Home Featured सेवानिवृति पर अपर समाहर्ता-सह-अपर जिला दंडाधिकारी राजेश झा राजा को दी गई विदाई।
4 weeks ago

सेवानिवृति पर अपर समाहर्ता-सह-अपर जिला दंडाधिकारी राजेश झा राजा को दी गई विदाई।

दरभंगा: समाहरणालय अवस्थित बाबा साहेब डॉ.भीमराव अंबेडकर सभागार में अपर समाहर्ता-सह-अपर जिला दंडाधिकारी राजेश झा राजा को जिलाधिकारी दरभंगा राजीव रौशन एवं समाहरणालय परिवार की ओर से पाग,चादर एवं पुष्प गुच्छ देकर भाव-भीनी विदाई दी गई।

Advertisement

इस अवसर पर अंचलाधिकारी सदर, अंचलाधिकारी मनीगाछी, वरीय कोषागार पदाधिकारी शंभू कुमार आर्य, जिला कल्याण पदाधिकारी मो.असलम अली, अपर समाहर्ता जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी अनिल कुमार,अपर समाहर्ता विधि व्यवस्था राकेश कुमार रंजन,अपर समाहर्ता आपदा सलीम अख्तर,उप विकास आयुक्त प्रतिभा रानी द्वारा उनके कार्यकाल के दौरान किए गए प्रशंसनीय कार्य का उल्लेख किया तथा उनके प्रसन्नचित्त व्यक्तित्व की प्रशंसा की।

इस अवसर पर जिलाधिकारी दरभंगा राजीव रौशन ने अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि आज का दिन विशेष है, विशेष इस अर्थ में है की राजेश झा राजा अपर समाहर्ता प्रशासनिक सेवा के एक दायित्व को सफलतापूर्वक पूर्ण करने में सफल रहे हैं।

Advertisement

उन्होंने कहा कि जिंदगी में कई सारे पड़ाव आते हैं,कई सारे मुकाम होते हैं,जरूरी यह है कि उस मुकाम को,पड़ाव को कितना बखूबी,कितने बेहतरीन तरीके से करके निकलते हैं और वही छाप रह जाती है, जो आप ने अपने कर्तव्य के दौरान निभाया है।

उन्होंने कहा कि वास्तव में काम अलग अलग होता है, लेकिन करने के तरीके भी अलग होते हैं और जो सही तरीके से किया है, वही प्रशंसनीय रहता है।

उन्होंने कहा कि इस पद पर बहुत सारे पदाधिकारी काम किए हैं और आगे भी करेंगे, कुछ पदाधिकारी के काम करने की तरीके से विशेष प्रतिष्ठा मिलता है।

उन्होंने राजेश झा राजा हमारे साथ दो बार काम किए हैं, उन्होंने कहा कि कोई भी कार्य के लिए हमेशा सक्रिय एवं स्पष्ट रहते हैं।

जिलाधिकारी ने एक कवि की दो पंक्तियां सुनाई-रात यूं कहने लगा मुझसे गगन का चाँद, आदमी भी क्या अनोखा जीव होता है। उलझनें अपनी बढ़ाकर आप ही फंसता और फिर बेचैन हो जगता न सोता है।

उन्होंने कहा कि राजेश झा राजा जी कर्तव्यनिष्ठ पदाधिकारी हैं। उन्होंने कहा कि ईश्वर ने इंसान को अनंत संभावनाओं के साथ बनाया है।

उन्होंने कहा कि जिले में कई सारे काम राजस्व के हुए हैं और इन्होंने सही से निर्वहन किया है। उन्होंने कहा कि लोक सेवा में आने का प्राथमिक दायित्व है कि पब्लिक सेवा करना, हम पब्लिक की सेवक हैं और उनका समाधान सही तरीके से करें। राजस्व में पहले की अपेक्षा अभी बहुत सारे बदलाव हुए हैं, आने वाले समय में और भी तकनीकी बढ़ते जा रहे हैं और भी बदलाव होंगे।

Advertisement

उन्होंने कहा कि भूमि विवाद का निपटारा करने के लिए शनिवारीय बैठक की जाती है, जिसमें अंचलाधिकारी एवं थाना प्रभारी को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है कि वहां बैठक कर लोगों की बात सुनकर उनका न्यायपूर्ण समाधान करें और इसमें भी इनका नेतृत्व रहता था।

उन्होंने कहा कि इनके नेतृत्व में कोई भी निर्देश देते थे, तो तुरंत निष्पादन होता था, चाहे राजस्व का मामला हो या आरटीपीएस का हो, चाहे दरभंगा एयरपोर्ट का मामला हो रिकॉर्ड समय में पूरा किए हैं।

उन्होंने कहा कि जो भी हम इनको निर्देश देते थे तो हम मान लेते थे कि यह काम हो गया होगा और बहुत तेजी से हो भी जाता था। उन्होंने कहा कि इन्होंने ई-ऑफिस को भी राजस्व शाखा में बहुत अच्छी तरह से संचालित करवाए हैं। नीलाम वाद को अच्छी तरह से निष्पादित करवाए हैं और दरभंगा जिला प्रथम स्थान पर रहा है,सर्वे कार्यालय को समाहरणालय परिसर में लाने में इनका नेतृत्व रहा है।

उन्होंने कहा कि विकास तभी होगा जब जिले में, राज्य में एवं देश में शांति होगी।

उन्होंने अपनी शुभकामनाएं दी तथा उम्मीद जताई कि सेवानिवृत्ति के उपरांत भी राजेश झा राजा को उनके देय प्रोन्नति प्राप्त हो सके।

इस अवसर पर उपस्थित सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों द्वारा माला पहनाकर अपर समाहर्ता को हार्दिक विदाई दी गयी।

Share

Check Also

पोलो मैदान में देर रात तक मिथिला के गीत-संगीत एवं संस्कृति की बहती रही रसधार।

दरभंगा: दरभंगा महोत्सव के पांचवें संस्करण का शनिवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ समापन ह…