Home Featured नेहरू स्टेडियम में आयोजित हुआ गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह, आयुक्त ने किया झंडोत्तोलन।
4 weeks ago

नेहरू स्टेडियम में आयोजित हुआ गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह, आयुक्त ने किया झंडोत्तोलन।

दरभंगा: 75वें  गणतंत्र दिवस के अवसर पर लहेरियासराय अवस्थित नेहरू स्टेडियम में जिला प्रशासन दरभंगा द्वारा आयोजित मुख्य झंडोत्तोलन समारोह में दरभंगा प्रमण्डल के आयुक्त मनीष कुमार ने झंडोत्तोलन किया। इस अवसर पर प्रा.अ.नि. (परिचारी) प्रिया राज, प्रभारी उपस्कर शाखा, दरभंगा ने परेड का समादेशन किया। द्वितीय परेड समादेशक प्रा.अ.नि. (परिचारी) रूपक कुमार, प्रभारी डाक कोषांग, दरभंगा द्वारा किया गया।

परेड में बि.वि.स.पु.- 13/डी.ए.पी (पुरूष/महिला)/एन.सी.सी (बालक/बालिका), स्कॉट गाइट (बालक/बालिका)  तथा फायर ब्रिगेड परेड के एक-एक प्लाटुन जवानों ने भाग लिया।

इस अवसर पर क्रमशः नगर पुलिस अधीक्षक सागर कुमार, वरीय पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार, जिलाधिकारी दरभंगा राजीव रौशन एवं पुलिस उप महानिरीक्षक मिथिला क्षेत्र बाबू राम तथा आयुक्त, दरभंगा प्रमण्डल, दरभंगा मनीष कुमार को समादेशक एवं जवानों द्वारा उचित सम्मान दिया गया।

इस अवसर पर दरभंगा जिला को संबोधित करते हुए आयुक्त दरभंगा प्रमण्डल ने सभी को देश के 75वें गणतंत्र दिवस की बधाई दिया।

उन्होंने कहा भारत आज विश्व का सबसे बड़ा व मजबूत लोकतंत्र है, यह हमारे संविधान निर्माताओं की ही देन है। संविधान में दिए गए निर्देश के आलोक में हमारी सरकार जन कल्याण के लिए राज्य के विकास के लिए तथा देश को मजबूत करने के लिए अनेक योजनाएं चला रही है। उनमें कई प्रमुख योजनाएं हैं, जिनका सीधा एवं प्रत्यक्ष प्रभाव राज्य के विकास पर पड़ा है।

राज्य सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी कदम उठाए गए हैं पर्याप्त संख्या में शिक्षकों की उपलब्धता के लिए रिकॉर्ड समय में लगभग 02 लाख 16 हजार प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति की गयी है। इतनी बड़ी नियुक्ति एक साथ में राज्य सरकार द्वारा की गई है, वे अपने-आप में उल्लेखनीय मिशाल है।

बालिकाओं को शिक्षा और रोजगार से जोड़ने के लिए उल्लेखनीय कदम उठाये गए हैं, जिनमें छात्रवृत्ति, प्रोत्साहन राशि, साईकिल-पोशाक एवं अन्य योजनाएँ भी शामिल हैं।

Advertisement

दरभंगा जिला में ही लगभग 11 हजार 300 शिक्षकों को 02 नवम्बर एवं 13 जनवरी को नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया, इससे एक ओर जहाँ लाखों शिक्षित नौजवानों को रोजगार मिला, वहीं दूसरी ओर शिक्षा की गुणवत्ता में भी सुधार हो रहा है।

जिले के सभी लोगों को कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी रहे, कोई भी पात्र व्यक्ति किसी योजना से वंचित न रह सके, इसके लिए विगत महीनों में सभी प्रखंडों में जन संवाद कार्यक्रम चलाए गए, जिसमें आम लोगों की भागीदारी दर्शनीय रहा, इसके साथ ही सभी छात्रों को उनके लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी रहे तथा कोई भी छात्र योजनाओं के लाभ से वंचित न रह सके इसके लिए जिले के 346 उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षा संवाद कार्यक्रम चलाया गया, जिसमें आयुक्त एवं जिलाधिकारी ने स्वयं छात्रों को संबोधित किया।

