Home Featured पीडीएस डीलरों को पीओएस मशीन से ही करना होगा वितरण, नही चलेगा मशीन की खराबी का बहाना।
August 21, 2019

पीडीएस डीलरों को पीओएस मशीन से ही करना होगा वितरण, नही चलेगा मशीन की खराबी का बहाना।

दरभंगा: जिलाधिकारी डाॅ0 त्यागराजन एसएम ने सभी प्रखण्ड पणन पदाधिकारियों (एमओ) को नया राशन कार्ड का वितरण एक सप्ताह के अंदर लाभुक परिवारों के बीच करने का सख्त निर्देश दिया है। राशन कार्ड का वितरण कराने की जवाबदेही अनुमण्डल पदाधिकारी को सौपी गई है। उन्हें पंचायतवार रोस्टर बनाकर एमओ के माध्यम से लाभुकों को राशन कार्ड हस्तगत कराने को कहा गया है। राशन कार्ड का वितरण करने हेतु कर्मियों की उपलब्धता प्रखण्ड विकास पदाधिकारी सुनिश्चित करायेंगे। उन्होंने यह निर्देश जिला आपूर्ति टास्क फोर्स की समीक्षा बैठक में दिया है।
समीक्षा में यह तथ्य सामने आया कि जिला में कुल 63,278 नया राशन कार्ड का पीडीएफ जेनरेट हुआ है, लेकिन इसमें से मात्र 29,795 राशन कार्ड का ही वितरण किया गया है। जिलाधिकारी द्वारा इसे अत्यंत गंभीरता से लेते हुए बचे हुए अवितरित सभी राशन कार्डो को एक सप्ताह के अंदर वितरण कराने का निदेश दिया गया। उन्होंने कहा कि राशन कार्ड को डंप करके रखना अवैध है। इसे लाभुक को तुरंत हस्तगत करायी जानी चाहिए। राशन कार्ड रहने पर ही उन्हें डीलर से खाद्यान्न/किरासन तेल की आपूर्ति प्राप्त होगी।
बैठक में उपस्थित पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा भी राशन कार्ड का वितरण नही होने की बातें बताई गई। जिलाधिकारी ने राशन कार्ड का वितरण स्थानीय जनप्रतिनिधियों के समक्ष कराने को कहा है। जिलाधिकारी द्वारा आज समाहरणालय कक्ष में जिला आपूर्ति शाखा की प्रगति की बिन्दुवार समीक्षा किया गया। उन्होंने खाद्यान्न का उठाव एवं वितरण समय पर सुनिश्चित कराने का निदेश दिया है। उन्होंने कहा कि आपूर्ति विभाग में पारदर्शिता लाने हेतु सभी पी.डी.एस. बिक्रेता को पीओएस (पोस) मशीन उपलब्ध कराया गया है। पीडीएस डीलर को पीओएस मशीन से ही शत-प्रतिशत् खाद्यान्न का वितरण करनी है। लेकिन समीक्षा में पाया गया कि कतिपय पीडीएस डीलरों द्वारा पोओएस मशीन में खराबी बताकर मैन्युअली वितरण किया गया है। जिलाधिकारी ने पीओएस मशीन में किसी भी तकनीकी खराबी को तुरंत दूर करके पीओएस मशीन से ही वितरण सुनिश्चित कराने को कहा है।
जिलाधिकारी ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को यह बताने को कहा है कि एसईसीसी सर्वेक्षण डाटा के आधार पर जिला में कितने परिवारों को राशन कार्ड उपलब्ध हो पाया है। उन्होंने राशन कार्ड के पीडीएफ जेनरेशन में ध्यान देने को कहा है।
