Home Featured बेलामोड़ गोलीकांड के मुख्य अभियुक्त ने कोर्ट में किया सरेंडर, पुलिस को नही लग सकी भनक!
November 13, 2019

बेलामोड़ गोलीकांड के मुख्य अभियुक्त ने कोर्ट में किया सरेंडर, पुलिस को नही लग सकी भनक!

दरभंगा:  विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस द्वारा चुनौती के रूप में लेने के बाद भी बेलामोड़ के निकट हुए गोलीबारी कांड का मुख्य अभियुक्त एक सप्ताह बीत जाने के वाबजूद पुलिस के हाथ नही लग सका और अंततः बुधवार को उसने कोर्ट में सरेंडर कर दिया।
बताते चलें कि चर्चित विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के बेला दुर्गा मंदिर के पास 5 नवंबर को दिनदहाड़े हुई गोलीबारी मामले के मुख्य आरोपित प्रेम पासवान ने बुधवार को कोर्ट में सरेंडर कर दिया। उसे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी करने में जुटी थी। लेकिन, पुलिस को वह चकमा देकर कोर्ट में पहुंच गया और इसकी भनक पुलिस को लगने तक नहीं दी।

बताया जाता है कि देर शाम में पुलिस को इसकी जानकारी मिली। बताया जाता है कि पुलिस अब उसे रिमांड पर लेने की तैयारी शुरू कर दी है। रिमांड मिलने के बाद पुलिस उससे घटना के संबंध में पूछताछ करेगी। पुलिस की गिरफ्त से अभी शातिर बदमाश विक्की पासवान सहित दस आरोपित फरार है, जिसे पकड़ना पुलिस के लिए चुनौती से कम नहीं है। गोली चलाते हुए विक्की पासवान, प्रेम पासवान की तस्वीरें सीसीटीवी में कैद है। घटना के आरोपितों को पकड़ने के लिए एसएसपी बाबू राम ने थानेदार पवन सिंह को आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए 24 घंटे की मोहल्लत दी थी। कहा गया था कि अगर आदेश का पालन नहीं हुआ तो कार्रवाई तय है। इसके बाद समय से पहले दो आरोपितों को दबोचकर स्थानीय पुलिस ने अपनी इज्जत बचाई थी। घटना में गिरफ्तार किये गए राजू पासवान के पुत्र संतोष पासवान उर्फ ढकरवा और रामविलास मंडल के पुत्र रमण मंडल घटना के आरोपित थे। बता दें कि बेला दुर्गा मंदिर के पास दो पक्षों के बीच हुई मारपीट में गोलीबारी की घटना हुई थी। इसमें पूर्व सांसद कीर्ति झा आजाद के रिश्तेदार व निजी सचिव मिथिलेश चौधरी सहित स्थानीय निवासी अभिषेक यादव और रोहित महतो गोली लगने से घायल हो गए थे। गोलीबारी के दौरान श्री चौधरी एक व्यक्ति के साथ बाइक पर बैठाकर दिल्ली मोड़ से कठहलबाड़ी मोहल्ला स्थित पूर्व सांसद आजाद के आवास पर जा रहे थे। घटना में धारदार हथियार से किए गए हमले में रविद्र पासवान, रंजीत यादव, पिटू गुप्ता और ध्रुव यादव गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। फिलहाल कोर्ट में सरेंडर या रिमांड पर लेने की तैयारी की खबर पर पुलिस का आधिकारिक पक्ष प्राप्त नही हो सका है।

अब देखने वाली बात होगी कि घटना के बाकी अभियुक्तों की गिरफ्तारी कर पाना पुलिस के बस की बात होती है या इतने ही पर पुलिस अपनी पीठ थपथपा कर इतिश्री कर लेती है।

Share

1 Comment

Leave a Reply

Check Also

हर गांव में होना चाहिए आधुनिक सुविधाओं से लैस पुस्तकालय: शंकर झा।

देखिए वीडियो भी 👆 दरभंगा: आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शंकर झा ने शनिवार को स…