Home Featured बेहतर भविष्य का झांसा दे नाबालिग को दी अमानवीय यातनाएं, सिटी एसपी ने दिया न्याय का भरोसा।
August 20, 2019

बेहतर भविष्य का झांसा दे नाबालिग को दी अमानवीय यातनाएं, सिटी एसपी ने दिया न्याय का भरोसा।

देखिये वीडियो भी।

देखिये वीडियो भी👆
दरभंगा: बिन माँ की बच्ची को पहले दया दिखायी और फिर बेहतर भविष्य के नाम पर ले जाकर दी अमानवीय यातनाएं। यातनाएं भी ऐसी जैसे कभी किसी जमाने मे बंधुआ मजदूरों को उसके खरीदारों के द्वारा देने की बात किस्सों कहानियों में सुनते हैं। ऐसा एक मानवता को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है दरभंगा में।
दरभंगा की नाबालिग लड़की को बेहतर भविष्य का झांसा देकर दिल्ली ले जाने और फिर उसे अमानवीय यातनाएं दिए जाने का एक गम्भीर मामला सामने आया है। बात बात पर गर्म लोहे से दागने और चाकू से जख्म देने का अमानवीय कृत सहने के बाद अब नाबालिग लड़की और उनके परिजन न्याय की गुहार लगाते फिर रहे हैं। फिलहाल मामले में सिटी एसपी ने गंभीरता से संज्ञान लेते हुए दोषियों पर कड़ी करवाई की बात कही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बहादुरपुर थाना क्षेत्र के बरहेता निवासी लालबाबू की नाबालिग पुत्री के साथ यह अमानवीय घटना घटी है। उसके शरीर पर जख्म के निशान अभी भी साफ दिख रहे हैं।
दरअसल पीड़िता के माँ का देहांत हो जाने के बाद उनके पिता अपनी बेटी अंगूरी के बेहतर भविष्य केलिए चिंतित रहने लगे। इसी बीच अंगूरी की माँ जिनके यहां काम करती थी, वह अंगूरी के बेहतर भविष्य की बात करते हुए वह अंगूरी को अपने साथ दिल्ली लेकर चली गयी। जब अंगूरी एक साल बाद लौटी तो उसके शरीर और चेहरे पर जख्मो के कई निशान दिखे। इसके बाद पीड़िता के पिता महिला थाना में आवेदन देकर इंसाफ की गुहार लगा रहे हैं।
पीड़िता अंगूरी ने अपना दर्द बयान करते हुए कहा कि वे लोग छोटी छोटी बात पर बेरहमी से पिटाई करते थे। एक बार बोतल का पानी पी लेने पर मैडम ने बुरी तरह पीटा। इतने से ही गुस्सा ठंढा नही हुआ तो गैस चूल्हा पर छोलनी गर्म करके संवेदनशील अंगों को जला दिया। एकबार फेसवाश लगा ली तो उसके दोनों गाल चाकू से जख्मी कर दिए जिसका निशान आज भी पीड़िता के चेहरे पर मौजूद है। कई बार तो पोछा सही से नही लगाने के कारण जूतों से मार मार कर जख्मी कर दिया जाता था। अंगूरी ने बताया कि वे लोग उसे कमरे में बन्द करके रखते थे और बाहर निकलने नही देते थे। किसी तरह उसके पिता को यातनाओं की खबर लगी तो उन्होंने वापस बुला लिया।
पीड़िता के पिता लालबाबू ने बताया कि लहेरियासराय थानाक्षेत्र के लोहिया चौक निवासी मो0 लड्डन के यहां उनकी पत्नी चौका बर्तन करती थी। उनके पत्नी की मौत के बाद लड्डन की पत्नी पिंकी खातून उनके घर आकर अंगूरी के बेहतर भविष्य की बात की। पिंकी खातून ने कहा कि अंगूरी उनलोगों के साथ रहेगी तो उसकी पढ़ाई लिखाई से शादी तक वे लोग करवाएंगे। गरीब परिवार में रहने के कारण अंगूरी के परिजनों ने सहमति भर दी। इसतरह 25 अगस्त 2018 को पिंकी अंगूरी को अपने साथ लेकर दिल्ली चली गयी। कुछ दिनों तक पिंकी ने अंगूरी को अपने पास रखा और फिर बिना अंगूरी के परिजन से पूछे उसे मधुबनी में रह रहे अपने रिश्तेदार जकीउर रहमान की पत्नी रिंकी खातून के हवाले कर दिया। कुछ दिन मधुबनी में रहने के बाद रिंकी अंगूरी को दिल्ली के सलीम बाग लेकर चली गयी, जहां उसके साथ क्रूरतापूर्वक अमानवीय व्यवहार होने लगा। इसकी जानकारी मिलने पर लालबाबू ने लड्डन से अपनी बेटी वापस मांगने को कहा। इसपर 13 अगस्त को लड़की को घर के निकट पहुँचाकर भाग गया।
इस पूरे मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए सिटी एसपी ने योगेंद्र कुमार ने कहा कि ये मामले अभी उनके संज्ञान में आया है। मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं। पीड़िता का मेडिकल भी कराया जाएगा और न्यायालय के समक्ष बयान भी कराया जाएगा। इस मामले का जल्द अनुसंधान पूरा कर दोषियों पर कड़ी कारवाई की जाएगी। वहीं मीडिया के सवाल का जवाब देते हुए सिटी एसपी ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला मानव तस्करी का नजर आ रहा है। परंतु बिना जांच कुछ भी कह पाना मुश्किल है। एकबार अनुसंधान पूरा हो जाय, फिर जो भी दोषी होंगे, उन्हें बख्शा नही जाएगा

Share

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

जिला मलेरिया पदाधिकारी ने किया हायाघाट स्वास्थ केंद्र का निरीक्षण।

हायाघाट : जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ जय प्रकाश महतो ने शनिवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र…