इसके पूर्व जिला आपूर्ति कार्यालय द्वारा आपूर्ति शाखा का मासिक प्रगति प्रतिवेदन पावर प्वाइंट प्रजेटेशन के माध्यम से प्रस्तुत किया गया। बताया गया कि महादलित समग्र उत्थान योजना अन्तर्गत 2647 महादलित परिवारों के लिए 605 राशन कार्ड की आवश्यकता है जिसमें से 386 राशन कार्ड का पीडीएफ जेनरेट हो गया है। जिला के कुल 1783 पीडीएस डीलरों के बीच 1085 पीओएस मशीन वितरित किया गया है एवं 502 का वितरण बाकी है। पूर्वीकता प्राप्त अन्न योजना अन्तर्गत माह अगस्त 2019 में 65,964 क्विंटल गेहूँ एवं 98,946 क्विंटल चावल का आंवटन के विरूद्ध क्रमशः 34,038 क्विंटल गेहूँ एवं 51,057 क्विंटल चाव का उठाव हुआ है, जबकि वितरण का प्रतिशत लगभग 37 है।
जिला आपूर्ति शाखा के प्रगति प्रतिवेदन में उद्धत किया गया है कि नया राशन कार्ड उपलब्ध कराने हेतु आरटीपीएस काउण्टर पर 2,10,466 आवेदन प्राप्त हुआ, जिसमें से 93,828 आवेदन स्वीकृत किया गया एवं 1,09,493 आवेदन अस्वीकृत किया गया है। स्वीकृत आवेदन के विरूद्ध 59,154 राशन कार्ड का पीडीएफ जेनरेट हो गया है और 34,674 का पीडीएफ जेनरेशन बाकी है।
रिपोर्ट में बताया गया कि RC-01 का 8,51,664 के लक्ष्य के विरूद्ध 6,86,203 आॅनलाइन इंट्री हुआ है। वहीं RC-02 का 31,28,669 के लक्ष्य के विरूद्ध 21,38,847 आॅनलाईन इंट्री किया गया है। इसमें दरभंगा सदर एवं केवटी प्रखण्डों में इंट्री का प्रतिशत् 60 से कम रहने पर नाराजगी व्यक्त किया गया। इन प्रखण्डों के एमओ से कारण पृच्छा एवं वेतन पर रोक लगाने का निदेश दिया गया है।
एलपीजी डिस्ट्रीव्यूशन की समीक्षा में बताया गया कि जिला में 4,30,040 एलपीजी के सामान्य उपभोक्ता है। वहीं 3,60,953 उज्जवला योजना से आच्छादित है और 3403 व्यवसायिक उपभोक्ता है। माह जुलाई में 3,56,934 एलपीजी सिलिडर (घरेलू) उपलब्धता के विरूद्ध 3,40,859 एलपीजी सिलिंडर (घरेलू) एवं 10,808 व्यवसायिक सिलिंडर का भी वितरण हुआ है।
जिलाधिकारी ने सभी अनुमण्डल पदाधिकारियों को घरेलू/व्यवसायिक एल.पी.जी. सिलिंडर का नियमित वितरण सुनिश्चित कराने को कहा है। ताकि किसी भी गाँव/टोलो/कस्बे में इसकी कृत्रिम कमी की स्थिति उत्पन्न न हो। हाल ही में सदर प्रखण्ड के अतिहर में एलपीजी सिलिंडर की कमी के चलते सड़क जाम की घटना के लिए एमओ को जिम्मेवार ठहराया गया और उनसे कारण पृच्छा किया गया है।
इस बैठक में सहायक समाहर्त्ता विनोद दूहन जिला आपूर्ति पदाधिकारी अजय कुमार गुप्ता, जिला प्रबंधक(एसएफसी) अभिनय भास्कर, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी सुशील कुमार शर्मा, सदर अनुमण्डल पदाधिकारी सदर राकेश कुमार गुप्ता, बिरौल अनुमण्डल पदाधिकारी बृज किशोर लाल, बेनिपुर अनुमण्डल पदाधिकारी प्रदीप कुमार झा, सभी एमओ, सभी एजीएम एवं टास्क फोर्स समिति के अन्य सदस्यगण उपस्थित थे।

Share

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

जिला मलेरिया पदाधिकारी ने किया हायाघाट स्वास्थ केंद्र का निरीक्षण।

हायाघाट : जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ जय प्रकाश महतो ने शनिवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र…