Home Featured पोषण पखवाड़ा के तहत आंगनबाड़ी सेविका गर्भवती के घर जाकर दे रही है स्वास्थ्य संबंधी जानकारी।
March 12, 2020

पोषण पखवाड़ा के तहत आंगनबाड़ी सेविका गर्भवती के घर जाकर दे रही है स्वास्थ्य संबंधी जानकारी।

दरभंगा: जिले में चल रहे पोषण पखवाड़ा के तहत आईसीडीएस विभाग की ओर से जिला व प्रखंड स्तर पर कई कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं. पखवारा के तहत जिला में करीब 3000 से अधिक आंगनवाड़ी सेविका गर्भवती महिलाओं के पोषण को लेकर विशेष अभियान चला रही है. आईसीडीएस सीडीपीओ सुरभि ने बताया कि पखवारा के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य संबंधी जागरुकता को लेकर आंगनवाड़ी सेविका घरों में जाकर संपर्क अभियान चला रही है .महिलाओ को गर्भावस्था के दौरान स्वास्थ्य को लेकर जागरूक कर रही है ।

गर्भवती महिला के लिए जरूरी 6 आहार
सेविका ने घर-घर जाकर महिलाओं व अन्य सदस्यों को बता रही है कि मां बनने से पहले औरत का खुद स्वस्थ्य होना बहुत जरूरी है। मां की सेहत का असर बच्चे के स्वास्थ्य पर भी पड़ता है। इसके लिए सही आहार का होना बहुत जरूरी है ताकि शरीर को सारे पोषक तत्व आसानी से मिल सकें,जिससे मां और होने वाले बच्चे को सेहत से जुड़ी किसी परेशानी का सामना न करना पड़े। पोषक तत्वों का कमी से मां बनने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। अपने खाने में कुछ जरूरी आहार शामिल करके आप गर्भाधारण के दौरान आने वाली परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं
पीएं भरपूर पानी
शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकलने के लिए भरपूर मात्रा में पानी का सेवन करना बहुत जरूरी है। इससे बॉडी में हार्मोंस का संतुलन बना रहता है और इनफर्टिलिटी की समस्या दूर होती है। दिन में कम से कम 8-10 गिलास पानी जरूर पीएं।
2. डेयरी फूड
गर्भाधारण के लिए हड्डियों को मजबूत होना बहुत जरूरी है। इसके लिए शरीर में कैल्शियम की कमी न होने दें। अपनी डाइट में दूध,मक्खन,पनीर,अंड़े,दही और लस्सी को जरूर शामिल करें। इस बात का भी ध्यान रखें कि इनका जरूरत से ज्यादा सेवन करने पर मोटापा भी आ सकता है।
3. कार्बोहाइट्रेड से भरपूर आहार
साबुत अनाज,फल,बीन्स जैसे कार्बोहाइट्रेड से भरपूर आहार खाने से ब्लड शूगर का लेवल सामान्य रहता है। इससे फर्टिलिटी रेट भी बढ़ता है।
4. ओमेगा 3
ओमेगा 3 फैटी एसिड हार्मोंस को संतुलित रखने का काम करता है। यह गर्भाधारण में भी बहुत मददगार है। इसके लिए आप अपनी डाइट में बादाम , अलसी , अखरोट , कद्दू के बीज , सूरजमुखी के बीज और मछली शामिल कर सकते हैं। यह तनाव दूर करने का काम भी करता है।
5. हैल्दी ऑयल
खाने में नारियल का तेल,जैतून,सरसों का शुद्ध तेल और कनोला ऑयल का इस्तेमाल करें। इससे आपको पूरा पोषण मिलेगा। इस बात का ध्यान रखें कि इनको ज्यादा गर्म न करें। इससे इनके पोषक तत्व नष्ट हो सकते हैं।
6. आयरन
खून की कमी होने पर भी प्रैग्नेंसी में परेशानी हो सकती है। अपने आहार में आयरन से भरपूर फल और सब्जियां शामिल करें। हरी सब्जियां,सूखे मेवे, काले चने इसका बढ़िया स्त्रोत हैं।

Share

1 Comment

  1. Pingback: sildenafil online

Leave a Reply

Check Also

शहर में शाम 5 बजे के बाद खुले पाये जाने पर आरा मिल सहित कई दुकानों पर हुई कारवाई।

देखिए वीडियो भी 👆 दरभंगा: शहर में अब दवा दुकानें एवं अनिवार्य सेवाओं को छोड़कर बाक…