Home Featured जेएनजे ने लॉन्च किया करेंसी एवं डाक्यूमेंट्स सेनेटाइजर, 3500 रुपये में आमलोगों केलिए होगा उपलब्ध।
June 2, 2020

जेएनजे ने लॉन्च किया करेंसी एवं डाक्यूमेंट्स सेनेटाइजर, 3500 रुपये में आमलोगों केलिए होगा उपलब्ध।

देखिये वीडियो भी।

देखिये वीडियो भी👆

दरभंगा: अब आपकी जेब में रखे करेंसी नोट, मोबाइल फोन, iPads, चेक, चालान, पासबुक और पेपर जैसी चीजों पर कोरोना तो क्या कोई भी वायरस नहीं टिक पाएगा। इसके लिए JNJ इंटरप्राइजेज ने दरभंगा ने भी UV करेंसी एवं डॉक्यूमेंट सेनेटाइजर उपलब्ध करवा दिया है।
दरअसल इनदिनों कोरोना को हराने के लिए हर कोई अपनी भूमिका निभा रहा है। इसी कड़ी में लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए JNJ इंटरप्राइजेज द्वारा एक खास सिस्टम तैयार लॉन्च किया है। इस सिस्टम से आपकी जेब में रखे करेंसी नोट, मोबाइल फोन, iPads, लैपटॉप, चेक, चालान, पासबुक और पेपर जैसी चीजों पर कोरोना तो क्या कोई भी वायरस नहीं टिक पाएगा। दरअसल यह एक ऑटोमैटेड और कॉन्टैक्टलेस अल्ट्रावायलेट सैनिटाइजेशन कैबिनेट है। इसकी मदद से इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, करेंसी नोट और कागजों को सैनिटाइज किया जा सकेगा।
मंगलवार को शहर के आजमनगर में इसके लॉचिंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में जानकारी देते हुए कम्पनी के फाउंडर आलोक कुमार झा ने बताया कि प्रतिदिन दैनिक उपयोग में आने वाली वस्तुएं जैसे लैपटॉप, मोबाइल, चश्मा, पर्स, करेंसी, कोरियर से मंगाया सामान के साथ सैलून पर उपयोग में आने वाली समस्त सामग्री अथवा ऑपरेशन टेबल पर प्रयुक्त होने वाले औजार को सैनिटाइज करना आवश्यक हो गया है। कंपनी द्वारा संपूर्ण अध्ययन के बाद वस्तुओं को सैनिटाइज करने के लिए अल्ट्रावायलेट की ‘सी’ कैटेगरी की रेज (यूवीसी) का उपयोग कर कुछ सेकेंड्स में इन वस्तुओं को सैनिटाइज किया जा सकेगा। यह उपकरण 3500 रुपये की कीमत में जल्द ही आमजन के लिए शहर के सभी इलेक्ट्रॉनिक स्टोरों पर उपलब्ध हो जाएगा।
श्री झा ने बताया कि इसे जिगा मैन्यूफैक्चररिंग कंपनी के साथ डिजाइन किया गया और जीरो मेंटेनेंस के साथ इस पर काम किया। यह मशीन इको फ्रेंडली है। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के लोकल केलिए वोकल बनने के आह्वान पर इस उपकरण को बनाने में इस बात का खास ख्याल रखा गया है। हर व्यवसायी वर्ग का सामाजिक दायित्व भी है। आज इस मशीन के कार्य से ऐसे 40 बढई परिवार भी जुड़े हुए हैं जो पहले ठीक से भोजन नहीं कर पाते थे। इस लॉकडाउन में आज वह सभी बढ़ई के परिवार आज दिन रात इस मशीन का बॉक्स बनाते हैं और खुशहाल जिंदगी जी रहे हैं। इसका डिमांड भी मार्केट में बहुत है यह आपको आसानी से ऑनलाइन के माध्यम से ही मिल जाएगा और हमारा वेबसाइट www.jnjEnterprise.co.in पर भी उपलब्ध हैं ।
कार्यक्रम में बतौर अथिति उपस्थित भाजयुमो जिलाध्यक्ष बालेंदु झा बालाजी ने आलोक कुमार झा का प्रोत्साहित करते हुए कहा कि इस महामारी से उपजे संकट के इस दौर में हमें लोकल ने ही बचाया हैं और लोकल सिर्फ जरूरत नहीं, बल्कि हम सबकी जिम्मेदारी है ।
मोदी जी के सपने को एक नया अध्याय की शुरुआत दरभंगा से हो रही है इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या होगी । छोटे-छोटे इन्हीं प्रयासों से इन्हीं स्वदेशी प्रोडक्ट से आत्मनिर्भर बनेंगे देश और स्वयं को भी वैश्विक स्तर पर सबल बनाएंगे। लोकल लोगों को एक नया रोजगार भी मिलेगा। उन्होंने इस मशीन के बारे में बताया कि यह ऐसा मशीन है जिसको आसानी से एक जगह से दूसरे जगह भी ले जाया जा सकता है। इसके लिए हम धन्यवाद देना चाहेंगे जेएनजे इंटरप्राइजेज के फाउंडर आलोक कुमार झा को जो इस प्रकार के प्रोडक्ट के बारे में इन्होंने सोचा जिससे कंपनी स्वलंबी बनेगी ही और गरीब मजदूर स्वरोजगार भी इनके माध्यम से मिलेगा। साथ ही देश भी आत्मनिर्भर बनेगा।
इस मौके पर डॉ संतोष कुमार, चैतन्य मिश्रा, अजय लाल कर्ण, जय भारद्वाज, अमन कुमार झा, अनिल साह, अमन कुमार गुप्ता, चंद्र नारायण मंडल, नितिन झा आदि उपस्थित थे।

Share

Check Also

बाढ़ प्रभावित गांवों का एनडीआरएफ ने किया भ्रमण, फिलहाल सभी तटबंध सुरक्षित।

दरभंगा: जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र खासकर बिरौल अनुमंडल के कुशेश्वरस्थान पूर्वी, घनश्याम…