Home Featured ब्लड बैंक में लापरवाही के कारण हुए मौत के विरोध में एमएसयू ने दिया धरना।
June 8, 2020

ब्लड बैंक में लापरवाही के कारण हुए मौत के विरोध में एमएसयू ने दिया धरना।

दरभंगा: सोमवार को मिथिला स्टूडेंट यूनियन के द्वारा डीएमसीएच प्रशासन के लापरवाही के कारण गंगा देवी एवं सिलिया देवी के मौत व ब्लड बैंक के लाइसेंस रेन्यू करवाने को लेकर आक्रोशपूर्ण धरना प्रदर्शन किया गया।
एमएसयू के दरभंगा जिला अध्यक्ष अभिषेक कुमार झा ने उपरोक्त विषय में जानकारी देते हुए बताया कि लगातार डीएमसीएच प्रशासन लोगों की जिंदगी से खेलना का काम कर रहा है। प्रत्येक दिन डीएमसीएच के लापरवाही के कारण आम गरीब लोग अपनी जान गंवा दे रहे है। उत्तर बिहार का सबसे बड़ा हॉस्पिटल का दर्जा प्राप्त डीएमसीएच आज अपनी लापरवाही के कारण जाना जाता है। डीएमसीएच के विषय में एक कहावत है एक स्वस्थ व्यक्ति यहाँ आता है तो वो भी बीमार हो जाता है। कुछ दिन पूर्व अपने जुड़वाँ बच्चा को जन्म देने के बाद गंगा देवी का निधन गलत खून चढ़ा देने से हो जाता है। ओ पॉजिटिव गंगा देवी को ओ नेगेटिव खून चढ़ा दिया जाता है, जिससे उनकी मौत हो जाती है। वहीं सिलिया देवी की मौत गलत ब्लड ग्रुपिंग के कारण हो जाता है। इस तरह की लापरवाही डीएमसीएच में कोई बड़ी बात नहीं है। यहाँ रोजाना गरीब लोगों के ज़िन्दगी से खिलवाड़ किया जाता है। वहीं डीएमसीएच के अंतर्गत चलने वाले ब्लड बैंक का लाइसेंस पिछले 6 सालो से रद्द पड़ा हुआ है, जिसकी सुधी ना तो डीएमसीएच प्रशासन ना जिला प्रशासन और ना ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों को है। आखिर एक ब्लड बैंक बिना लाइसेंस के कैसे चलाया जा रहा, यह सवाल अब यहाँ खड़ा होता है।
एमएसयू के विश्वविद्यालय अध्यक्ष अमन सक्सेना ने बताया कि धरना दिन के 11 बजे से कर्पूरी चौक के समीप बने यात्री शेड के बगल में मुख्य सड़क पर दिया गया जिसके बाद धरना आक्रोशपूर्ण मार्च में बदलकर डीएमसीएच अधीक्षक कार्यलय तक पंहुचा। इस बीच कार्यकर्ता अपनी मांगो को लेकर नारेबाजी भी करते रहे, जिसके बाद डीएमसीएच अधीक्षक को मांग पत्र सौंपते हुए मांगो पर कारवाई करने को कहा गया। पूरे आंदोलन सोशल डिस्टेंसिंग के साथ किया गया जहाँ कार्यकर्ता काफी आक्रोशित थे। धरना का संचालन दरभंगा जिला प्रभारी सुमित माऊबेहटिया ने किया।
वार्ता के दौरान डीएमसीएच अधीक्षक ने सभी मांगो पर कारवाई करते हुए उचित कारवाई करने का आश्वासन दिया तथा मौत के जिम्मेवार सभी लोगों पर एक सप्ताह के अंदर कारवाई करने की बात भी कही है।
धरना में शामिल पूर्व जिलाध्यक्ष अमित कुमार ठाकुर व वरिष्ठ छात्र नेता सागर नवदिया ने प्रशासन के खिलाफ जमकर हल्ला बोला और कहा कि गंगा देवी और सिलिया देवी के मौत के जिम्मेवार सभी लोगों पर कारवाई होना चाहिए तथा परिवार को उचित मुआवजा मिले। इसके लिए अस्पताल प्रशासन से आज आंदोलन के माध्यम से सचेत करने आए है मांगो पर कारवाई नहीं होने पर आगे और भी उग्र आंदोलन किया जाएगा। जब तक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल जाता हमारा यह आंदोलन जारी रहेगा। ब्लड बैंक का लाइसेंस वर्ष 2014 से ही रद्द है। हमलोगो के द्वारा अब तक दर्जनों बार यहाँ ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन किया जा चुका है, जहाँ हमारे संगठन के सदस्य प्रत्येक तीन महीना पर अपना ब्लड डोनेट करते है। ब्लड बैंक में साफ-सफाई के अलावा डोनर के स्वास्थ का भी ख्याल नहीं रखा जाता है, जबकि ब्लड बैंक भी बिना लाइसेंस के चलाया जा रहा है। ऐसे में कल को किसी भी कार्यकर्ता के साथ कोई घटना होती है तो इसकी जिम्मेवारी कौन लेगा! ब्लड बैंक की व्यवस्था को देखते हुए अब हमें भी ब्लड डोनेट करने से डर लग रहा है। इन्ही सब समस्याओं को लेकर आज एक आक्रोशपूर्ण आंदोलन का आयोजन हमलोगो के द्वारा किया गया।
मौके पर दरभंगा जिला संगठन मंत्री अभिजीत भारद्वाज, जिला प्रधान सचिव प्रवीण झा, कोषाध्यक्ष रमेश बाबा, अर्जुन कुमार, रोहित कुमार, अमित मिश्रा, अनीस चौधरी, विकाश मैथिल, अंकित गुप्ता, बिहान पासवान, दीपक, नीरज, विनय चौधरी, प्रदीप, केशव, दिपक झा, आदित्य नवीन, मयंक, सिद्धांत, अविनाश, ऋतू राज,बदुर्गानंद राय, शिव मोहन झा, दिवाकर मिश्रा, गौतम झा, प्रदीप झा, सनातन झा, विमल कुमार समेत कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Share

Check Also

सीमित छूट के साथ पुनः 31 जुलाई तक लॉकडाउन लागू, डीएम ने जारी किये आवश्यक निर्देश।

दरभंगा: बुधवार को डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने जिले के सभी एसडीओ, एसडीपीओ, बीडीओ और सभी थाना…