Home Featured डीएम द्वारा बुलायी गयी जनप्रतिनिधियों की बैठक में फिर नगर विधायक के अलावा सबने बनायी दूरी।
2 weeks ago

डीएम द्वारा बुलायी गयी जनप्रतिनिधियों की बैठक में फिर नगर विधायक के अलावा सबने बनायी दूरी।

देखिये वीडियो भी

देखिये वीडियो भी👆
दरभंगा: इनदिनों जिला प्रशासन द्वारा आयोजित कार्यक्रमों से एक स्थायी रूप से नगर विधायक संजय सरावगी का नाम देखने के अलावा मूल रूप से मिथिला-मैथिली से जुड़े जनप्रतिनिधियो की उपस्थिति लगभग शून्य होती जा रही है। मिथिला लोक उत्सव में जहाँ श्री सरावगी के साथ दर्जनों आमंत्रित जनप्रतिनिधियों में केवल दो चार ही नजर आए थे, वहीं स्थापना दिवस समारोह में भी दर्जनो आमंत्रित जनप्रतिनिधियों में केवल एक जनप्रतिनिधि नगर विधायक संजय सरावगी ही दिखे थे। यही हाल पुनः शनिवार को एकबार फिर मानव श्रृंखला को सफल बनाने के लिए जनप्रतिनिधियों के साथ जिला प्रशासन के द्वारा आयोजित बैठक में देखने को मिला। यहां भी जनप्रतिनिधि के नाम पर केवल एक संजय सरावगी ही दिखाईये पड़े।
बताते चलें कि जिले के दस में से चार विधायक जिसमे मंत्री मदन सहनी भी शामिल हैं, शहर में भी आवास रखते हैं। साथ ही मेयर, तीन एमएलसी, जिप अध्यक्ष-उपाध्यक्ष आदि का भी शहर में ही आवास होने के वाबजूद जिला प्रशासन के कार्यक्रम में नही पहुँचना कहीं न कहीं एक बड़ा सवाल खड़ा करता है। साथ ही मानव श्रृंखला की सफलता पर भी सवाल खड़ा करता है। सबसे आश्चर्य की बात यह भी है कि इस ओर जिला प्रशासन का ध्यान भी अभी तक आकृष्ट नही हुआ है कि जनप्रतिनिधियों की दूरी क्यों बढ़ती जा रही है कार्यक्रमो। क्यों केवल एक विधायक के पहुंचने पर ही जनप्रतिनिधियो के उपस्थिति का कोटा पूरा होता है। हलाँकि निकट भविष्य में देखने वाली होगी कि उपरोक्त विषय पर संज्ञान लिया जाता है या जिला प्रशासन को आसानी से उपलब्ध हो जाने वाले विधायक से ही जनप्रतिनिधि की उपस्थिति का कोटा पूरा करता रहता है।
शनिवार को समाहरणालय परिसर स्थित अम्बेडकर सभागार में जनप्रतिनिधियों एवं राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित बैठक में जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. ने कहा कि जल-जीवन-हरियाली, नशा मुक्ति, बाल विवाह एवं दहेज प्रथा उन्मूलन के संदर्भ में दिनांक 19 जनवरी, 2020 को राज्यव्यापी विशाल मानव श्रृंखला का निर्माण किया जायेगा। दरभंगा जिला में कुल 468 कि.मी. लम्बी मानव श्रृंखला निर्माण करने की तैयारी की जा रही है। कहा कि यह मानव श्रृंखला जल-जीवन-हरियाली के प्रति व्यापक जन-जागरूकता हेतु बनाई जा रही है ताकि हमारी आने वाली पीढ़ी का भविष्य सुरक्षित रहे। उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री द्वारा अपील किया गया है कि हमें अपने आने वाले नई पीढ़ी को एक ऐसा बिहार सौंपना है, जहाँ जल की कोई कमी नहीं हो। चहुंओर हरियाली ही हरियाली हो, ऐसा बिहार जो पूर्णतया नशा मुक्त हो और जहाँ दहेज मुक्त शादी-ब्याह सम्पन्न हो, बाल विवाह पूर्णतया निषिद्ध हो। हम सब ऐसा करेगे तो हमारे राज्य से एक बहुत बड़ा संदेश देश, विदेश में जायेगा।
जिलधिकारी ने कहा कि आज पूरी दुनिया ग्लोबल वार्मिग, ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन से परेशान है। उन्होने अपने शहर चेन्नई का उदाहरण देते हुए कहा कि बड़े बड़े शहरों में पानी की घोर संकट उत्पन्न हो गई है। भू-गर्भ जल स्तर में तेजी से गिरावट दर्ज की जा रही है। बड़े-बड़े शहरों में वैकल्पिक व्यवस्था करके पानी की आपूर्त्ति करनी पड़ रही है। यह वैकल्पिक व्यवस्था स्थाई समाधान नहीं हो सकता है। इस विकट परिस्थिति से निपटने के लिए हमें पर्यावरण संतुलन के लिए व्यापक अभियान चलानी होगी। हर किसी को इस अभियान से जोड़ना होगा तभी हमारा भविष्य सुरक्षित रह पायेगा।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा जलवायु परिवर्त्तन के कारण उत्पन्न जल संकट, कभी बाढ़ तो कभी सूखे की मार, कभी अत्यधिक ढ़ंड तो कभी काफी गर्मी आदि परिस्थितियों के चलते भविष्य में होने वाली गंभीर संकट को भांप कर राज्य में जल-जीवन-हरियाली अभियान चलाया जा रहा है।
