Home Featured तालाबंद मकान की छत से बरामद शव की हुई शिनाख्त, पीएचडी विभाग में कार्यरत था मृतक।
2 weeks ago

तालाबंद मकान की छत से बरामद शव की हुई शिनाख्त, पीएचडी विभाग में कार्यरत था मृतक।

दरभंगा:  जिले के घनश्यामपुर थाना क्षेत्र के कसरौर गांव के एक तालाबंद मकान की छत से बरामद अधेड़ की पहचान दूसरे दिन ही हो गई। मृतक अलीनगर थाना क्षेत्र के मिल्की गांव के वार्ड नंबर चार निवासी स्व.मार्कडेय झा के पुत्र वसंत कुमार झा (52) बताए जाते हैं। जो पीएचडी विभाग के लहेरियासराय स्थित पानी टंकी पर पंप आपरेटर के पद पर तैनात थे और पत्नी-बच्चों के साथ वहीं सरकारी क्वार्टर में रहते थे।

Advertisement

रविवार को बुरी तरह से सड़े-गले शव की शिनाख्त छोटे भाई कृष्ण कुमार झा ने मृतक के दाहिने पैर की पूर्व से कटी एक उंगली के आधार पर किया है। उन्होंने बताया कि तीन जुलाई को ड्यूटी से वापस आने के बाद वंसत झा अपनी ससुराल कसरौर गांव निवासी लाल चंद्र झा के यहां गये। इसके बाद से उनकी कोई खबर नहीं मिली। उन्होंने बताया कि शव देखने से चार दिन पुराना लग रहा है। जिससे प्रतीक होता है। बता दें कि ससुराल आए वसंत झा का शव जिस तालाबंद एक तल्ले मकान से मिला है वो उनके ससुर के सहोदर भाई उदय चंद्र झा का है। जो सपरिवार परदेस में रहते हैं। बगल में ही मृतक के बुजुर्ग ससुर लालचंद्र झा का भी दो मंजिला मकान है। बताया जाता है कि तालाबंद मकान के दरवाजे में एक आदमी के प्रवेश करने लायक जगह है। जिससे अनुमान लगाया जाता है कि उसी रास्ते से मृतक वसंत झा ने मकान में प्रवेश किया होगा। इस मकान से सटे अलग-बगल कई अन्य मकान भी मौजूद है। इसके बावजूद तीन दिनों तक खुले छत पर शव पड़ा और किसी की नजर नहीं पड़ी। शनिवार को शव की जानकारी तब हुई जब एक विनीता देवी नामक महिला ने अपने घर की छत से शव को देखा। सूचना पर पहुंची घनश्यापुर पुलिस ने शव के बगल से एक जहरीले पदार्थ का बोतल भी बरामद किया है। जिससे लोग आत्महत्या की आशंका जताते है पर यह भी सवाल उठाते हैं कि लहेरियासराय से कसरौर क्यों आएं।

Advertisement

इधर,बिरौल एसडीपीओ मनीष चंद्र चौधरी ने घटनास्थल का निरीक्षण कर थानाध्यक्ष को कई निर्देश दिया। बताया जाता है कि फिलहाल पुलिस इस मामले की गुत्थी सुलझाने में लगी है कि यह हत्या है या आत्महत्या। एसडीपीओ मनीष चंद्र चौधरी ने बताया कि पुलिस मामले से सभी बिंदुओं की छानबीन कर रही है। जल्द ही घटना का उद्भेदन कर लिया जाएगा। उधर,रविवार को पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन को सौंप दिया गया है। बताया कि मृतक का बिसरा सैंपल और फिंगर निशान जांच के लैब में भेजा गया है। बताया जाता है कि मृतक के एक पुत्र और दो पुत्री है। जिसमें से एक विवाहित है। घटना की जानकारी से परिवार में मातम पसर गया।

Advertisement
Share

Check Also

जीतन सहनी हत्याकांड में अभी और खुलेंगे राज, आरोपी को रिमांड पर लेने की तैयारी में पुलिस।

दरभंगा: वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी के पिता जीतन सहनी की हत्या मामले में अभी कई राज खुलने ब…