Home Featured 60 घण्टे के अंदर दरभंगा में जली यार्ड में खड़ी एक और ट्रेन, डीआरएम ने बताया शरारती तत्वों की करतूत।
September 7, 2019

60 घण्टे के अंदर दरभंगा में जली यार्ड में खड़ी एक और ट्रेन, डीआरएम ने बताया शरारती तत्वों की करतूत।

देखिये आग लगने के दौरान का वीडियो भी

देखिये आग लगने के दौरान का वीडियो भी👆
दरभंगा: दरभंगा में दो दिनों में दूसरी बार ट्रेन में लगी आग। शनिवार की सुबह दरभंगा-अहमदाबाद एक्‍सप्रेस में आग लग गई। धू-धू कर जलने लगी बोगी। इससे वहां पर अफरातफरी मच गई। घटना की जानकारी मिलते ही आनन-फानन में रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुचं गए। स्थानीय लोगों एवं रेलवे कर्मियों ने आज बुझाने का प्रयास किया। फायर बिग्रेड की गाड़ी उक्त स्थल पर पहुँचने में असफल रही। अभी इस पर कोई कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।
बता दें कि इसके पहले बुधवार की रात में बिहार संपर्क क्रांति में आग लग गई थी। हालांकि उस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ था। तब ट्रेन यार्ड में खड़ी थी।
बता दें कि बिहार के दरभंगा रेलवे स्‍टेशन पर बुधवार की देर रात बिहार संपर्क क्रांति एक्‍सप्रेस में आग लग गई थी। गनीमत थी कि ट्रेन में कोई नहीं था, क्‍योंकि ट्रेन गुरुवार की सुबह खुलनेवाली थी। उस समय दरभंगा स्टेशन स्थित यार्ड में शंटिंग के दौरान ट्रेन खड़ी थी। बिहार संपर्क क्रांति ट्रेन 12565 में आग लगने से अफरातफरी की स्थिति हो गई थी। ट्रेन के स्लीपर कोच डब्लयूजीसीएन 05210/सी धू-धूकर राख हो गई थी।
हालांकि इस पर प्रतिक्रिया देते हुए समस्तीपुर के मंडल रेल प्रबंधक अशोक महेश्वरी ने आज कहा कि पूर्व मध्य रेलवे के समस्तीपुर रेल मंडल के दरभंगा रेलवे स्टेशन के यार्ड में खड़े रेल डिब्बों में आग लगने की घटनाओं में शरारती तत्वों का हाथ है।
माहेश्वरी ने यहां रेल मंडल मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि पिछले चार सितम्बर की रात्रि दरभंगा स्टेशन के यार्ड में खड़ी बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस ट्रेन के स्लीपर कोच डब्लयूजीसीएन 05210/सी में आग लगने की घटना हुयी थी। उन्होंने बताया कि इस घटना की उच्चस्तरीय जांच करायी गयी जिसके प्रांरभिक रिपोर्ट में यह पता चला है कि इसमें किसी शरारती तत्वों का हाथ है।
मंडल रेल प्रबंधक ने बताया कि जांच कमेटी ने डिब्बे के दरवाजे को बंद पाया जबकि इसके आपातकालीन खिड़की खुली पायी गयी थी। उन्होंने बताया कि आज भी इस यार्ड में एक डिब्बे में आग लग लगने की घटना हुयी है। इस घटना को रेल प्रशासन ने गंभीरता से लिया है।
उन्होंने बताया कि पूरे मामले की जांच के लिए एडीआरएम एस.आर.मीणा और मंडल सुरक्षा आयुक्त अंशुमान त्रिपाठी समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को भेजा गया है। अधिकारियों की यह टीम दरभंगा के पुलिस एवं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों से मिलकर पिछले तीन दिनों के अंदर दो डिब्बों में लगी आग की घटना पर विस्तृत रूप से चर्चा करेंगे।

Share

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

जिला मलेरिया पदाधिकारी ने किया हायाघाट स्वास्थ केंद्र का निरीक्षण।

हायाघाट : जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ जय प्रकाश महतो ने शनिवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र…