Home Featured बैंक के लॉकर में रखे राज परिवार द्वारा संचालित ट्रस्ट के करोड़ो के जेवरात गायब, जांच में जुटी पुलिस।
4 weeks ago

बैंक के लॉकर में रखे राज परिवार द्वारा संचालित ट्रस्ट के करोड़ो के जेवरात गायब, जांच में जुटी पुलिस।

देखिए वीडियो भी

दरभंगा: दरभंगा में करोड़ो की जेवरात गायब होने की सूचना से दरभंगा राज परिवार में खलबली मच गई है। दरअसल इस परिवार दवारा संचालित ट्रस्ट के 108 मंदिरों के करोड़ों के आभूषण गायब होने की सूचना है। मामला राज परिवार द्वारा संचालित कामेश्वर रिलीजियस ट्रस्ट से जुड़ा है। इस ट्रस्ट के 108 मंदिरों के देवी-देवताओं के बहुमूल्य जेवरात भारतीय स्टेट बैंक के बोल्ट से गायब होने की सूचना है। आनन फानन में दरभंगा महाराज सर कामेश्वर सिंह के पौत्र कुमार कपिलेश्वर सिंह ने इस बात की लिखित शिकायत विश्वविद्यालय थाना में की है।

Advertisement

आवेदन मिलते ही दरभंगा पुलिस ने त्वरित कारवाई करते हुए ट्रस्ट के मैनेजर विष्णु कुमार मिश्र एवं उदय नाथ झा को गिरफ्तार कर पूछताछ की। जिसके बाद गिरफ्तार आरोपी की निशानदेही पर दरभंगा टावर स्थित स्वर्ण व्यवसाई शत्रुघ्न लाल को गिरफ्तार कर गायब सामान को जब्त कर पुलिस कारवाई में जुट गई है।

Advertisement

कपिलेश्वर सिंह ने अपने आवेदन में कहा है कि उदयनाथ झा उर्फ विष्णु और कामेश्वर रिलिजियस ट्रस्ट के प्रबंधक केदारनाथ मिश्र एवं अन्य द्वारा साजिश कर उक्त बोल्ट में रखे गए जेवरातों को निकालकर बेच दिया गया है। साथ ही यह भी जानकारी मिली है कि इस घटना को 15 से 20 दिन पहले ही अंजाम दिया गया है। उन्होंने कहा ट्रस्ट से जुड़ी महारानी अब काफी वृद्ध हो चुकी है। जिसके कारण वे अपने होशो हवास में प्रायः नहीं रहती हैं। जिसका नाजायज फायदा उठाकर उदयनाथ झा ने कामेश्वर रिलिजियस ट्रस्ट के देवी देवताओं के मंदिर के करोड़ों की बेशकीमती संपत्ति को बेच दिया है।

Advertisement

कपिलेश्वर सिंह ने अपने आवेदन में कहा है कि कामेश्वर रिलिजियस ट्रस्ट के बायोलॉज के अनुसार यदि ट्रस्ट जिसकी वर्तमान में एकमात्र ट्रस्टी महारानी हैं, द्वारा सही ढंग से कामेश्वर रिलिजियस ट्रस्ट का कार्य नहीं किया जाता है तो राज परिवार के किसी भी पुरुष सदस्य द्वारा इस मामले को उठाया जा सकता है और इसी नियम के तहत में जिला प्रशासन को सूचना दे रहा हूं। ताकि देवी देवताओं के बहुमुल्य जेवरातों की बरामदगी की जा सके और दोषियों को उचित सजा मिल सके।

कुमार कपिलेश्वर सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमलोग का एक ट्रस्ट हैं। जिसे सर कामेश्वर सिंह ने बनाया था। जिसके अंदर 108 मंदिर पूरे विश्व में बनाए गए हैं। जिसके अंदर मंदिर, पोखर, जमीन और ऑर्नेमेंट्स भी हैं। ऑर्नेमेंट्स को ट्रस्ट के ट्रस्टीज द्वारा SBI के लॉकर में रख दिया गया था। मुझे पता चला की मैनेजर और उदय नाथ झा ने लॉकर खोलकर आभूषण निकालकर बेच दिए गए हैं। सूचना मिलने के बाद मैं दरभंगा आया हूँ।

उन्होंने कहा है कि आरोपी मैनेजर से बात की तो उन्होंने स्वीकार किया है कि उन्हें उदय नारायण झा ने कहा था। जिसके बाद एफआईआर करने के लिए आवदेन दिया है। वही उन्होंने कहा की ये बहुत बड़ा घोटाला है। इसमें सीबीआई जांच होनी चाहिए। ईडी इंक्वायरी होना चाहिए।

वही सदर एसडीपीओ अमित कुमार ने बताया की यूनिवर्सिटी थाना मे दरभंगा राज परिवार के कपिलेश्वर सिंह के द्वारा मामला दर्ज कराया गया है। मामले को संज्ञान में लेते हुए तत्काल ही पूछताछ की गई और तकनीकी अनुसंधान करते हुए रेड की गई। मामले के दर्ज होने के एक घंटे के भीतर काफी मात्रा में जो माल बेचा गया था वो बरामद हुआ है। एक स्वर्णकार को हिरासत में लिया गया है। और पूछताछ की जा रही है। अभी 3 लोग गिरफ्तार हुए हैं। बाकी मामले की जांच की जा रही है।

Share

Check Also

पोलो मैदान में देर रात तक मिथिला के गीत-संगीत एवं संस्कृति की बहती रही रसधार।

दरभंगा: दरभंगा महोत्सव के पांचवें संस्करण का शनिवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ समापन ह…