Home Featured नगर निगम की बैठक में जोर शोर से उठा शहर में पीने के पानी की किल्लत का मामला।
3 weeks ago

नगर निगम की बैठक में जोर शोर से उठा शहर में पीने के पानी की किल्लत का मामला।

दरभंगा: दरभंगा नगर निगम की महापौर अंजुम आरा की अध्यक्षता में शनिवार को निगम सभागार में सामान्य बोर्ड की बैठक हुई। इसमें कुल 13 एजेंडों पर चर्चा की गई।

Advertisement

बैठक में बोर्ड के सदस्यों द्वारा पीने के पानी की समस्या अध्यक्ष महापौर अंजुम आरा के समक्ष जोर-शोर से उठाया गया। उन्होंने निर्णय लिया कि सभी वार्डों में दो-दो अतिरिक्त सबमरसेबल पंप लगाकर पाइपलाइन से अधिक से अधिक लोगों तक पानी पहुंचाने की व्यवस्था की जायेगी। सभी सदस्यों ने इस निर्णय की सराहना करते हुए सहमति दी। बैठक में चट्टी चौक गुमती नंबर 21 पर चल रहे रेल ओवरब्रिज निर्माण को लेकर बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के दरभंगा प्रमंडल द्वारा पहुंच पथ के सीमा क्षेत्र एलाइनमेंट में नगर निगम के स्वामित्व वाले बाजार भवन क्षेत्र बीके रोड लहेरियासराय स्थित 74 दुकानों में से 64 को हटाने का अनुरोध किया गया था। सर्वेक्षण के बाद उक्त दुकानों को हटाने के लिए पत्राचार किया गया है। साथ ही विस्थापित दुकानों को स्थापित करने को लेकर चर्चा की गई।

Advertisement

बैठक में निर्णय लिया गया कि बाजार भवन के पिछले हिस्से उत्तर दिशा में नगर निगम की 20 फीट से अधिक चौड़ा भू भाग उपलब्ध है। वहां कच्चा नाला बना हुआ है। उक्त नाले पर पक्का निर्माण कर उसके ऊपर नवनिर्माण कर मूल आवंटियों को दुकान मुहैया करवायी जाएगी।

लहेरियासराय प्राइवेट बस व टेंपू स्टैंड की सुरक्षित राशि अधिक होने के कारण कोई भी संवेदक निविदा में भाग नहीं लेते थे। अभी के दिनों में नगर निगम के कर्मियों द्वारा लहेरियासराय बस स्टैंड का संचालन किया जा रहा है। निविदा नहीं होने के कारण नगर निगम को राजस्व की क्षति हो रही है। नगर निगम के मुताबिक वर्ष 2022- 23 में उक्त बस और टेंपू स्टैंड से 12 लाख रुपए की वसूली की गई। इसमें चार लाख से अधिक रुपये विभिन्न मदों में खर्च हो गए। खर्च के बाद नगर निगम को पूरे वित्तीय वर्ष में आठ लाख की आमदनी होती है।

इसे लेकर पूर्व में हुई कई बोर्ड की बैठक में चर्चा की गई। सभी सदस्यों की राय और नगर आयुक्त के पहल से विभाग से मार्गदर्शन मांगा गया। विभाग द्वारा नगर निगम के बोर्ड को निर्णय लेने के लिए सक्षम बताते हुए सुरक्षित जमा राशि कम करने का आदेश दिया गया। पूर्व में अंतिम निविदा में उक्त बस और टेंपू स्टैंड को 20 रुपए की जमानत राशि में लिया गया था। उसी को आधार बनाते हुए बोर्ड के सभी सदस्यों ने फैसला लिया कि 20 लाख की सुरक्षित राशि निर्धारित करते हुए निविदा की प्रक्रिया पूर्ण करें। महापौर ने कहा कि बोर्ड की बैठक में लगभग सभी सदस्य मौजूद थे। एजेंडों के साथ वार्ड की समस्याओं पर भी चर्चा हुई।

Advertisement

वहीं, नगर आयुक्त कुमार गौरव ने कहा कि शहरी क्षेत्र के विकास सहित पीने के पानी की समस्या, सफाई, जलजमाव से मुक्ति सहित कई मुद्दों पर चर्चा की गई। सदस्यों की सहमति से समस्याओं से निजात के लिए कई फैसले लिए गए। बैठक में शहर के तालाबों को अतिक्रमणमुक्त करवाने और सुंदर बनाने पर भी चर्चा की गई। महापौर अंजुम आरा ने सभी पर्षदों से उनके वार्ड स्थित दो तालाबों की लिस्ट मांगी। उन्होंने कहा कि तालाबों का सौंदर्यीकरण करवाने से तालाब साफ और सुंदर भी बन जायेगा। साथ ही उसे अतिक्रमणमुक्त भी करवा लिया जायेगा। उन्होंने जिला मत्स्य पदाधिकारी अनुपम कुमार से हराही तालाब को साफ करवाने को लेकर कई बिंदुओं पर चर्चा की। अधिकारी को जल्द साफ करवाने को कहा। मत्स्य पदाधिकारी ने कहा कि जल्द से जल्द उक्त तालाब में चूना और पोटाशियम परमैग्नेट डलवाकर पानी को साफ करवाएंगे। साथ ही पानी को शुद्ध करने के लिए 50 हजार से अधिक मछली का बच्चा भी तालाब में डालेंगे।

Share

Check Also

जीतन सहनी हत्याकांड में अभी और खुलेंगे राज, आरोपी को रिमांड पर लेने की तैयारी में पुलिस।

दरभंगा: वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी के पिता जीतन सहनी की हत्या मामले में अभी कई राज खुलने ब…