मनरेगा के अंतर्गत लगभग 56 लाख मानव कार्य दिवस सृजित किए गए वहीं आवास योजना के अंतर्गत लगभग 02.15 लाख परिवारों को पक्का मकान मुहैया करवाया गया। लोहिया स्वच्छ बिहार योजना अंतर्गत डब्ल्यू.पी.यू का निर्माण सभी पंचायत में करवाया जा रहा है।

जल-जीवन-हरियाली योजना के तहत सतही जल क्षेत्र को बढ़ाया जा रहा है तथा भू-गर्भ जल को रिचार्ज करने हेतु निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। वहीं पर्यावरण संतुलन बनाये रखने के लिए लगातार वृक्षारोपण किये जा रहे हैं।

Advertisement

दरभंगा जिला में मुख्यमंत्री सात निश्चय पार्ट-01 एवं पार्ट-02 के अंतर्गत सभी 14 योजनाओं पर तेजी से कार्य किये जा रहे हैं। प्रत्येक व्यक्ति को स्वच्छ पेयजल, शौचालय, नाली-गली, प्रकाश की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। स्वच्छ गाँव, समृद्ध गाँव के तहत जिले के सभी पंचायत के सार्वजनिक स्थलों पर 10 एवं सभी वार्डों में 10-10 सोलर स्ट्रीट लाइट चरणवार लगवाए जा रहे हैं।

स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतर से बेहतर सेवा प्रदान की जा रही है, सुरक्षित प्रसव, शत-प्रतिशत पूर्ण टीकाकरण के साथ ही कुपोषित बच्चों की संख्या शून्य करने का प्रयास युद्ध स्तर पर जारी है।

परिवार कल्याण कार्यक्रम के क्षेत्र में जिले को प्रशंसनीय उपलब्धि प्राप्त हुई है, ओपीडी एवं आईपीडी में लगातार मरीजों की सुविधा में वृद्धि की जा रही है, इसके साथ ही डीएमसीएच, जो अपना शताब्दी वर्ष मना रहा है, 2500 से ज्यादा बेड का विस्तार किया जा रहा है, जो दरभंगा सहित पूर्वांचल के लिए एक वरदान सिद्ध होगा। स्वास्थ्य सुविधा के क्षेत्र में दरभंगा की अपनी पहचान रही है।

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई उल्लेखनीय कार्य किए गए हैं, जिनमें अत्याधुनिक तारामंडल-सह-विज्ञान संग्रहालय, फ्लोटिंग सोलर प्लांट, दरभंगा प्रेक्षागृह, आई.टी.आई पार्क, कुशेश्वरस्थान का पक्षी विहार शामिल हैं।

Advertisement

जिले में अनेक बड़े पथ, पुलिया का निर्माण करवाया गया है, जिससे आवागमन की सुविधा में विस्तार हुआ है। जल संसाधन विभाग ने कई तटबंधों को मजबूत करते हुए उन पर सड़क भी बनवाया है। फुहिया में तटबंध बन जाने से दरभंगा के कुशेश्वरस्थान क्षेत्र को बाढ़ से निजात मिली है।

सामाजिक सुरक्षा के अन्तर्गत पूर्ववत सभी पात्र लाभुकों को पेंशन दी जा रही है। संबल योजना ने दिव्यांगों के जीवन में आशा का नवसंचार किया है, जो जन-संवाद के दौरान उनकी जुबानी सुनने को मिली।

जीविका द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में 41 हजार स्वंय सहायता समूह का गठन कर लगभग 05 लाख परिवारों के महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाया है।

पंचायती राज व्यवस्था में 50 फिसदी एवं सरकारी नौकरी में 35 फिसदी आरक्षण प्रदान कर महिला सशक्तिकरण की दिशा में सरकार ने ऐतिहासिक कार्य किए हैं, जिसका दूरगामी प्रभाव आने वाले दिनों में दिखेगा।

आज इस 26 जनवरी गणतंत्र दिवस को जहाँ दरभंगा जिला अपनी 150वीं वर्षगांठ मना रहा है, वहीं डी. एम. सी.एच भी 100वीं वर्षगांठ तथा दरभंगा प्रमण्डल अपना 50वाँ वर्षगांठ मना रहा है।

स्वरोजगार एवं उद्यमिता को बढ़ावा देने हेतु मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति/जनजाति उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री अतिपिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना चलाया जा रहा है।

