Home Featured गलत ब्लड चढ़ाने से हुई महिला की मौत मामले में दोषियों पर कारवाई की मांग को लेकर सड़क जाम।
3 weeks ago

गलत ब्लड चढ़ाने से हुई महिला की मौत मामले में दोषियों पर कारवाई की मांग को लेकर सड़क जाम।

दरभंगा: डीएमसीएच में गंगा देवी की मौत प्रसव के दौरान गलत ब्लड चढ़ाने के कारण होने के मामले में कारवाई की मांग को लेकर शहर के बेला में सड़क जाम किया गया। आंदोलनकारियों का कहना था कि इसमें डाक्टरों की लापरवाही भी उजागर हुई। इसे लेकर के डीएम की जांच टीम ने डीएमसीएच के पांच डॉक्टरों व कर्मियों को दोषी मानक कर कार्रवाई की है। उसके बावजूद भी पुलिस-प्रशासन की लापरवाही के कारण मुकदमा दर्ज नहीं की गई है। इसी से आक्रोशित बेला मोहल्ला वासियों ने दलित शोषण मुक्ति मंच, कांग्रेस सेवादल, भीम आर्मी के नेतृत्व में दिल्ली मोड़ एनएच 57 जाने वाली मुख्य सड़क को 4 घंटे तक जाम कर यातायात ठप कर दिया।
मौके पर बीडीओ सदर रवि सिन्हा, विश्वविद्यालय थाना इंचार्ज पवन कुमार सिंह के पहल पर एसडीओ सदर दरभंगा, एसडीपीओ सदर दरभंगा से वार्ता करने का प्रस्ताव दिया गया। इस पर उपरोक्त पदाधिकारी से वार्ता करने पर सहमति बनी और दलित शोषण मुक्ति मंच के राज्य महासचिव श्याम भारती दलित शोषण मुक्ति मंच के जिलाध्यक्ष रामप्रीत राम, कांग्रेस सेवा दल के जिलाध्यक्ष डॉ जमाल हसन, भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष भोला पासवान, एसएफआई के छात्र नेता के नीरज कुमार मृतका के भाई पवन पासवान एवं बेला गांव के सामाजिक कार्यकर्ता मनोज पासवान ने वार्ता किया।
एसडीओ एवं एसडीपीओ सदर से वार्ता किया वार्ता में सदर एसडीओ ने प्रतिनिधियों को बताया कि जिला समाहर्ता की ओर से चार डॉक्टरों को दोषी पाते हुए कार्रवाई के लिए स्वास्थ्य विभाग के सचिव एवं मुख्यमंत्री को लिखा गया है। दो कर्मचारी को सस्पेंड किया गया है। इस पर प्रतिनिधियों ने कहा कि डॉक्टर दोषी पाए गए हैं। उन पर मुकदमा अविलंब होना चाहिए मगर मुकदमा नहीं हो रहा है। यह बहुत ही दुखद बात है।
उन्होंने जिला समाहर्ता से समय लेकर कल प्रतिनिधिमंडल को वार्ता कराने का आश्वासन दिया। बेला जाम स्थल पर दलित शोषण मुक्ति मंच के जिलाध्यक्ष रामप्रीत राम, कांग्रेस सेवा दल के डॉ. जमाल हसन और भीम आर्मी के भोला पासवान की संयुक्त अध्यक्षता में सभा हुई। श्याम भारती ने कहा कि जांच रिपोर्ट में 5 डॉक्टर दोषी पाए गए मगर उन पर अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं होना बहुत ही चिंता की बात है। जिला के सांसद और विधायक चुप हैं। इनको भाजपा-जदयू का समर्थन है।
कांग्रेस सेवा दल के जिलाध्यक्ष डॉ. जमाल हसन ने कहा कि डीएमसीएच में कू व्यवस्था के चलते कितने परिवारों ने अपने लोगों की जान गवाई उत्तर बिहार का सबसे बड़ा अस्पताल है। यहां की व्यवस्था इतनी लचर है। लापरवाह डॉक्टर डीएमसीएच प्रशासन की मनमानी अपनी चरम सीमा को पार कर रही है। डीएमसीएच की कुव्यवस्था को बर्दाश्त नहीं करेंगे। जब तक बहन गंगा देवी को न्याय नहीं मिल जाता है तब तक हमारा संघर्ष यूं ही सड़कों पर जारी रहेगा।

Share

Check Also

आम तोड़ने को लेकर दो पक्षों के बीच झड़प में युवक की हत्या के बाद स्थिति तनावपूर्ण।

देखिए वीडियो भी 👆 दरभंगा: जिले के पतोर ओपी क्षेत्र के सोभेपट्टी गांव में सोमवार की…