Home Featured बेटी के भविष्य को सुरक्षित करने केलिए सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलवाएं खाता: प्रदीप ठाकुर।
June 12, 2020

बेटी के भविष्य को सुरक्षित करने केलिए सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलवाएं खाता: प्रदीप ठाकुर।

देखिये वीडियो भी👆

दरभंगा: जन्म से लेकर 10 वर्ष तक के उम्र की हर बेटी का खाता सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलवाना हम सबकी सामाजिक और नैतिक जिम्मेवारी है। इसके माध्यम से बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ अभियान को बल मिलेगा और बेटियों का भविष्य सुरक्षित होगा।
उपरोक्त बातें मनीगाछी के राघोपुर में आयोजित बैठक के दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता सह बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ प्रकोष्ठ के प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप ठाकुर ने कहीं। वे को अपने गृह क्षेत्र मनीगाछी के राघोपुर में युवा एवं वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को इस अभियान का महत्व बताकर इसे जन जन पहुंचाने का संदेश दे रहे थे।
श्री ठाकुर ने बताया कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का शुभारम्भ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा  22 जनवरी 2015 को देश की लड़कियों के जीवन स्तर को ऊपर उठाने और उनके भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए किया गया है। यह योजना लड़कियों की सुरक्षा और पढ़ाई के क्षेत्र में एक बेहतरीन योजना हैं।
श्री ठाकुर ने कहा कि पार्टी द्वारा विश्वास जता कर उनपर जो जिम्मेवारी दी गयी है, वास्तव में महत्वपूर्ण जिम्मेवारी है। आज वास्तव में बेटियों को बचाने, उन्हें पढाने और सशक्त बनाने की जरूरत है। इसी को देखते हुए सरकार द्वारा इस स्कीम के तहत योजनाएं चलायी जा रही है। वर्तमान में डाक विभाग द्वारा शिविर के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना के तहत शिविर लगा कर खाता खुलवाया जा रहा है। ऐसे में सरकार की पहल को परिणाम तक पहुंचाना हम सबकी नैतिक जिम्मेवारी भी बनती है ताकि समाज मे बेटियों का भविष्य सुरक्षति हो सके।
श्री ठाकुर ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे अपने अपने क्षेत्रों में हर घर में जाकर जानकारी लें कि जन्म से दस वर्ष तक की उम्र की कोई बच्ची यदि है तो उनका खाता सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुला है या नही। यदि नही खुला है तो उन्हें योजना की जानकारी दें और खाता खुलवाने केलिए प्रेरित करें। किसी प्रकार की समस्या आ रही हो तो उस व्यवधान को दूर कर के हर बेटी का खाता सुकन्या समृद्धि योजना में खुलवाएं।
योजना के सम्बंध में जानकारी देते हुए श्री ठाकुर ने बताया कि जो लोग अपनी बेटियों को इस योजना का लाभ केंद्र सरकार द्वारा प्रदान करवाना चाहते है, वे इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको अपनी बेटी का बैंक में या डाक घर मे अकाउंट जन्म से लेकर 10 वर्ष तक खुलवा सकते है। इसके बाद बेटी के 18 वर्ष के होने के बाद आप इस कुल धनराशि में से 50 % धनराशि लड़की की पढाई के लिए निकाल सकते है और 21 वर्ष के होने के बाद बेटी के विवाह के समय पूरी धनराशि निकाल सकते है।
श्री ठाकुर ने इस योजना को सरलता से समझाते हुए बताया कि यदि इस योजना के अंतर्गत बेटी के बैंक अकाउंट में हर महीने 1000 रूपये या प्रतिवर्ष 12000 रूपये की धनराशि जमा करते है तो आपके द्वारा 14 वर्षो में कुल 1 ,68 000 रूपये की धनराशि जमा की जाएगी। बैंक अकाउंट के 21 वर्ष बाद परिपक्व होने के बाद आपकी बेटी को 6 ,07 ,128 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी
श्री ठाकुर ने कहा कि जैसा कि हम सब जानते हैं लड़कियों का स्तर लड़कों की तुलना में कम हो रहा है और लड़कियों को बोझ समझा जाता है इसलिए उनकी भ्रूण हत्या कर दी जाती है। इस समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजनाको शुरू किया गया है। इस योजना के ज़रिये बेटियों के भविष्य की उज्जवल बनाना और उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ाना है। इस योजना के ज़रिये होने वाली भ्रूण हत्या को रोकना है। इस योजना के शुरू होने से लिंग अनुपात रोका जा सके और लड़कियों को भी एक समान समझा जा सके।
बैठक में पुर्व बीस सूत्री सदस्य रमेश कुमार चौधरी, पंचायती राज प्रकोष्ठ के प्रदेश मीडिया प्रभारी सचिन झा, पुर्व मंडल अध्यक्ष, अंजनी कुमार झा मुन्ना, राधावल्लभ झा,परेश मिश्र,संजय ठाकुर, चन्दन झा, संजय पासवान, प्रह्लाद झा,केदार लालदेव,राजा यादव, नुनु कामत,चंदन पंडित,सुनील महतो,विष्णु ठाकुर आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Share

Check Also

आम तोड़ने को लेकर दो पक्षों के बीच झड़प में युवक की हत्या के बाद स्थिति तनावपूर्ण।

देखिए वीडियो भी 👆 दरभंगा: जिले के पतोर ओपी क्षेत्र के सोभेपट्टी गांव में सोमवार की…