Home Featured क्वारंटाइन केंद्रों के समुचित संचालन एवं नियंत्रण केलिए अनुश्रवण एवं निगरानी समिति का गठन।
April 1, 2020

क्वारंटाइन केंद्रों के समुचित संचालन एवं नियंत्रण केलिए अनुश्रवण एवं निगरानी समिति का गठन।

दरभंगा: कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकार के निर्देश पर इसके समुचित नियंत्रण को ले प्रखंड एवं जिला स्तरीय अनुश्रवण एवं निगरानी समिति का गठन किया गया है। सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन युद्धस्तर पर अभियान चला रहा है। संवेदनशील देशों की यात्रा से लौटे लोगों की स्क्रीनिग कर ली गई है। उनकी जांच भी कराई जा रही है। जिले में अबतक किसी भी व्यक्ति की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं आई हैं। सभी लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया हैं। वहीं, लॉकडाउन में राज्य के बाहर से लौटे सभी लोगों को उनके ही गांव में स्थित स्कूल और पंचायत भवन में बने आइसोलेशन में रखा गया है। कुछ लोगों को प्रखंड मुख्यालयों एवं विभिन्न पंचायतों के विद्यालय भवनों में बनाए गए क्वारंटाइन केंद्र में तत्काल 14 दिनों के लिए रखा गया है। जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने कहा कि राज्य सरकार के निर्णय के अनुसार क्वारंटाइन भवनों में पेयजल, शौचालय, साफ-सफाई आदि की व्यवस्था की जवाबदेही पंचायतों को दी गई है। इस कार्य में होनेवाला व्यय चतुर्थ और पंचम वित्त आयोग से पंचायतों में प्राप्त राशि से किया जाएगा।

ग्राम पंचायतों में साफ-सफाई कराने हेतु विलेज सैनिटेशन कमेटी के खाते में राशि भेजी जाती हैं। इसलिए सभी ग्राम पंचायतों के मुखिया और सचिव को उक्त राशि से गावों में साफ-सफाई कराने, गली-नाली में छिड़काव, फॉगिग आदि कराने का भी निर्देश दिया गया है। वर्तमान में क्वारंटाइन केंद्रों में आवासित लोगों के भोजन की व्यवस्था मध्याह्न भोजन योजना के तहत गत वर्ष के बाढ़ में की गई व्यवस्था के अनुरूप की जाएगी एवं इसका व्यय आपदा प्रबंधन विभाग से होगा। उन्होंने कहा कि ये सभी कार्य लंबे समय तक चलने की संभावना है। वहां आवासित लोगों की संख्या में भी वृद्धि होने की संभावना है। इसलिए क्वारंटाइन सेंटर का निर्बाध रूप से संचालन एवं इसपर समुचित नियंत्रण को ले प्रखंड एवं जिला स्तरीय अनुश्रवण एवं निगरानी समिति का गठन किया गया है। प्रखंड स्तरीय निगरानी समिति दल में प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी एवं बीआरपी मध्याह्न भोजन को एवं जिला स्तरीय निगरानी समिति दल में उप विकास आयुक्त, जिला शिक्षा पदाधिकारी, प्रभारी पदाधिकारी, जिला आपदा प्रबंधन एवं जिला एमडीएम प्रभारी को शामिल किया गया है। इनके अलावा सभी प्रखंडों के वरीय प्रभारी पदाधिकारी एवं अनुमंडल पदाधिकारी को समय-समय पर सभी क्वारंटाइन होम का निरीक्षण करने एवं विभागीय निर्देश के अनुरूप सभी आवासित लोगों को समय पर भोजन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। उन्हें इसका पूरा लेखा-जोखा पंजी में विधिवत संधारित करने को कहा गया हैं, ताकि भविष्य में इस राशि के सामंजन में किसी प्रकार की कठिनाई नहीं हो। प्रखंड स्तरीय एवं जिला स्तरीय समिति को उपरोक्त निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराने को कहा गया है। इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बरतने पर सुसंगत धारा के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Share

68 दिनों बाद सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कोर्ट में शुरू हुआ कार्य।

जनसंदेश कार्यक्रम में भाग लेने केलिए पदाधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों को डीएम ने दिया निर्देश।

बी एवं सी केटेगरी सिटी से आये प्रवासी कामगारों का दैनिक स्वास्थ्य परीक्षण कराने का निर्देश।

जेएनजे ने लॉन्च किया करेंसी एवं डाक्यूमेंट्स सेनेटाइजर, 3500 रुपये में आमलोगों केलिए होगा उपलब्ध।

लॉकडाउन में घर लौट रहे मजदूरों की दुर्घटना एवं भूख से हुई मौत की तय हो जिम्मेवारी: सीताराम चौधरी।

भाजपा युवामोर्चा की जिला कार्यसमिति गठित, घनश्याम कुमार और संगीत साह बने महामंत्री।

Check Also

ब्लड बैंक से जारी ब्लड के कारण हुई मरीज के मौत मामले की निष्पक्ष जाँच की मांग।

दरभंगा: डीएमसीएच के ब्लड बैंक में कथित रूप से गलत खून के कारण एक महिला मरीज की मौत को लेकर…