Home Featured मिथिला विश्वविद्यालय: विद्वत परिषद की बैठक में लिये गए कई महत्वपूर्ण निर्णय।
June 19, 2021

मिथिला विश्वविद्यालय: विद्वत परिषद की बैठक में लिये गए कई महत्वपूर्ण निर्णय।

दरभंगा: शनिवार को शाम चार बजे ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति की अध्यक्षता में विद्बत परिषद की बैठक की हुई। बैठक में विद्वत परिषद के लगभग 36 सदस्य उपस्थित हुए। इस बैठक में सबसे पहले 9 दिसम्बर 2020 को हुए विद्वत परिषद बैठक के कार्यवृत्त की संपुष्टि की गई। ‘विश्वविद्यालय अनुदान आयोग’ के निर्देश के आलोक में यूजी एवं पीजी के स्वयम कोर्सेज (MOOC) को जुलाई से अक्टूबर 2021 के बीच चलाएं जाने पर सहमति बनी। इसके आधार पर छात्र छात्राओं को क्रेडिट ट्रांसफर करने पर भी सहमति प्रदान की गई। अतिथि शिक्षको की नियुक्ति एवं शिक्षकों के प्रोन्नति

हेतु विभागाध्यक्षों से प्राप्त पैनल को अनुमोदित किया गया। परीक्षा विभाग में उपलब्ध पुराने सारणीयन पंजी के डिजिटलाइजेशन हेतु परीक्षा परिषद द्वारा लिए गए निर्णय को अनुमोदित किया गया। एम.ए., एम.कॉम., एमएससी तथा एलएलबी, एमडीएस की मूल उपाधि के प्रारूप को घटनोतर स्वीकृति प्रदान की गई।

कोरोना महामारी के दौरान शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मचारियों के दिवंगत होने की सूचना देते हुए कुलसचिव ने कुलपति एवं विश्वविद्यालय परिवार की ओर से शोक प्रकट किया। साथ ही विश्वविद्यालय स्तर से दिवंगत हुए कर्मचारियों के पाल्यो को जल्द से जल्द स्थिति सामान्य होने पर आवश्यक प्रक्रिया कर अनुकंपा पर नियुक्ति किए जाने की जानकारी दी। साथ ही कर्मचारियों के सभी प्रकार के बकाया भुगतान जल्द से जल्द किए जाने का भी आश्वासन दिया। कुलपति द्वारा अपने संबोधन में विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर विभागों के एवं महाविद्यालयों के छात्र छात्राओं के हित में डिजिटल प्लेटफार्म के अंतर्गत एक ऑनलाइन रिकॉर्डिंग चेंबर बनाए जाने की घोषणा की। आखिर में कुलपति की अनुमति से बैठक की समाप्त की गई।

Share

Check Also

19 से 25 मनेगा संस्कृत सप्ताह, पांच विशिष्ट विद्वान होंगे सम्मानित, छात्र भी होंगे पुरस्कृत।

दरभंगा: संस्कृत विश्वविद्यालय में 19 से 25 अगस्त तक संस्कृत सप्ताह का आयोजन होगा। इस दौरान…