Home Featured लॉकडाउन में घर लौट रहे मजदूरों की दुर्घटना एवं भूख से हुई मौत की तय हो जिम्मेवारी: सीताराम चौधरी।
June 2, 2020

लॉकडाउन में घर लौट रहे मजदूरों की दुर्घटना एवं भूख से हुई मौत की तय हो जिम्मेवारी: सीताराम चौधरी।

दरभंगा: कोरोना महामारी काल मे लाखों की संख्या मे बिहार वापस लौट रहे प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को लेकर बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के निर्देश पर मंगलवार को बलभद्रपुर स्थित ज़िला कांग्रेस कार्यालय में शारिरिक दूरी बनाते हुए कांग्रेसजनों ने एक घंटे का धरना दिया।
धरना की अध्यक्षता करते हुए जिलाध्यक्ष सीताराम चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों की वजह से घर लौट रहे सैकड़ों मजदूरों की भूख औऱ दुर्घटनाओं में मौतें हो गई है, जो बहुत ही भयावह है। सबसे पहले तो इसकी जिम्मेवारी तय हो कि कौन है इनकी मौत का जिम्मेवार? प्रदेश प्रतिनिधि पंडित राम नारायण झा, शंकर कुमार झा , डां. बैद्यनाथ झा”बैजू”रामपुकार चौधरी, अरुण कुमार झा ने केंद्र सरकार को पूरी तरह से फेल बताया। वहीं चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष डां. हसनैन कैसर, उपाध्यक्ष रियाज़ अली खां, मीडिया प्रभारी मो.असलम ने केंद्र सरकार से प्रवासी मजदूरों और बेरोजगार हुए लोगों को अविलंब दस-दस हजार रुपये उनके खाते पर भेजने की मांग रखी। वहीं ज़िला कांग्रेस कमिटी ने जिलाधिकारी के माध्यम से एक ज्ञापन आपदा प्रबंधन बिहार सरकार के प्रधान सचिव को भेजा। जिसमे प्रवासी मजदूरों की हुई मृत्यु की सूची प्रदेस कांग्रेस को सौंपने की मांग की गई। ताकि कांग्रेस पार्टी इन परिवारों को मदद कर सके। साथ ही सरकार से मृतकों के परिवार को उचित मुआवजा देने, परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने, उनके खाने-पीने की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने की मांग की गई है।
धरना को गणेश चौधरी, परमानंद झा, नेशगंगनानी, रातिकान्त झा, तनवीर अनवर, दयानंद पासवान, राजा अंसारी, डां ज़माल हसन, जयंत झा, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष पूनम झा, हसमत अली, सोशल मीडिया इंचार्ज पिंकु गिरी, धनंजय सिंह, प्रो.शिवनारायण पासवान, विशाल कुमार सहित कांग्रेस के कई प्रखंड अध्यक्ष उपस्थित थे।

Share

Check Also

दरभंगा समाहरणालय परिसर में बाढ़ का नजारा, आने जाने वालों को हो रही परेशानी।

देखिए वीडियो भी 👆 दरभंगा: थोड़ी सी बारिश में भी जलजमाव दरभंगा शहर की नियति बन गयी ह…