Home Featured आइसा ने किया कुलपति का पुतला दहन।
September 11, 2019

आइसा ने किया कुलपति का पुतला दहन।

दरभंगा:बीते सोमवार को आइसा द्वारा विवि में प्रदर्शन के दौरान कुलपति अपने कार्यालय में मौजूद रहकर भी आइसा प्रतिनिधिमंडल से वार्ता नहीं करने के खिलाफ बुधवार को मिथिला विश्वविद्यालय में प्रतिरोध मार्च सह पुतला दहन का कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रतिरोध मार्च विवि धरना स्थल से विवि मुख्यालय होते हुए कुलपति चेम्बर के गेट के समीप पुतला दहन में तब्दील हो गया। जहाँ   कुलपति एसके सिंह का पुतला दहन किया गया। प्रतिरोध मार्च में छात्र नारा लगा रहे थे कि चोर कुलपति मुर्दाबाद, आंदोलनकारियों से वार्ता क्यों नहीं कुलपति जबाब दो, बनारसी ठग कुलपति वापस जाओ, यूजी-पीजी में सीट बढ़ाना होगा, दुरस्थ शिक्षा निदेशालय का स्कूल गुरु से समझौता रद्द करो, दुरस्थ शिक्षा निदेशालय में सहायक कुलसचिव की बहाली को रद्द करो आदि नारा लगा रहे थे।

पुतला दहन के बाद आयोजित सभा को संबोधित करते हुए आइसा राज्य सह सचिव संदीप कुमार चौधरी ने कहा कि 9 अगस्त को 25 सूत्री मांग को लेकर आइसा विश्वविद्यालय कमिटी के द्वारा शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया गया था। लेकिन कुलपति कार्यालय में रहकर आइसा प्रतिनिधि से वार्ता नहीं किए।
उन्होंने कहा कि कुलपति विश्वविद्यालय को दलालों का अड्डा बना दिये है और दलाली करने वालो को संरक्षण देते है। और उसी से भी वार्ता करते है। उन्होंने कहा कि वार्ता नही करने से आंदोलन दबने वाला नही है। आंदोलन और उग्र होगा। उन्होंने कहा कि अभी तो आंदोलन की कड़ी शुरू हुई है। आगे बहुत जल्द ही विवि बंद की घोषणा की जाएगी। और कुलपति को अब छात्रों के बीच आकर वार्ता करना होगा।
सभा को संबोधित करते हुए आइसा जिला अध्यक्ष प्रिंस राज ने कहा कि कुलपति को पुराना इतिहास पता नही है। पूर्व कुलपति द्वारा भी छात्र आंदोलन को कुचलने का काम किया था लेकिन मिथिला विवि के छात्र उन्हें मिथिलांचल का इतिहास को बता देने का काम किया था। और उन्हें आंदोलनकारियों से जमीन पर बैठकर वार्ता करना पड़ा था। फिर वही आंदोलन की शुरुआत मिथिला विवि में हो चुकी है। औऱ इस कुलपति को भी छात्रों के बीच जमीन पर बैठकर वार्ता करना होगा।
वहीं जिला सचिव विशाल मांझी ने कहा कि कुलपति दुरस्थ शिक्षा निदेशालय में फर्जी बहाली करते है। और जायज मांग को लेकर आंदोलन करने वाले संगठन से वार्ता नहीं करते है। जिसके कारण चारो जिला के छात्र-छात्रा आक्रोशित है। और जगह-जगह छात्र-छात्रा कुलपति का विरोध करेंगे।
वहीं आइसा राज्य कार्यकारणी सदस्य मयंक कुमार यादव ने कहा कि यूजी-पीजी में सीट बृद्धि की प्रक्रिया विवि जल्द पूरा नही करती है तो आइसा उग्र आंदोलन करेगी।
प्रतिरोध मार्च व पुतला दहन में आइसा राज्य परिषद सदस्य अनिकेत रंजन, राहुल राज, मृत्युंजय कुमार, जगदम्बा प्रसाद, राजू कर्ण, राजू कुमार झा, अमरजीत कुमार, मुकेश कुमार सहित कई छात्र शामिल थे।

Share

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

जिला मलेरिया पदाधिकारी ने किया हायाघाट स्वास्थ केंद्र का निरीक्षण।

हायाघाट : जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ जय प्रकाश महतो ने शनिवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र…