Home Featured शोध स्वाभाविक रूप से घटित घटनाओं का सूक्ष्म निरीक्षण : प्रो. अरविंद।
February 28, 2020

शोध स्वाभाविक रूप से घटित घटनाओं का सूक्ष्म निरीक्षण : प्रो. अरविंद।

दरभंगा: ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग में 10 दिवसीय कार्यशाला के अंतिम दिन काशी हिन्दु विश्वविद्यालय समाजशास्त्र के प्रो. अरविंद कुमार जोशी ने शोध में अवलोकन पद्धति पर व्याख्यान प्रस्तुत करते हुए कहा कि यह देखना, प्रेक्षण, निरीक्षण अर्थात कार्यकारण और प्रशिक्षण आदि को जानने के लिए स्वाभाविक रूप से घटित होने वाली घटनाओं का सूक्ष्म निरीक्षण है। उन्होंने कहा कि इसमें कान तथा वाणी की अपेक्षा नेत्रों के प्रयोग की स्वतंत्रता द्वारा घटना को उसके वास्तविक रूप में देखना चाहिए। उन्होंने अवलोकन का वर्णन करते हुए कहा कि इसमें सभी घटनाओं का अध्ययन संभव नहीं होता। संकुचित क्षेत्र होती है, पक्षपात होते हैं, ज्ञानेद्रियों में दोष आदि होते हैं। समापन सत्र के मुख्य अतिथि कुलसचिव कर्नल निशीथ कुमार राय ने कहा कि भारतीय सामाजिक विज्ञान, अनुसंधान परिषद् द्वारा संपोषित कार्यशाला का आयोजन विश्वविद्यालय में होना एक उपलब्धि है। बिहार से बाहर के शोध छात्र मिथिला के विषय में जानकर यहां के सांस्कृतिक दूत बन गये। अतिथियों का स्वागत डॉ. सरिता पांडेय ने किया। वहीं इस अवसर पर प्रो. गोपी रमण सिंह ने 16 विषयों के विशेषज्ञों द्वारा व्याख्यान देने पर विभाग की ओर आभार व्यक्त किया। इस मौके पर डॉ. मंजू झा, प्रणतारती भंजन, अपराजिता कुमारी, विकास कुमार आदि उपस्थित थे। मंच संचालन डॉ. शंकर कुमार लाल और धन्यवाद ज्ञापन लक्ष्मी कुमारी ने किया। कार्यशाला के निदेशक प्रो. विनोद कुमार चौधरी ने शुभाकामना प्रेषित किया।

Share

Leave a Reply

Check Also

शहर में शाम 5 बजे के बाद खुले पाये जाने पर आरा मिल सहित कई दुकानों पर हुई कारवाई।

देखिए वीडियो भी 👆 दरभंगा: शहर में अब दवा दुकानें एवं अनिवार्य सेवाओं को छोड़कर बाक…