Home Featured कैंसर से पीड़ित सुभद्रा देवी ने स्ट्रेचर पर पहुंच कर किया मतदान।
2 weeks ago

कैंसर से पीड़ित सुभद्रा देवी ने स्ट्रेचर पर पहुंच कर किया मतदान।

दरभंगा: कैंसर से पीड़ित सुभद्रा देवी का लोकतंत्र के प्रति उत्साह उन्हें मतदान करने से रोक नहीं सका। अंतिम सांसें गिन रहीं वृद्धा सोमवार को स्ट्रेचर पर लदकर वोट गिराने मतदान केंद्र पहुंची। वहीं, गुर्दा रोग से पीड़ित ममता देवी ने पहले मतदान किया, उसके बाद डायलिसिस के लिए आईसीयू गईं।

Advertisement

इनके अलावा कई बुजुर्गों और दिव्यांगों ने कड़ी धूप में विभिन्न बूथों पर पहुंचकर मतदान कर दूसरों को राह दिखाई। मतदान के प्रति उनके जज्बे की हर कोई तारीफ कर रहा है। कैंसर पीड़ित सुभद्रा देवी मतदान करने स्ट्रेचर पर लदकर विशनपुर थाना क्षेत्र के विष्णुपुर चौगमा स्थित मिडिल स्कूल के बूथ नंबर 116 पर वोट गिराने पहुंची। महिला के जज्बे को देख लोग चौंक पड़े। उनके बेटे विजय कुमार मिश्रा ने बताया कि वह मुश्किल से पानी की कुछ बूंदें घोंट पाती हैं। कई दिनों से वे मतदान करने की जिद पर अड़ी थीं। वे बार-बार कह रहीं थीं कि आगे उन्हें वोट गिराने का मौका नहीं मिलेगा। जाते-जाते वे अपनी पसंदीदा सरकार को चुनने में अपनी भूमिका निभाना चाहती हैं। मां की इच्छा पूरी करने के लिए उन्हें स्ट्रेचर पर वोट गिराने लेकर आए हैं। वहीं दूसरी ओर बहादुरपुर की ममता देवी वर्षों से गुर्दा रोग से पीड़ित हैं। उन्हें सोमवार को डायलिसिस के लिए जाना था। उन्होंने ठान ली कि पहले मतदान उसके बाद ही डायलिसिस। उनकी जिद के सामने परिजन भी बेबस हो गए।

Advertisement

मतदान के प्रति उनकी इच्छा पूरी करने परिजन उन्हें वोट गिराने के लिए बहादुरपुर में बूथ संख्या 116 पर लेकर पहुंचे। मतदान करने के बाद डायलिसिस के लिए उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया।

मतदान के प्रति देकुली निवासी उर्मिला देवी का उत्साह भी चरम था। वे 85 वर्ष की हो चुकी हैं, लेकिन मतदान के प्रति उनके जज्बे में कोई कमी नहीं आई है। वे करीब एक किलोमीटर चलकर बूथ संख्या 262 पर पहुंची। मतदान की पर्ची नहीं रहने की वजह से उन्हें वोट करने की अनुमति नहीं दी गई। बावजूद इसके उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। वापस घर लौटकर पहचान पत्र लेकर वे दोबारा मतदान केंद्र पहुंच गईं। उनके हौसले ने अन्य मतदाताओं को भी प्रेरित किया। इधर, बचपन से ही हाथ और पांव से दिव्यांग गंगासागर मोहल्ले के आनंद कुमार मिश्रा को तमाम परेशानियां मतदान करने से रोक नहीं सकी। दो लोगों के गोद के सहारे वे मतदान करने कुंवर सिंह कॉलेज स्थित बूथ संख्या 210 पहुंचे। वोट गिराने के बाद उत्साहित होकर उन्होंने कहा कि कोई भी परेशानी उन्हें लोकतंत्र के महापर्व में शामिल होने से रोक नहीं सकती है।

Share

Check Also

धूप में चक्कर खाकर बेहोश हुआ युवक, इलाज के दौरान हुई मौत।

दरभंगा: इन दिनों जिले में गर्मी सारा रिकॉर्ड तोड़ने पर आमादा है। इस कड़ी धूप के कारण एक युवक…