Home Featured धावा दल ने दो बाल श्रमिकों को कराया मुक्त।
March 14, 2023

धावा दल ने दो बाल श्रमिकों को कराया मुक्त।

दरभंगा: श्रम अधीक्षक राकेश रंजन के द्वारा बाल श्रमिकों की विमुक्ति के लिए दरभंगा नगर निगम एवं दरभंगा सदर अनुमंडल क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न दुकानों एवं प्रतिष्ठानों में धावा दल की टीम के द्वारा दुकानों/प्रतिष्ठानों में सघन जांच अभियान मंगलवार को चलाया गया। जांच के क्रम में 2 प्रतिष्ठान, जिसमें जय श्यामा स्वीट्स एवं भोजनालय से एक बाल श्रमिक, व्यंजन रेस्टोरेंट, बेंता चौक, लहेरियासराय से एक बाल श्रमिक। इस तरह से कुल 2 बाल श्रमिक को विमुक्त कराया गया। विमुक्त बाल श्रमिक को बाल कल्याण समिति, दरभंगा के समक्ष उपस्थापित कर निर्देशानुसार उन्हें बाल गृह में रखा गया है।

श्रम अधीक्षक, दरभंगा के द्वारा अपनी टीम के साथ शहर के हज़मा चौक, नाक नं-06, नाका नं-05, खानकाह चौक, मिर्ज़ापुर, आयकर चौक, रेडियो स्टेशन, दरभंगा स्टेशन, दोनार चौक वीआईपी रोड होते हुए लहेरियासराय स्थित सभी दुकान एवं प्रतिष्ठान में सघन जांच की गई तथा सभी नियोजकों से किसी भी बाल श्रमिक को नियोजित नहीं करने के लिए एक शपथ पत्र भरवाया गया तथा सभी दुकानों एवं प्रतिष्ठानों में बाल श्रम मुक्त परिसर से संबंधित स्टीकर भी चिपका गया। श्रम अधीक्षक के द्वारा बताया गया कि धावा दल नियमित रूप से प्रत्येक सप्ताह संचालित होगा।

Advertisement

उन्होंने बताया कि सर्वोच्च न्यायालय के द्वारा एम सी मेहता बनाम तमिलनाडु सरकार 1996 में दिए गए आदेश के आलोक में नियोजकों से ₹20000 प्रति बाल श्रमिक की दर से अलग से राशि की वसूली की जाएगी, जो डीएम के पदनाम से संधारित जिला बाल श्रमिक पुनर्वास सह कल्याण कोष में जमा किया जाएगा। इस राशि को जमा नहीं कराने वाले नियोजक के विरुद्ध एक सर्टिफिकेट केस या नीलाम पत्र वाद अलग से दायर किया जाएगा।

धावा दल के सदस्य के रूप में अमित कुमार कश्यप, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी, बहादुरपुर, दिलीप कुमार, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी लक्ष्मण कुमार झा आदि शामिल रहे।

Share

Check Also

पोलो मैदान में देर रात तक मिथिला के गीत-संगीत एवं संस्कृति की बहती रही रसधार।

दरभंगा: दरभंगा महोत्सव के पांचवें संस्करण का शनिवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ समापन ह…