Home Featured पेयजल को लेकर पीएचइडी मंत्री ने की समीक्षा बैठक।
February 26, 2023

पेयजल को लेकर पीएचइडी मंत्री ने की समीक्षा बैठक।

दरभंगा: वर्ष 2022 व 23 में बाढ़ नहीं आने व वर्षा की भी कमी को देखते हुए आने वाले गर्मी के मौसम में खासकर दरभंगा नगर निगम क्षेत्र व दरभंगा ग्रामीण क्षेत्र में संभावित पेयजल की समस्या को लेकर दरभंगा, समाहरणालय अवस्थित बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर सभागार में लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग, बिहार सरकार के माननीय मंत्री ललित कुमार यादव की अध्यक्षता में गहन समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

बैठक में लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से जिले के विभिन्न प्रखंडों के वाटर लेवल व वाटर लीवर की स्थिति से अवगत कराया गया। आने वाले गर्मी के मौसम में यदि वाटर लेवल नीचे चला जाता है तो छोटे चापाकल में समस्या उत्पन्न हो सकती है।

जिलाधिकारी, दरभंगा राजीव रौशन द्वारा वर्तमान वर्ष में वर्षा कम होने के कारण शहरी क्षेत्र सहित पूरे जिले में जलस्तर में हो रही कमी की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए गर्मी के मौसम में संभावित जल संकट से निपटने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य करने की आवश्यकता बताई गयी।

उन्होंने कहा कि यदि आने वाले गर्मी के समय में वर्षा नहीं होती है और किसी स्थान का वाटर लेवल नीचे चला जाता है, तो वहाँ एकाएक पेयजल की समस्या उत्पन्न हो जाएगी और उस समय सार्वजनिक चापाकल पर दबाव बढ़ जाएगा।

Advertisement

इसलिए अभी से नये चापाकल लगाने, पुराने चापाकल में राइजर पाईप व सिलेंडर लगाकर चालू रखने हेतु टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर लेने हेतु निर्देशित किया।

पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता व कार्यपालक अभियंता ने बताया कि आकस्मिकता के लिए चापाकल मरम्मति टीम का गठन किया जा चुका है।

जिलाधिकारी ने कहा कि टीम के साथ-साथ संबंधित सामग्री का दर निर्धारण भी कर लिया जाए।

बैठक में माननीय नगर विधायक संजय सरावगी द्वारा शहरी क्षेत्र के लक्ष्मीसागर एवं सुन्दरपुर सहित सभी 08 शहरी जलापूर्ति टावर को चालू कराने के साथ-साथ लीकेज पाइप की मरम्मति करवाने, खराब चापाकलों की मरम्मति एवं बंद चापाकल के स्थान पर नए चापाकल लगाने हेतु अनुरोध किया गया। साथ ही यह भी बताया गया कि चापाकल के लिए पर्याप्त राशि नगर आयुक्त द्वारा पीएचईडी को उपलब्ध कराया गया है और कराया जा रहा है।

मंत्री द्वारा अपने अधीक्षण अभियंता एवं सभी विभागीय अभियंताओं को शहरी क्षेत्र सहित जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी पेयजल की समस्या से निपटने के लिए तत्काल युद्ध स्तर पर कार्य प्रारंभ करने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि विभाग से जो भी सहयोग अपेक्षित है वह उपलब्ध कराया जाएगा।

उन्होंने पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता एवं कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया कि दरभंगा शहरी क्षेत्र के सभी सम्प हाउस, जलापूर्ति टावर, मुख्य पाइप लाइन, ब्रांच पाइप लाइन एवं सभी घरों के पाइप लाइन कनेक्शन की जाँच 15 दिनों के अंदर कराकर आवश्यकतानुसार उन्हें दुरुस्त कर लें।

उन्होंने कहा कि नगर आयुक्त शहरी क्षेत्र के प्रमुख चौक-चौराहे पर चापाकल की आवश्यकता का आकलन कर लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग को सूची उपलब्ध करा दें। पीएचईडी द्वारा वहाँ चापाकल की व्यवस्था की जाएगी।

Advertisement

बैठक में सभी प्रखण्ड एवं अंचलों से चापाकलों की सूची प्राप्त की गयी।

बैठक में नगर आयुक्त कुमार गौरव द्वारा बताया गया कि शहरी क्षेत्र के सभी वार्डों में कुल 200 चापाकल नगर निगम द्वारा एक माह के अंदर लगाया जाना है। इसके लिए नगर निगम को राशि उपलब्ध है।  बैठक की कार्यवाही नगर आयुक्त के धन्यवाद ज्ञापन के साथ समाप्त की गयी।

बैठक में दरभंगा नगर निगम के महापौर अंजुम आरा, उप महापौर नाजिया हसन, उप विकास आयुक्त  अमृषा बैंस, पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता, कार्यपालक अभियंता, जिला आपदा प्रबंधन प्रभारी सत्यम सहाय, सभी अंचलाधिकारी, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी सहित सभी संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

Share

Check Also

सड़क किनारे मिली युवक की लाश, एसिड पिलाकर हत्या करने का आरोप।

दरभंगा: कमतौल थाना क्षेत्र की हरिहरपुर-कनौर सड़क पर कनौर बस्ती के पास शुक्रवार अलसुबह एक य…