियों को मिल रहे संरक्षण के खिलाफ अगर कार्रवाई नहीं हुई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। महिला, सिंहवाड़ा, सदर, लहेरियासराय सिमरी, मनीगाछी थाना कांड विभिन्न कांडों के आरोपितों की गिरफ्तारी व लहेरियासराय थाना कांड संख्या 103/17 में फंसाए गए निर्दोष लोगों को दोषमुक्त करने और कमतौल थाना कांड संख्या 38/18 में आरोप पत्र समर्पित करने सहित हत्या से संबंधित सिंहवाड़ा थाना कांड संख्या 83/19 में पुलिस उपाधीक्षक के पर्यवेक्षण में हटाए गए आरोपितों के नाम को जोड़ने की मांग की। धरना में अशोक पासवान, रसीदा खातून, उमेश प्रसाद साह, कैलाश पासवान, मो सज्जाद, मो वसी अहमद, शिवन यादव, ऐपवा जिला सचिव शनीचरी देवी, शत्रुध्न पासवान, सत्य नारायण महासेठ आदि शामिल थे।

Share

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

नगर विधायक से स्वजातीय भाईचारा निभाने या मेयर की कुर्सी बचाने केलिए चुप हैं खेड़िया?: विमलेश।

दरभंगा: दरभंगा में इन दिनों घटना पर घटना ही रही है और पुलिसिंग ध्वस्त सी दिख रही है। साथ ह…