इस अभियान में सभी छोटे/बड़े लोग, स्त्री/पुरूष, व्यवसायी, जनप्रतिनिधिगण को जोड़ना है। हर-एक लोगो को जागरूक करना है। जल-जीवन-हरियाली अभियान के प्रति व्यापक जन-जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से ही दिनांक 19 जनवरी, 2020 को राज्य में विशाल मानव श्रृंखला का निर्माण किया जा रहा है। इस श्रृंखला में हर किसी को भाग लेकर जल-जीवन-हरियाली अभियान के प्रति अपना समर्थन जताना है।
उन्होंने कहा कि जल-जीवन-हरियाली अभियान के संदर्भ में मानव श्रृंखला का निर्माण में सहयोग प्रदान करने हेतु सभी राजनीतिक दलों के द्वारा सर्वसम्मति से सहमति दी गई है। इसलिए सभी सम्मानित जनप्रतिनिधिगणों से आग्रह है कि जिला में निर्धारित 468 कि.मी. लंबी मानव श्रृंखला में भाग लेने हेतु आमलोगों को प्रेरित की जाये। उन्होंने कहा कि सरकारी स्तर से सम्पूर्ण जिला में व्यापक प्रचार-प्रसार कर लोगों को जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है। इसमें जनप्रतिनिधियों की सशक्त भागीदारी जरूरी है। कहा कि आमलोग अपने नेता पर विश्वास करते हैं, इसलिए नेतागणों द्वारा अपील किये जाने पर सभी लोग अपने-अपने घर से निकलकर जरूर मानव श्रृंखला में भाग लेगे।
इस हेतु जिलाधिकारी द्वारा जनप्रतिनिधियों से जिला में 468 कि.मी. लम्बी मानव श्रृंखला निर्माण को सफल बनाने के लिए सुझाव भी आमंत्रित किया गया।
बैठक में उपस्थित नगर विधायक संजय सरावगी ने कहा कि सामाजिक सरोकार से जुड़ा यह बहुत बड़ा अभियान है। उन्होंने कहा कि पृथ्वी पर सभी जीवों की रक्षा हेतु जल और हरियाली दोनों जरूरी है। इसके बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है।
जदयू के जिला अध्यक्ष डॉ. अजय चौधरी ने सुझाव दिया कि स्कूली बच्चों के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया जाये। इन बच्चों के माध्यम से अपने-अपने पोषण क्षेत्रों में जागरूकता रैली कराई जाये। कहा कि बच्चों के अपील को लोग सहज ही स्वीकार करेंगे। उन्होंने पिछले साल की मानव श्रृंखला में कमजोर कड़ी को दुरूस्त करने के लिए विशेष ध्यान देने का सुझाव दिया।
भाजपा के जिलाध्यक्ष जीवछ सहनी ने कहा कि बाढ़/आपदा के समय में जनप्रतिनिधिगण जितनी तत्परात से कार्य करते है, उसी तत्परता से इस अभियान से जुड़ने की जरूरत है। वहीं बैठक में उपस्थित कई प्रखण्डों के प्रमुख ने भी मानव श्रृंखला निर्माण के संदर्भ में अपने-अपने सुझाव दिये। इसमें सकरारी स्कूलों के साथ-साथ निजी स्कूलों को भी इस अभियान से जोड़ने, माननीय मुख्यमंत्री के अपील को अधिकाधिक लोगों तक पहुँचाने, अधिकारी एवं जनप्रतिनिधियों के बीच अच्छा समन्वय स्थापित करने आदि प्रमुख रूप से शामिल है।
जिलाधिकारी द्वारा सभी जनप्रतिनिधियों को अश्वस्त किया गया कि उनके द्वारा दिये गये बहुमूल्य सुझावों पर अक्षरशः अमल किया जायेगा। उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों से मानव श्रृंखला में भागीदारी करने हेतु अपने-अपने क्षेत्रों के लोगों को प्रेरित करने का आग्रह किया।
इस बैठक में डी.एम. डॉ. त्यागराजन एस.एम., नगर विधायक संजय सरावगी, जदयू जिलाध्यक्ष डॉ. अजय चौधरी, भाजपा जिलाध्यक्ष जीवछ सहनी सहित डी.डी.सी. डॉ. कारी प्रसाद महतो, सहायक समाहर्त्ता विनोद दूहन, जिला शिक्षा पदाधिकारी महेश प्रसाद सिंह, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी सुशील कुमार शर्मा, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी श्री सुनील कुमार, संजय देव ‘‘कन्हैया’’, प्रखण्ड प्रमुखगण आदि उपस्थित थे।

Share

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सीएए-एनआरसी-एनपीआर के विरुद्ध शहर में शुरू हुआ एक और धरना।

देखिए वीडियो भी 👆 दरभंगा: दरभंगा में भी सीएए- एनपीआर- एनआरसी के खिलाफ लगातार प्रदर…