Home Featured जिलाधिकारी ने किया तकनीकी विभागों के कार्यों की समीक्षा।
2 weeks ago

जिलाधिकारी ने किया तकनीकी विभागों के कार्यों की समीक्षा।

दरभंगा: जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम द्वारा गुरुवार को कार्यालय कक्ष में तकनीकी विभागों के कार्यों की समीक्षात्मक बैठक आयोजित की गई।
बैठक में जिलाधिकारी द्वारा जिला में कार्यरत सभी तकनीकी विभागों के कार्यपालक अभियंता को उनके द्वारा ली गई सभी जन उपयोगी योजनाओं का क्रियान्वयन को समय पूरा करने का सख्त निर्देश दिया गया। और उन्होंने हिदायत दी कि दरभंगा निगम क्षेत्र सहित अन्य सभी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जलापूर्ति की योजना गर्मी शुरू होने के पूर्व पूरी कर ली जाए। और जलापूर्ति योजनाओं के असफल होने के चलते अगर इस साल गर्मी के मौसम में पानी का संकट उत्पन्न हुआ, तो आपदा प्रबंधन विभाग के प्रावधानों के तहत संबंधित सभी एजेंसियों एवं संवेदक के विरुद्ध थाने में प्राथमिकी दर्ज कर कठोर कार्रवाई की जाएगी।
कार्यालय कक्ष में इस समीक्षात्मक बैठक में पाया गया, कि बुडको के द्वारा नगर क्षेत्र में मात्र एक्कतीस सौ घरों में ही पानी का कनेक्शन दिया गया है। जो कि अत्यंत ही कम है।बुडको एवं पथ निर्माण विभाग द्वारा शहर से जल निकासी हेतु नाला बनाया जा रहा है। लेकिन दोनों विभागों के कार्यपालक अभियंता को यह स्पष्ट ज्ञात नहीं है, कि पानी की निकासी किस पॉइंट पर होगी। इसको जिलाधिकारी द्वारा अत्यंत अफसोस जनक बताया गया एवं उक्त कार्यपालक अभियंता को नगर आयुक्त के साथ बैठक का जल निकासी पॉइंट चिन्हित कर नाला का तीव्र गति से निर्माण कराने को निर्देशित किया गया।
कार्यपालक अभियंता लोक स्वास्थ्य प्रमंडल को अर्सेनीक प्रभाव गांव एवं वार्डों में 8 अर्सेनिक ट्रीटमेंट संयंत्र स्थापित करने को कहा गया, कार्यपालक अभियंता ने बताया कि 8 अर्सेनिक प्रभावित कुल 24 वार्डों में ट्रीटमेंट संयंत्र लगाने हेतु टेंडर हो गया है।जिस पर जिलाधिकारी द्वारा कार्यपालक अभियंता को बताया गया कि कतिपय मिनी जलापूर्ति योजनाओं के फंक्शन नहीं रहने की शिकायतें प्राप्त हुई है। उन्हें इन योजनाओं के दोष को दूर कर इसे मार्च तक हर हाल में चालू किया जाए।
कार्यपालक अभियंता भवन प्रमंडल के द्वारा जानकारी दी गई कि दरभंगा में तारामंडल का निर्माण तेजी से हो रहा है।बिरौल, बेनीपुर, बहेरी एवं जाले प्रखंड में आईटी भवन तैयार कर हैंड ओवर कर दिया गया है। एवं बाणेश्वरी धाम का जीर्णोद्धार कार्य मार्च तक पूरा कर लिया जाएगा, तथा बाढ़ आश्रय स्थल का कार्य शुरू हो गया है।जिस पर जिलाधिकारी द्वारा बाढ़ आश्रय स्थल के निर्माण में विलंब के लिए सख्त नाराजगी व्यक्त किया गया।
कार्यपालक अभियंता पथ प्रमंडल दरभंगा द्वारा बैठक में जानकारी दी गई, कि सभी योजनाओं का कार्य प्रगति में है और यह तय समय सीमा के अंदर पूरा हो जाएगा। इसमें दरभंगा, कमतौल, बसैठा, मधवापुर पथ अहिल्या स्थान कमतौल अहिल्या स्थान, गौतम कुंड आदि पथ भी शामिल है।
कार्यपालक अभियंता भवन निर्माण निगम द्वारा जानकारी दी गई, कि मानू में 100 बेड का पुरुष छात्रावास का टेंडर हो गया है। जबकि एक सौ बेड का महिला छात्रावास का निर्माण के लिए प्रशासनिक स्वीकृति प्राप्त हो गई है।जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता द्वारा बताया गया कि ककरघट्टी तटबंध योजना का टेंडर हो गया है, शीघ्र ही निर्माण कार्य प्रारंभ किया जाएगा।
पथ प्रमंडल बुडको भवन प्रमंडल एल एईओ द्वारा बताया गया कि निर्माण स्थल पर कहीं-कहीं अतिक्रमण रहने के चलते कार्य कराने में मुश्किलें आ रही है। जिस पर जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त उप विकास आयुक्त, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, एवं जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी को अंचलाधिकारी एवं थाना के माध्यम से अतिक्रमण हटवा देने को कहा गया ।
इस अवसर पर उप विकास आयुक्त डॉक्टर काली प्रसाद महतो, जिला भू अर्जन पदाधिकारी, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी एवं सभी तकनीकी विभागों के कार्यपालक अभियंता उपस्थित थे।

Share

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

डीएम ने दिया वार्ड अध्यक्ष, सचिव और कनीय अभियंता पर प्राथमिकी का आदेश, बीडीओ से स्पष्टीकरण।

दरभंगा : मुख्यमंत्री सात निश्चय योजनाओं के क्रियान्वयन में अनियमितता प्रमाणित होने के बाद …