Home Featured डीएम के संज्ञान के बाद हुई त्वरित कारवाई, महादलितों के जर्जर भवन का अभियंता ने किया निरीक्षण।
4 weeks ago

डीएम के संज्ञान के बाद हुई त्वरित कारवाई, महादलितों के जर्जर भवन का अभियंता ने किया निरीक्षण।

देखिए वीडियो भी।

देखिए वीडियो भी 👆

दरभंगा: दरभंगा के जिलाधिकारी डॉ0 त्यागराजन ने एकबार फिर जनहित के मुद्दे पर संज्ञान लिया और 12 घण्टे के अंदर इसका असर देखने को मिला। करीब 50 से ज्यादा महादलितों का परिवार एक दो मंजिले जर्जर भवन में रह रहा है। गुरुवार की सुबह सीढ़ी टूटकर ध्वस्त हो गया था जिसमे संयोग से बड़ा हादसा टल गया था। शुक्रवार की सुबह निरीक्षण में पहुँचे नगर निगम के अभियंता ने भी कहा कि यह मकान कभी भी ध्वस्त होकर गिर सकता है। वैकल्पिक व्यव्यस्था होने तक लोगों को मकान से बाहर ही रहने का निर्देश दिया।
बताते चलें शहर के वार्ड 46 अंतर्गत कबिलपुर महादलित बस्ती में बिहार सरकार के स्लम योजना के तहत 1999 में 56 कमरों का एक दो मंजिला मकान बना था जिसमे 50 से ज्यादा महादलित परिवार आज भी रहते हैं। मकान की स्थिति जर्जर हो चुकी है। एकसाल पहले छज्जा टूटने से कुछ लोग घायल हुए थे, वहीं गुरुवार की अहले सुबह ग्राउंड फ्लोर को प्रथम मंजिल से जोड़ने वाला सीढ़ी ध्वस्त हो गया था। सूचना मिलने पर वॉयस ऑफ दरभंगा ने इसकी पूरी कवरेज की थी और समाचार प्रसारित किया था। समाचार पर संज्ञान लेते हुए दरभंगा के जिलाधिकारी डॉ0 त्यागराजन एमएम गुरुवार की रात ही नगर आयुक्त को त्वरित कारवाई केलिए निर्देश दिया। गुरुवार की रात लगभग 11 बजे नगर निगम के कनीय अभियंता संजय शरण सिंह को अपर नगर आयुक्त उक्त स्थल का निरीक्षण कर अविलम्ब रिपोर्ट करने का निर्देश दिया गया।
इस निर्देश पर शुक्रवार की सुबह जेई श्री सिंह वार्ड पार्षद राजू पासवान के साथ उक्त स्थल पर पहुँचे और मकान का ऊपर से नीचे तक निरीक्षण किया।
निरीक्षण उपरांत श्री सिंह ने कहा कि मकान की स्थिति बहुत ही भयावह है। किसी भी क्षण यह ध्वस्त हो सकता है। वे इसकी रिपोर्ट तुरन्त कार्यालय में करेंगे। यहां के लोगो को भी उन्होंने अविलम्ब मकान से दूर रहने का निर्देश दिया है। जल्द वैकल्पिक व्यव्यस्था करवाने का प्रयास किया जाएगा।
वहीं वार्ड पार्षद राजू पासवान ने कहा कि जिलाधिकारी के संज्ञान का परिणाम है कि कनीय अभियंता को रात के 11 बजे ही निरीक्षण का निर्देश प्राप्त हो गया। इन्होंने भी निरीक्षण में देखा है कि करीब 200 से ज्यादा महादलितों की जान खतरे में हैं इसलिए इन्हें अविलम्ब मकान में नही रहने का निर्देश दिया गया है। पर ये गरीब मजदूर वर्ग के महादलित जाएंगे कहाँ, इसकी व्यवस्था भी होनी चाहिए। इसके लिए वे जिलाधिकारी से अनुरोध करेंगे कि मकान तोड़कर मकान बनाने के क्रम में इन 50 से ज्यादा महादलित परिवारों के आवास की वैकल्पिक व्यवस्था भी करायी जाय।

Share

Check Also

दरभंगा: कोरोना के 5 नए मामलों के साथ 92 पहुँची कोरोना पॉजिटिवों की संख्या।

दरभंगा: जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के पांच नए मामले सामने आए है। डीएम त्यागराजन एसएम न…