Home Featured अखंड भारत केलिए डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने दिया था बलिदान: प्रदीप ठाकुर।
3 weeks ago

अखंड भारत केलिए डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने दिया था बलिदान: प्रदीप ठाकुर।

 

दरभंगा: पुण्यतिथियां तो अनेकों महापुरुषों की मनाई जाती हैं और आगे भी मनाई जाती रहेंगी। पर वे पुण्यात्मा बहुत भाग्यशाली होते हैं, जिनके समर्थक या उनकी विचारधारा पर चलने वाले उनके ‘बलिदान’ को अपने प्रयासों से सार्थक कर दुनिया के सामने इतिहास रचते हैं। 23 जून को डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि मनायी जाती है। इस पुण्यतिथि को असामान्य और असाधारण कहा जाएगा। अखंड भारत के लिए डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने कहा था कि भारत में यानी एक देश में ‘दो निशान, दो विधान एवं दो प्रधान’ नहीं चलेंगे।

उपरोक्त बातें भाजपा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रकोष्ठ के प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप ठाकुर ने डॉ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी के पुण्यतिथि पर आयोजित बलिदान दिवस पर कहीं। मंगलवार को मनीगाछी के राघोपुर में श्री ठाकुर के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने डॉ0 मुखर्जी के पुण्यतिथि को बलिदान दिवस के रूप में मनाया।
श्री ठाकुर ने कहा कि डॉ0 मुखर्जी ने भारतीय संसद में तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को कहा था कि ‘या तो मैं संविधान की रक्षा करूंगा नहीं तो अपने प्राण दे दूंगा’। हुआ भी यही। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी परमिट के बिना जम्मू-कश्मीर गए। उन्हें शेख अब्दुल्ला की सरकार ने गिरफ्तार किया। उन्होंने कहा— मैं इस देश का सांसद हूं। मुझे अपने देश में ही कहीं जाने से आप कैसे रोक सकते हैं। उन्हें गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी के कुछ ही दिनों बाद उन्हें मृत घोषित किया गया। वे अखंड भारत के लिए बलिदान देने वाले पहले भारतीय थे, जो जनसंघ के अध्यक्ष के रूप  में वहां गए थे।
23 जून के उसी बलिदान दिवस को भारतीय जनसंघ और अब भाजपा पुण्यतिथि के रूप में मनाती है। भारतीय जनसंघ से लेकर भाजपा के प्रत्येक घोषणा पत्र में अपने बलिदानी नेता डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के इस घोष वाक्य को कि ‘हम संविधान की अस्थायी धारा 370 को समाप्त करेंगे’, सदैव लिखा जाता रहा।
श्री ठाकुर ने कहा कि समय आया तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जिन्होंने स्वयं डा. मुरली मनोहर जोशी के साथ भारत की यात्रा करते हुए श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहराया था और गृहमंत्री अमित शाह ने 5 अगस्त, 2019 को धारा 370 को राष्ट्रहित में समाप्त करने के निर्णय को दोनों सदनों से पारित कर डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी द्वारा मां भारती के लिए जीवन देने को सच्ची श्रद्धांजलि दी।
इस मौके पर अशोक अमर, चंदन झा, परेश मिश्र, केदार लालदेव, रमेश चौधरी, राधावल्लभ झा आदि सहित दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Share

Check Also

आम तोड़ने को लेकर दो पक्षों के बीच झड़प में युवक की हत्या के बाद स्थिति तनावपूर्ण।

देखिए वीडियो भी 👆 दरभंगा: जिले के पतोर ओपी क्षेत्र के सोभेपट्टी गांव में सोमवार की…