Home Featured लगातार दो ट्रेनों में आग के बाद जागा रेलवे, निरीक्षण में पहुँचे डीआरएम ने दिए सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश।
September 9, 2019

लगातार दो ट्रेनों में आग के बाद जागा रेलवे, निरीक्षण में पहुँचे डीआरएम ने दिए सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश।

देखिये वीडियो भी

देखिये वीडियो भी👆
दरभंगा: तीन दिनों के भीतर दो ट्रेनों की बोगियों में आग लगने की घटना ने लगता है सुरक्षा को ताक पर रख गहरे नींद में सो रहे रेल प्रशासन को थोड़ा जगाया है। सोमवार दरभंगा पहुंचे समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम अशोक महेश्वरी ने रेल यार्ड का भी निरीक्षण किया और सुरक्षा के तमाम उपायों केलिए दिशा निर्देश जारी किया।
श्री माहेश्वरी ने कहा कि जंक्शन के खुले रेलवे यार्ड की बैरिकेडिंग करायी जाएगी। रेलवे यार्ड में सुरक्षा के लिए स्थाई तौर पर आरपीएफ के जवानों की मुस्तैदी होगी। रेलवे यार्ड में लाइट की भी मुकम्मल व्यवस्था की जाएगी। आरपीएफ के जवानों के लिए एकोमोडेशन की व्यवस्था भी की जाएगी। सुरक्षा को लेकर सभी जिम्मेदार विभाग हर पल मुस्तैद रहेंगे।
दरभंगा जंक्शन के रेलवे यार्ड के निरीक्षण के बाद जिला अतिथि गृह में पत्रकारों को संबोधित करते हुए डीआरएम ने कोच जलाए जाने के मामले को लेकर गंभीर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सुरक्षा के प्रत्येक पहलू की जांच की जा रही है। सुरक्षा के जिस बिंदु से कहीं भी थोड़ी चूक दिखाई देगी वहां के लिए मुकम्मल व्यवस्था रेल प्रबंधन करेगा। इसी सिलसिले में खुले पड़े रेलवे यार्ड की घेराबंदी को लेकर डीआरएम की ओर से निर्देश दिए गए। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जब तक स्थाई दीवार का निर्माण नहीं हो जाता तब तक बैरिकेडिंग कायम रहनी चाहिए। उन्होंने यार्ड में आरपीएफ जवानों के रहने की व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया। इसके अलावा रेलवे यार्ड में चारों तरफ प्रकाश की मुकम्मल व्यवस्था को लेकर इलेक्ट्रिक टावर लगाने का निर्देश भी दिया। विद्युत विभाग को भी लाइट की व्यवस्था को लेकर सक्रिय रहने को कहा। बोगी जलने की लगातार हो रही घटनाओं को ध्यान में रखते हुए दरभंगा जंक्शन पर अग्निशमन दस्ते की जरूरत भी महसूस की गई। इसको लेकर भी विचार करने की बात उठी। मालूम हो कि रेलवे यार्ड में स्पेयर कोच में आग लगा दिए जाने के उपरांत पूरा रेल महकमा सकते में आ गया है। एक सप्ताह में लगातार बोगी जलाए जाने की दो घटनाओं से रेल प्रबंधन में हड़कंप मच गया है। चार दिन पूर्व रैक पॉइंट पर बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट के एक स्लीपर कोच को भी जलाकर राख कर दिया गया था। डीआरएम ने रेलवे यार्ड से निकलकर जंक्शन के प्लेटफॉर्म नंबर एक पर स्थित फूड प्लाजा का भी निरीक्षण किया। फूड प्लाजा में मौजूद यात्रियों से डीआरएम ने कहा कि आप खाने-पीने के सामान लेने के उपरांत इन्हें बगैर रसीद लिए भुगतान नहीं करें। डीआरएम के साथ एईएन दिलीप कुमार, स्टेशन अधीक्षक अशोक कुमार सिंह, स्वास्थ्य निरीक्षक टीके चटर्जी, आरपीएफ निरीक्षक जवाहरलाल, दूरसंचार के अभियंता ज्ञान प्रकाश, विद्युत के कनीय अभियंता अजय कुमार मधु, आईओडब्ल्यू एसके झा, ईसीआरकेयू के डीसी मिश्रा आदि मौजूद रहे।

Share

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

जिला मलेरिया पदाधिकारी ने किया हायाघाट स्वास्थ केंद्र का निरीक्षण।

हायाघाट : जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ जय प्रकाश महतो ने शनिवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र…