Home Featured संस्कृत विश्वविद्यालय में जल्द होगी डिजिटाइजेशन की व्यवस्था।
4 weeks ago

संस्कृत विश्वविद्यालय में जल्द होगी डिजिटाइजेशन की व्यवस्था।

दरभंगा। कामेश्वर सिंंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय में बहुत जल्द प्रबधन में डिजिटाइजेशन का नया रूप देखने को मिलेगा। इससे नामांकन से लेकर परीक्षा परिणाम तक की सारी प्रक्रियाएं आॅनलाईन होंगी और वह भी नए मॉड्यूल में। बेशक कार्य संस्कृति में बदलाव आएगा और इसका ज्यादा लाभ छात्रों को मिलेगा। इसी कड़ी में शुक्रवार को कुलपति प्रो. लक्ष्मी निवास पांडेय की मौजूदगी में उनके कार्यालयी कक्ष में भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का उपक्रम ब्रॉडकास्ट इंजीनियरिंग कंसल्टेंट इंडिया प्रा. लि. (बीईसीआईएल यानीबेसिल ) के तीन सदस्यीय विषेषज्ञों की टीम ने प्रोजेक्टर पर प्रस्तुति दी।

Advertisement

इस दौरान विशेषज्ञों ने विश्वविद्यालय के लिए तैयार किये गए नए नए मॉड्यूल के माध्यम से विस्तार में यह बताने का भरपूर प्रयास किया कि नई डिजिटाइजेशन की व्यवस्था से विश्वविद्यालय की समस्त प्रबन्धन इकाई अपटूडेट हो जाएगी। टीम ने यह भी बताया कि किस प्रोसेस से नामांकन आवेदन किया जाएगा, फिर फाइनल नामांकन के लिए कौन से प्रक्रिया होगी। ऐसे ही परीक्षा विभाग के सारे कार्यों को आॅनलाईन किस मॉड्यूल से सम्पादित किया जाएगा, इसे भी टीम ने समझाया।

Advertisement

उक्त जानकारी देते हुए जनसम्पर्क पदाधिकारी निशिकांत प्रसाद सिंह ने बताया कि विशेषज्ञों की टीम राजभवन के निर्देश पर नए मॉड्यूल को समझने विश्वविद्यालय आयी थी। टीम ने स्पष्ट कहा कि डिजिटाइजेशन के नए मॉड्यूल लागू हो जाने से विश्वविद्यालय की समेकित प्रबन्धकीय व्यवस्था बदल जाएगी और कार्यों में तेजी आ जायेगी। मालूम हो कि विश्वविद्यालय और बेसिल के बीच मेमोरेंडम आॅफ अंडरस्टैंडिंग ( एमओयू ) होना अभी शेष है।

Advertisement

प्रजेंटेशन के मौके पर कुलपति प्रो. पांडेय, कुलसचिव डॉ. दीनानाथ साह, वित्त पदाधिकारी डॉ. जयकिशोर चौधरी, परीक्षा नियंत्रक शैलेन्द्र मोहन झा, सूचना वैज्ञानिक डॉ. नरोत्तम मिश्रा, डॉ.रामसेवक झा, डॉ. यदुवीर स्वरूप शास्त्री, राजेश कुमार झा मुख्य रूप से उपस्थित थे।

Share

Check Also

धूप में चक्कर खाकर बेहोश हुआ युवक, इलाज के दौरान हुई मौत।

दरभंगा: इन दिनों जिले में गर्मी सारा रिकॉर्ड तोड़ने पर आमादा है। इस कड़ी धूप के कारण एक युवक…