Home Featured निजी अस्पतालों को 50 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों केलिए सुरक्षित रखने का डीएम ने दिया निर्देश।
3 weeks ago

निजी अस्पतालों को 50 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों केलिए सुरक्षित रखने का डीएम ने दिया निर्देश।

दरभंगा: कोरोना का प्रकोप बढ़ गया है। सरकारी अस्पतालों में जगह कम पड़ रही है। निजी अस्पताल इलाज से कतराते हैं। इसी को देखते हुए जिलाधिकारी डॉ0 त्यागराजन एसएम की अध्यक्षता में उनके कार्यालय प्रकोष्ठ में दरभंगा के प्रमुख निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज हेतु उनके प्रबंधकों के साथ बैठक की गई। बैठक में डीएम ने दरभंगा के प्रमुख निजी अस्पतालों में कोविड-19 के संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए सामान्य, आईसीयू एवं वेंटीलेटर वार्ड में उपलब्ध बेड का 50 प्रतिशत स्थान सुरक्षित रखने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि अगर कोई कोरोना संक्रमित मरीज अपना इलाज कराने किसी निजी अस्पताल में आता है, आपको उन्हें एडमिट कर उनका इलाज करना होगा। अगर किसी के इनकार करने की जानकारी मिलेगी तो संबंधित अस्पताल के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने निजी अस्पताल के प्रबंधकों को अपने अस्पताल में उपलब्ध कुल बेड में से 50 प्रतिशत बेड कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए सुरक्षित कर लेने तथा वहां कोविड-19 के प्रोटोकॉल के अनुसार इलाज की व्यवस्था कर लेने का निर्देश दिया। कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए निजी अस्पताल की दर के संबंध में सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग, बिहार सरकार द्वारा निजी चिकित्सा संस्थानों में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज हेतु प्रतिदिन का दर निर्धारित किया गया है। दरभंगा को बी श्रेणी में रखा गया है और बी श्रेणी के लिए एनएबीएच मान्यता प्राप्त अस्पताल के लिए सामान्य रूप से कोरोना संक्रमित बीमार के लिए आइसोलेशन बेड, (ऑक्सीजन के साथ, सपोर्टिव केयर के साथ) आठ हजार रुपये, गंभीर रूप से कोरोना संक्रमित बीमार के लिए आईसीयू में (बिना भेंडीलेटर के देखभाल के लिए) 12 हजार रुपये तथा अति गंभीर रूप से कोरोना संक्रमित बीमार के लिए (वेंटीलेटर के साथ आईसीयू में देखभाल के लिए) 14 हजार 400 रुपये प्रतिदिन का दर निर्धारित किया गया है। वैसे अस्पताल, जो एनएबीएच से मान्यता प्राप्त नहीं है, में सामान्य रूप से बीमार को आइसोलेशन बेड, (ऑक्सीजन के साथ, सपोर्टिव केयर के साथ) के लिए छह हजार 400 रुपये, गंभीर रूप से कोरोना संक्रमित बीमार के, आईसीयू में बिना वेटीलेटर के देखभाल के लिए 10 हजार 400रुपये तथा अति गंभीर रूप से कोरोना संक्रमित बीमार के लिए (वेेंटीलेटर के साथ आईसीयू में देखभाल के लिए) 12 हजार रुपये प्रतिदिन का निर्धारित किया गया है। बैठक में उप निदेशक जन संपर्क नागेंद्र कुमार गुप्ता, सिविल सर्जन डॉ0 संजीव कुमार सिन्हा, डीपीएम विशाल कुमार, यूनिसेफ के डॉ0 ओमकार चंद्र, डॉ0 शशिकांत सिंह, विश्व स्वास्थ्य संगठन के डॉ0 वासव राज, यूएनडीपी के डॉ0 पंकज कुमार आदि मौजूद थे।

Share

Check Also

कीमतों पर नियंत्रण के लिए बना नियंत्रण कक्ष

दरभंगा: जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम के द्वारा जिले के व्यवसायी संघ एवं थोक विक्रेताओं के …