Home Featured वंचित वर्ग केलिए हमेशा खुला रहा कर्पूरी ठाकुर का दरवाजा: डॉ कुमार गौरब।
January 24, 2024

वंचित वर्ग केलिए हमेशा खुला रहा कर्पूरी ठाकुर का दरवाजा: डॉ कुमार गौरब।

दरभंगा: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और जननायक केरूप में ख्यातिलब्ध समाजवादी विचारधारा के प्रणेता कर्पूरी ठाकुर की जयंती बुधवार की सुबह पंडासराय स्थित राजद अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के कार्यालय में धूम-धाम से मनाया गया। कार्यक्रम का नेतृत्व राजद अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ कुमार गौरव ने किया। पार्टी कार्यालय में कई राजद कार्यकर्ताओं और आमजनों ने उनके चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर बिहार में सामाजिक क्रांति के नायक केरूप में उन्हें याद किया।

Advertisement

दरभंगा स्थित पार्टीकार्यालय पर जयंती मनाने के बाद डॉ. कुमार गौरव के नेतृत्व में अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के नेता एवं कार्यकर्ताओं ने पटना में आयोजित कार्यक्रम के लिए प्रस्थान किया।

इस अवसर पर भारतीय राजनीति में उनके प्रवेश को अवतार के रूप में चिह्नित करते हुए डॉ कुमार गौरव ने कहा कि दलितों पिछड़ों और अकलीयतों के लिए उनका संघर्ष इतिहास के स्वर्ण अक्षरों में दर्ज है जिसे पढ़ कर नई पीढ़ी की चेतना जागृत होती है। वंचित वर्ग के लिए कर्पूरी ठाकुर के दरवाजेहमेशा खुले रहे।

Advertisement

कुमार गौरब ने कहा कि पहली बार मुख्यमंत्री बनने के बाद कर्पूरी ठाकुर ने सचिवालय में जातीय जकड़बंदी और अफसरशाही पर हमला करते हुए आम आदमी और छोटे कर्मचारियों के लिए वर्जित लिफ्ट के उपयोग को सर्वसुलभ कर दिया था। अति पिछड़ों के लिए आरक्षण लागू करके उन्होंने बिहार की राजनीति को नई दिशा दी। उन्होंने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर आजादी के पहले छात्र जीवन में ही पढाई छोड़ कर देश के लिए समर्पित हो चुके थे जो संघर्ष जीवन के अन्तिम क्षण तक जारी रहा। उनका कार्यकाल विरोधियों को सकते में डाल रखा था।क्योंकि वंचित वर्ग के लिए उनके दरवाजे हमेशा खुले मिलते थे। उन्होंने भारत सरकार द्वारा जननायक को मरणोपरांत भारत रत्न देने का स्वागत करते हुए कहा कि इस सम्मान के हकदार वे बहुत पहले थे।

उन्होंने कहा कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव एवं उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव लगातार उनके सपना को साकार करने में लगे हुए हैं। जातीय जनगणना एवं आरक्षण की सीमा बढ़ाना उनके सपना को साकार करने के समान है।

Advertisement

इस दौरान राजद नेता हनुमान ठाकुर, महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष यासमीन खातून,बगोपाल लाल देव, सुजीत गौरब, हरेराम लाल देव, राम बाबू लाल देव, सत्यनारायण लाल देव, राहुल प्रसाद, देवराज महतो, महेंद्र पासवान, नीरज यादव, कमल यादव, महेश लाल देव, पिंकी देवी,बबिनोद लाल देव, मो अंजार, मो जफर, राजाराम लाल देव, संजय यादव, हेमंत यादव, नीतीश कुमार समेत अन्य नेता व कार्यकर्ता भी मौजूद थे।

Share

Check Also

पोलो मैदान में देर रात तक मिथिला के गीत-संगीत एवं संस्कृति की बहती रही रसधार।

दरभंगा: दरभंगा महोत्सव के पांचवें संस्करण का शनिवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ समापन ह…