Home Featured छात्र संघ चुनाव में वामदलों का बन सकता गठबंधन।
3 weeks ago

छात्र संघ चुनाव में वामदलों का बन सकता गठबंधन।

दरभंगा। ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) के कार्यकर्ताओं की बैठक रविवार को लनामिविवि परिसर स्थित नागार्जून प्रतिमा के समीप हुई। अध्यक्षता जिलाध्यक्ष प्रिस राज व संचालन जिला सचिव विशाल मांझी ने किया। बैठक में मुख्य रुप से छात्र संघ चुनाव को लेकर विचार-विमर्श किया गया और मजबूती के साथ चुनाव लड़ने का निर्णय लिया गया। राज्य सह सचिव संदीप कुमार चौधरी ने कहा कि विवि प्रशासन के छात्र संघ चुनाव कराने के निर्णय का हम स्वागत करते हैं और विवि के अंदर इस लोक पर्व को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने की जिम्मेवारी हम सभी छात्र संगठन व विवि प्रशासन की बनती है। कहा कि मोदी सरकार लगातार शिक्षा को निजीकरण और बाजारीकरण की ओर धकेल रही है। सभी सरकारी विवि को निजी हाथों में सौपा जा रहा है। विवि में निजी विचार को थोपा जा रहा है। लगातार शिक्षा बजट में कटौती की जा रही है। लगातार फीस वृद्धि, सीटों में कटौती, फंड कट, हॉस्टल में फीस वृद्धि समेत विभिन्न स्तरों पर आइसा ने राष्ट्रीय स्तर पर नेतृत्व किया है, और आंदोलन को जीता है। कहा कि चुनाव का बिगुल बजते ही उम्मीदवार मेंढ़क की तरह टर-टर करने लगते हैं। वैसे उम्मीदवार को छात्र-छत्राओ को नकारना चाहिए। कहा कि पूरे देश के कई विवि में फासीवादी शक्ति, संघी ताकत को छात्रों ने नकार दिया है, अब मिथिला विवि की बारी है। यहां भी छात्र-छात्राएं इन्हें नकारेंगे। कहा कि मिथिला विवि प्रशासन की ओर से किसी संगठन विशेष को सहायता पहुंचाने की नीयत से चुनाव के समय में पीजी विभाग व कॉलेजो में इंटरनल परीक्षा ली जा रही है, इससे चुनाव का कैंपेन डिस्टर्ब होगा। जिला सचिव विशाल मांझी ने कहा कि आइसा दरभंगा जिला में छात्र संघ चुनाव को मजबूती से लड़ेगी। कहा कि चुनाव में फासीवादी शक्ति को परास्त करने के लिए वाम लोकतांत्रिक गठबंधन बनाने की कोशिश की जाएगी। जिला अध्यक्ष प्रिस राज ने कहा कि छात्र संघ चुनाव में किसी एक संगठन या उम्मीदवार को स्पोर्ट करने वाले शिक्षकों पर विवि प्रशासन को नजर रखना चाहिए और वैसे शिक्षकों को चिन्हित कर उन पर कार्रवाई करनी चाहिए। बैठक में आइसा के राष्ट्रीय परिषद सदस्य मयंक कुमार, राहुल राज, जगदम्बा प्रसाद, मृत्युंजय कुमार, रिद्धि रानी, मो. तालिब, शहाबुद्दीन, संदीप कुमार, सरोज कुमार सहित कई कार्यकर्ता शामिल थे।
Share

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

दहेज के खातिर फिर एक अबला को घर से निकाला, बच्चों से भी किया दूर।

दरभंगा: दहेज लोभियों को दया धर्म कुछ नहीं होता उसे तो बस पैसा, मोटरसाइकिल या अन्य सामान चा…