बिहार स्टार्ट अप नीति के तहत युवा उद्यमियों को बिना ब्याज के 10 लाख रूपये का ऋण उपलब्ध कराकर उद्यम के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।
आज इस पुनीत अवसर पर हम समाज के सभी लोगों का आहवान करते हैं कि देश और राज्य को आगे बढ़ाने में हम मिलजुल कर काम करेंगे एवं जागरूक रहकर स्वास्थ्य एवं समृद्ध देश का निर्माण करने में अपना योगदान देंगे।

तत्पश्चात कृषि विभाग, बिहार शिक्षा परियोजना, जिला बाल संरक्षण ईकाई, दरभंगा, जीविका दरभंगा, मद्यनिषेध एवं उत्पाद विभाग, दरभंगा, जिला स्वास्थ्य समिति, दरभंगा, लोक स्वास्थ्य प्रमण्डल, दरभंगा, सामाजिक सुरक्षा कोषांग, दरभंगा, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, दरभंगा, समेकित बाल विकास सेवाएँ, दरभंगा, उद्योग विभाग, दरभंगा, जिला निर्वाचन कार्यालय, दरभंगा, मिथिला वन प्रमण्डल, दरभंगा तथा दरभंगा अभियंत्रण महाविद्यालय, दरभंगा द्वारा झाँकी निकाली गई।

मुख्य समारोह के उपरान्त आयुक्त द्वारा ई-ऑफिस के सफल संचालन हेतु जिला पंचायत राज पदाधिकारी आलोक राज एवं पुलिस उपाधीक्षक इमरान अहमद को प्रशस्ति पत्र दिया गया, जबकि प्रधान लिपिक श्रीमती अनिता को ई-ऑफिस के सफल संचालन हेतु पुलिस उप महानिरीक्षक मिथिला क्षेत्र, दरभंगा द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया।

शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य हेतु डाटा इन्ट्री ऑपरेटर राघव आनन्द को जिलाधिकारी द्वारा तथा लेखा सहायक-सह-डाटा इन्ट्री ऑपरेटर बलराम कुमार साह को आयुक्त द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया, जबकि शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य हेतु शिक्षक डॉ. लक्ष्मी कुमार कर्ण को आयुक्त एवं जिलाधिकारी द्वारा संयुक्त रूप से प्रशस्ति पत्र दिया गया।

गुड सेमेरिटन (सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति को अस्पताल पहुँचाने) हेतु मनोज कुमार चौधरी को बेनीपुर के माननीय विधायक विनय कुमार चौधरी द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया।

अपराध शाखा में कांडों के त्वरित समय में निष्पादन हेतु सहायक उपनिरीक्षक रंजीत कुमार को आयुक्त महोदय द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया।
तत्पश्चात परेड का बेहतर समादेशन हेतु प्रा.अ.नि. (परिचारी) प्रिया राज तथा प्रा.अ.नि. (परिचारी) रूपक कुमार को आयुक्त महोदय द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया।

वहीं परेड में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले डी.ए.पी (महिला) को, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले डी.ए.पी (पुरुष) को तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले बि.वि.स.पु.- 13 को पुलिस उप महानिरीक्षक मिथिला क्षेत्र, दरभंगा द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया।

झाँकी में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले शिक्षा विभाग के जिला शिक्षा पदाधिकारी, दरभंगा समर बहादुर सिंह को प्रशस्ति पत्र दिया गया। झाँकी में द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले समेकित बाल विकास परियोजनाएँ के डी.पी.ओ (आई.सी.डी.एस) डॉ रश्मि वर्मा को तथा द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले ही मिथिला वन प्रमण्डल, दरभंगा के वन प्रमण्डल पदाधिकारी, दरभंगा श्रीमती रुचि सिंह को प्रशस्ति पत्र दिया गया। झाँकी में तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले जीवका के डी.पी.एम (जीविका) डॉ. ऋचा गार्गी को तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले ही डी.आर.डी.ए के उप विकास आयुक्त को प्रशस्ति पत्र दिया गया।

Share

Check Also

पोलो मैदान में देर रात तक मिथिला के गीत-संगीत एवं संस्कृति की बहती रही रसधार।

दरभंगा: दरभंगा महोत्सव के पांचवें संस्करण का शनिवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ समापन ह…